breaking_news Home slider बिजनेस बिजनेस न्यूज

न्यूट्रीकेन का नया बोतल में बंद जूसों का राजा, ओह माय गन्ना(OMG)

ओह माय गन्ना

नई दिल्ली, 1 दिसंबर :  देश में प्राकृतिक पेय तैयार करने के लिए प्रतिबद्ध कंपनी न्यूट्रीकेन बेवरेजेस प्राइवेट लिमिटेड ने अपने उत्पाद ओएमजी यानी ‘ओह माय गन्ना’ के साथ प्रवेश किया है। इस पेय की खास बात यह है कि इसमें रासायनिक प्रीजर्वेटिव नहीं मिलाया गया है। कंपनी की तरफ से जारी बयान के अनुसार, ओएमजी! बोतल में बंद गन्ने का जूस है, जिसे कंपनी के बेहतरीन विनिर्माण संयंत्र में तैयार किया जाता है, और इसमें कोई भी रासायनिक प्रीजर्वेटिव मिलाए बगैर शीशे की बोतल में पैक किया जाता है, जो गन्ने के ताजे जूस की ही तरह अच्छा स्वाद और पोषण मुहैया कराता है। 

बयान के अनुसार, इस उत्पाद के साथ पर्यावरण का भी ख्याल रखा गया है, और इसलिए ओएमजी! को 250 मिली की रिसाइक्लेबल ग्लास की बोतल में बंद किया गया है, जिसकी कीमत 40 रुपये है।

बयान में कहा गया है कि इस बोतलबंद जूस के साथ कंपनी का लक्ष्य अगले तीन वर्षो में दो-तीन फीसदी बाजार हिस्सेदारी हथियाने का है।

कंपनी के निदेशक एवं सहसंस्थापक, सचिन गोयल के अनुसार, “जूस श्रेणी के किसी भी स्थापित कंपनी या स्टार्टअप ने नॉन-रेफ्रिजरेटेड शेल्फ लाइफ के साथ गन्ने के जूस को पैक करने की कोशिश नहीं की। इस चुनौती को स्वीकार करते हुए हमने अवसर का लाभ उठाने का निर्णय लिया”

कंपनी के एक अन्य निदेशक, एवं सहसंस्थापक, दीपिन कपूर ने कहा, “हमें भारतीय बाजार में जूसों के राजा की पेशकश करते हुए गर्व महसूस हो रहा है। हमारी सेहतमंद जीवनशैली का हिस्से बनने योग्य एक क्रांतिकारी पेय का इंतजार अब खत्म हो गया है। इसकी वजह स्थानीय स्तर पर विकसित की गई प्रौद्योगिकी है जो मेक इन इंडिया से प्रेरित है। हम सबसे स्वच्छ और ताजगी भरे अंदाज में भारत का अपना वास्तविक स्वाद मुहैया कराने में सक्षम हैं।”

कंपनी के तीसरे निदेशक और सहसंस्थापक नीरज जैन ने कहा, “दुनिया भर में सेहतमंद उत्पादों की बढ़ती मांग और विकल्पों की कमी ने न्यूट्रीकेन के लिए तेजी से वृद्धि कर रहे जूस श्रेणी में हिस्सेदारी बढ़ाने की अपार संभावनाएं पेश की हैं। पोशक उत्पाद तैयार करने और नवोन्मेश करने की अपनी कोशिश में न्यूट्रीकेन गन्ने के साथ नए उत्पादों की श्रेणी तैयार कर बदलाव लाने और उसे पूरी दुनिया तक पहुंचाकर परिस्थिति बदल रही है। हमारी मंशा स्थानीय स्तर पर विकसित और पैकेटबंद गन्ने के जूस को अगले वर्ष तक प्रमुख वैश्विक बाजारों तक पहुंचाने की है।” 

— आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment

अन्य ताजा खबरें