breaking_news Home slider अपराध देश

‘किंग(माल्या)फिशर’ में क्या है फिशि(गलत) जानने पहुची सीबीआई

बेंगलुरू, 23 जनवरी: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने सोमवार को विजय माल्या की कंपनी यूनाइटेड ब्रेबरीज समूह (यूबी) के कार्यालयों की तलाशी ली। सीबीआई के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “सीबीआई के 12 सदस्यीय दल ने दिल्ली की एक अदालत के सर्च वारंट के साथ यूबी सिटी के कार्यालयों की तलाशी ली।”

हालांकि अधिकारी ने सर्च वारंट का कारण बताने से इनकार कर दिया। लेकिन जानकार सूत्रों ने संकेत दिया है कि माल्या और उसके समूह की कंपनियों की एफइआरए उल्लंघन के मामले में तलाशी ली गई है।

वहीं, समूह कंपनी ने कहा कि उसके अधिकारियों ने सीबीआई की टीम के साथ सहयोग किया।

दिल्ली की एक अदालत ने 4 नवंबर को एफइआरए उल्लंघन के मामले में कथित तौर पर सम्मन से भागने पर माल्या के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया है।

सीबीआई ने यह तलाशी ऋण वसूली प्राधिकरण की बेंगलुरू पीठ द्वारा माल्या के प्रॉपर्टी को अटैच करने तथा बेचने के आदेश के तीन दिन बाद की है। माल्या की बंद पड़ी कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस लि. द्वारा बैंकों से लिए गए कर्जो को न चुकाने पर प्राधिकरण ने फैसला सुनाया है।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की अगुवाई में 17 बैंकों के समूह ने प्राधिकरण की बेंगलुरू पीठ से अपील की थी कि माल्या और किंगफिशर से 6,203 करोड़ रुपये के रकम की वसूली की जाए। 26 जुलाई 2013 से कर्ज नहीं चुकाने पर मूल रकम पर 11.5 फीसदी का सालाना ब्याज भी लगाया गया है।

–आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment