आम बजट में चुनाव वाले पांच राज्यों पर कोई घोषणा न की जाएं: चुनाव आयोग

नई दिल्ली, 24 जनवरी: चुनावी बिसात बिछ चुकी है जल्दी ही चाले चली जाएंगी यानि वोट डाले जाएंगे। इस दौरान चुनाव आयोग ने एक अहम निर्देश जारी करते हुए केन्द्र सरकार को निर्देश दिया है कि आगामी 1 फरवरी को पेश किए जाने वाले आम बजट में चुनाव वाले पांच राज्यों के बारे में कोई एलान न किया जाएं क्योंकि इन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले है। चुनाव आयोग ने केन्द्र सरकार को 1 फरवरी को आम बजट पेश करने की सहमति दे दी है। बकौल चुनाव आयोग सरकार के बजट में इन पांच चुनावों के बारे में कोई उपलब्धि या घोषणा नहीं होनी चाहिए। इस बात का खास ख्याल वित्तमंत्री को अपने भाषण में रखना होगा। इस बाबत चुनाव आयोग ने 2009 की एक एडवाइजरी का संदर्भ देते हुए कहा कि अभी तक चलती आ रही परंपरा के मुताबिक चुनावों से पहले पूर्ण बजट की जगह लेखानुदान प्रस्तुत किया जाता है।

कैबिनेट सचिव पीके सिन्हा को निर्वाचन आयोग ने कहा कि “ चुनाव आयोग निर्देश देता है कि पांच राज्यों में होने वाले चुनावों को देखते हुए केन्द्रीय बजट में इन पांच राज्यों से संबंधित कोई उपलब्धि या राज्य-केन्द्रित योजना की घोषणा नहीं की जाएगी ताकि मतदाता प्रभावित न हो सके“

गौरतलब है कि जनवरी की शुरूआत में 16 राजनीतिक पार्टियों ने निर्वाचन आयोग से प्रार्थना की थी कि वह सरकार के केन्द्रीय बजट को चुनावों के उपरांत पेश करने का निर्देश दें लेकिन सुप्रीम कोर्ट सोमवार को ही केन्द्रीय बजट को टालने वाली याचिका खारिज कर दी और तय समय सीमा यानि 1 फरवरी को ही आम बजट पेश करने की अनुमति दे दी। जिसके बाद निर्वाचन आयोग ने यह निर्देश जारी किए है।

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close