breaking_news Home slider फिल्म रिव्यू मनोरंजन

छुट्टी में देखने के काबिल है हृतिक की काबिल

फिल्म काबिल का एक दृश्य (साभार-गूगल)

हृतिक रोशन की फिल्म काबिल जिसके बारे में पिछले काफी समय से लोग सुन रहे थे आखिकार वह शुक्रवार से पहले ही  पर्दे पर आ गई है। काबिल में उनकी परफॉर्मेंस की काफी तारीफ की जा सकती है। पिछली तीन फिल्मों में आंख होने के बाद भी उन्होंने जो परफार्मेंस दी थी । इस फिल्म में आंख न होने के बाद भी उनसे कहीं अच्छी परफॉर्मेंस दी है। काबिल से कहा जा सकता है कि हृतिक दोबारा सुपरस्टार की रेस में दौड़ सकते हैं। फिल्म के डायरेक्टर संजय गुप्ता ने जिस तरह ये सीन डायरेक्ट किए हैं। देखने से बिल्कुल भी अविश्वसनीय नहीं लगते। मतलब कि जब आप इन्हें पर्दे पर देखेंगे आपको कुछ भी नकली नहीं लगेगा।

कहानी

पहले फिल्म में हृतिक यानि रोहन और यामी की अच्छी भली लव स्टोरी दिखाई जाती है, फिल्म में हृतिक यानि रोहन एक डबिंग आर्टिस्ट हैं। वहीं फिल्म की लीड एक्ट्रेस यामी गौतम पिआनो आर्टिस्ट हैं। दोनों की मुलाकात रोहन की एक करीबी मुखर्जी आंटी के जरिए होती है। अपनी कमियों के बावजूद रोहन और सुप्रिया जिंदगी के प्रति एक सकारात्मक रवैया रखते हैं।

लेकिन कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब हृतिक और यामी की शादी होती है और दिन सुप्रिया बनीं यामी का रेप हो जाता है और वो आत्महत्या कर लेती है। रेप का इल्जाम अमित (रोहित रॉय) और उसके दोस्त वसीम पर है। अमित इलाके के एक कॉर्पोरेटर माधव राव (रोनित रॉय) का छोटा भाई है। यही वजह है कि पुलिस भी चुप रहती है। कोई मदद के लिए आगे नहीं आता। आत्महत्या के बाद रोहन बदले की प्लानिंग करता है, जिससे अमित और उसका भाई परेशान हो जाते हैं।

कुल मिलाकर निर्देशक संजय गुप्ता ने एक हल्की-फुल्की फिल्म बनाई है। टेक्निकल तौर पर अगर बात की जाए तो फिल्म काफी अच्छी है। इसका क्रेडिट कैमर के लिए सुदीप चटर्जी और साउंड के लिए रेसुल पूकुट्टी को जाता है। वहीं राजेश रोशन ने जिस अंदाज में सारा जमाना हसीनों का दिवाना का रीमेक किया है वह भी काफी पसंद किया जा रहा है।

इन गलतियों पर देना था ध्यान

फिल्म का एक सीन है जहां पर हृतिक एक कैंडल  लिए नजर आ रहे हैं लेकिन जब फिल्म में बताया गया है कि वह अंधे हैं और देख नहीं सकते तो उन्हें कैंडल की क्या जरूरत। यही नहीं एक सीन में उनके हाथ में घड़ी भी नजर आ रही है। फिर से वही सवाल बनता है कि अंधे इंसान को घड़ी से टाइम दिखता है क्या। ऐसी कई छोटी-छोटी गलतियां हुई हैं जिन पर गौर किया जा सकता था।

फिल्म: काबिल

कास्ट: रितिक रोशन, यामी गौतम, रॉनित रॉय, रोहित रॉय, नरेन्द्र झा

निर्देशक: संजय गुप्ता

निर्माता: राकेश रोशन

म्यूजिक: राजेश रोशन

सेंसर: यू/ए

रेटिंग: 3.5

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment