breaking_news Home slider अन्य ताजा खबरें देश राजनीति

12 लाख करोड़ रुपये की घोटाले वाली सरकार(UPA) सिर्फ वंशवाद की राजनीति जानती है : अमित शाह

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (image credit:HT)

नई दिल्ली, 25 सितंबर :  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा पूरी तरह से राजनीति में वंशवाद व तुष्टिकरण का विरोध करती है और सिर्फ प्रदर्शन की राजनीति में विश्वास रखती है। भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अपने अध्यक्षीय संबोधन में अमित शाह ने कहा कि सरकार देश के लोगों की मुश्किलों को खत्म करने की तरफ काम कर रही है और आतंकवाद व भ्रष्टाचार से लड़ रही है।

बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कैबिनेट मंत्रियों, सांसदों, विधायकों व भाजपा की राज्य इकाइयों के प्रमुख व भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य मौजूद थे।

शाह ने बंद कमरे में भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों को संबोधित किया। बैठक की मुख्य बातों की जानकारी रेलमंत्री पीयूष गोयल ने मीडिया को दी। गोयल ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष शााह ने राहुल गांधी पर भारत में वंशवाद की राजनीति होने की बात कहकर राष्ट्र की गरिमा को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया।

पीयूष गोयल ने शाह के हवाले से कहा, “भाजपा वंशवाद की राजनीति व तुष्टिकरण को खारिज करती है। राहुल गांधी के बयान की निंदा करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी प्रदर्शन की राजनीति में विश्वास करती है, तुष्टिकरण व वंशवाद में नहीं।”

शाह ने कहा, “कांग्रेस व राहुल गांधी दोनों प्रदर्शन की राजनीति को स्वीकार नहीं करते, लेकिन भाजपा इस तरह की राजनीति पर देश के लिए काम जारी रखेगी।”

शाह ने कहा कि भाजपा का सुशासन व प्रदर्शन पर हमेशा से जोर रहा है, जिससे भाजपा के नेताओं को वहां पहुंचने में मदद मिली, जहां वे आज हैं।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, सभी भाजपा नेता अपनी विनम्र पृष्ठभूमि और कठिन परिश्रम की बदौलत अपने पदों पर पहुंचे।

शाह ने राहुल गांधी पर संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के शासन के दौरान हुए घोटालों को लेकर सवाल उठाया। शाह ने संप्रग शासन में 12 लाख करोड़ रुपये का घोटाला बताया।

शाह ने कहा, “उन्होंने (राहुल ने) अपनी भ्रष्ट सरकार के खिलाफ क्या किया? कांग्रेस ने देश को गरीब बनाए रखा और विकास से वंचित किया। राहुल गांधी ने तुष्टिकरण की नीति को क्यों बढ़ने दिया।”

गोयल ने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा कि राहुल गांधी का नेतृत्व भाजपा के हित में है।

उन्होंने कहा, “हम राजनीतिक प्रतिस्पर्धा का स्वागत करते हैं। राहुल गांधी का सक्रिय राजनीति में होना भाजपा के पक्ष में है। हमारी इच्छा है कि वह कांग्रेस पार्टी का नेतृत्व जारी रखें।”

अर्थव्यवस्था की सुस्त रफ्तार की चिंताओं के बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने सरकार के अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के प्रयासों की सराहना की और नोटबंदी व वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) जैसे कार्यो की तारीफ की।

शाह ने कहा कि अर्थव्यवस्था में मौलिक बदलाव भारत को दुनिया में अग्रणी बना देगा।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि अमित शाह ने बैठक में कहा, “2014 में अर्थव्यवस्था की स्थिति क्या थी? यह कई जानेमाने अर्थशास्त्रियों द्वारा स्वीकार किया गया था। राजकोषीय घाटा करीब 4.9 फीसदी था, चालू खाता घाटा करीब 5 फीसदी था, मुद्रास्फीति दर दोहरे अंक के करीब थी और वृद्धि दर करीब 4 से 4.5 फीसदी नीचे थी।” 

शाह ने कहा, “रुपये का मूल्य भी गिर रहा था। नीतिगत पक्षाघात की स्थिति थी।”

शाह ने मौजूदा अर्थव्यवस्था के हर पहलू की प्रशंसा की और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की।

शाह ने कहा, “मौजूदा समय में जिस तरह से हमारी सरकार ने सफलतापूर्वक अर्थव्यवस्था पर काम किया है, उसे इस तथ्य से समझा जा सकता है कि राजकोषीय घाटा 3.5 फीसदी पर आ गया है और चालू खाता घाटा 0.6 फीसदी है, मुद्रास्फीति दो अंकों से 3 फीसदी पर आ गई है।”

अमित शाह ने नोटबंदी व जीएसटी पर भी बात रखी। उन्होंने कहा कि देश में अब एक ऐसा मौहाल है कि सरकार कालेधन से सख्ती से निपट रही है और इसे बढ़ने नहीं दे रही है।

आतंकवाद का जिक्र करते हुए शाह ने कहा कि सरकार ने आतंकवाद व नक्सलवाद पर अतुलनीय सफलताएं हासिल की हैं।

गोयल ने कहा, “बीते तीन सालों में ऐसा कोई माह नहीं रहा, जिसमें आतंकवादी मारे नहीं गए। अब आतंकवादी भागते फिर रहे हैं और सुरक्षा बलों का प्रभाव बढ़ा है।”

भाजपा अध्यक्ष ने हाल में चीन के साथ सिक्किम के निनकट डोकलाम में भारत के साथ गतिरोध पर भी चर्चा की। शाह कहा कि इस गतिरोध में भारत ने पूरी दुनिया के समक्ष अपनी निर्णायकता व दृढ़ता प्रदर्शित की।

शाह ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाषण की तारीफ की, जिसमें उन्होंने पाकिस्तान पर आतंकवाद को लेकर हमला किया था।

–आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment

अन्य ताजा खबरें