breaking_news Home slider देश देश की अन्य ताजा खबरें

ये क्या कह दिया मोदी के लिए इसने और फिर मांगी माफ़ी

खादी अब की पहचान अब महात्मा गांधी नहीं रहे उनकी जगह मोदी ने ले ली (गूगल)

चंडीगढ़/अंबाला, 14 जनवरी : हरियाणा में मनोहरलाल खट्टर की सरकार में मंत्री अनिल विज के बयान से एक ताजा विवाद पैदा हो गया है। उन्होंने शनिवार को कहा कि भारतीय नोटों पर से भी धीरे-धीरे महात्मा गांधी की तस्वीर हटा दी जाएगी और गांधी की तुलना में मोदी अधिक लोकप्रिय हैं। अपनी पार्टी व उसके नेतृत्व सहित किसी भी मुद्दे पर विवादास्पद बयानों के लिए जाने जानेवाले विज ने अंबाला में संवाददाताओं से कहा कि खादी ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के 2017 के कैलेंडर व डायरी से गांधी की तस्वीर को मोदी से बदलने के बाद नोटों पर से भी गांधी की तस्वीर हटाई जाएगी।

कांग्रेस ने जहां इस मुद्दे पर भाजपा नेता के मानसिकता की आलोचना की वहीं, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने यह कहकर उनकी टिप्पणी से किनारा कर लिया कि यह उनकी व्यक्तिगत राय हो सकती है।

हरियाणा के स्वास्थ्य व खेल मंत्री ने शनिवार को बाद में ट्वीट किया, “महात्मा गांधी पर टिप्पणी व्यक्तिगत थी। किसी की भावना को ठेस न पहुंचे, इसके लिए मैं अपनी टिप्पणी वापस ले रहा हूं।”

उन्होंने हालांकि अपनी विवादास्पद टिप्पणी के लिए कोई माफी नहीं मांगी।

अंबाला में संवाददाताओं से विज ने कहा कि जिस दिन से खादी (आंदोलन) को महात्मा गांधी से जोड़ा गया, खादी नाकाम हो गया। खादी के साथ गांधी के नाम का पेटेंट नहीं हुआ है।

मंत्री यहीं नहीं रुके।

उन्होंने कहा, “जिस दिन से रुपये पर गांधी की तस्वीर छपनी शुरू हुई, उसकी कीमत घटनी शुरू हो गई। अच्छा किया है गांधी का नाम हटाके मोदी का लगाया है। मोदी ज्यादा बेहतर ब्रांड नेम है और मोदी की फोटो लगने से 14 फीसदी बिक्री बढ़ी है खादी की।”

यह पूछे जाने पर कि मोदी सरकार के कार्यकाल में नए नोटों पर महात्मा गांधी की तस्वीर क्यों छापी गई, विज ने कहा, “हट जाएगा धीरे-धीरे।”

सारा विवाद खादी ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के नए साल के कैलेंडर व डायरी पर महात्मा गांधी की जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर छपने के बाद शुरू हुआ है।

–आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment