भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सुंदर लाल पटवा का बुधवार सुबह निधन,पीएम ने दी श्रद्धांजलि

भोपाल, 28 दिसंबर: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री सुंदर लाल पटवा का बुधवार सुबह निधन हो गया। उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित देश-प्रदेश के सत्तापक्ष अैार विपक्ष के नेताओं ने शोक व्यक्त किया है। पटवा का अंतिम संस्कार गुरुवार को मंदसौर जिले के कुकड़ेश्वर में होगा। पटवा को बुधवार सुबह हृदयाघात हुआ था, जिसके बाद उन्हें एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां उनका निधन हो गया। वह 92 वर्ष के थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भोपाल स्थित भाजपा के प्रदेश कार्यालय में पार्टी के वरिष्ठ नेता व प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री सुंदर लाल पटवा को श्रद्धांजलि अर्पित की।

भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पराशर ने आईएएनएस को बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा कार्यालय पहुंचकर पटवा के पाथिर्व शरीर पर श्रद्घासुमन अर्पित किए। पटवा के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए पार्टी कार्यालय में रखा गया है।

प्रधानमंत्री मोदी वायुसेना के विशेष विमान से भोपाल पहुंचे और सीधे भाजपा दफ्तर पहुंचकर पटवा को श्रद्घांजलि दी।

पटवा के निधन पर राज्य सरकार ने तीन दिनों के राजकीय शोक की घोषणा की है। इसके चलते तीन दिनों तक सरकारी इमारतों पर राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके रहेंगे और सरकारी स्तर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होंगे। साथ ही अन्य सरकारी कार्यक्रमों में स्वागत-सत्कार भी नहीं होगा।

पटवा के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पटवा ने राज्य की राजनीति को नई दिशा दी। शिवराज ने अपने शोक संदेश में कहा, “पटवा ने मध्य प्रदेश की राजनीति को नई दिशा दी थी। वह अजातशत्रु थे और राजनीतिज्ञ के रूप में प्रदेश की जनता के दिलों पर राज करते थे।”

मुख्यमंत्री ने कहा, “पटवा का सभी दल सम्मान करते थे। उनके बिना मध्य प्रदेश की राजनीति की कल्पना नहीं की जा सकती थी। देश के सार्वजनिक जीवन में उनका विशिष्ट स्थान था। वह अद्भुत राजनेता थे। उनके जाने से देश और प्रदेश के सार्वजनिक जीवन में आई रिक्तता की भरपाई नहीं हो सकती।”

राज्यपाल ओम प्रकाश कोहली ने पूर्व मुख्यमंत्री पटवा के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनके निधन से प्रदेश को अपूरणीय क्षति हुई है। वे प्रदेश और देश के महान और लोकप्रिय राजनेता, कुशल प्रशासक, गरीबों और किसानों के हितैषी थे।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री, राजनीतिक चिंतक व वरिष्ठ नेता पटवा के निधन पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि पटवा के निधन से राज्य को अपूरणीय क्षति हुई है।

राज्य के वाणिज्य-उद्योग, रोजगार, खनिज संसाधन तथा प्रवासी भारतीय मंत्री राजेंद्र शुक्ल ने पूर्व मुख्यमंत्री पटवा के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया और उनके निधन को अपूरणीय क्षति बताया।

राज्य के जनसंपर्क, जल संसाधन तथा संसदीय कार्य मंत्री डॉ़ नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व मुख्यमंत्री पटवा के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, “पटवा के निधन से एक युग का अंत हो गया है। पटवा ने राजनीति को सेवा का माध्यम बनाया। उन्होंने जन-कल्याण, सुशासन और समाज के दीनहीन वर्ग की भलाई के लिए लगातार कार्य किया।”

राज्य सरकार के कृषि मंत्री गौरी शंकर बिसेन, नगर प्रशासन मंत्री माया सिंह, जेल मंत्री कुसुम महदेले, सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग ने पटवा के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया।

पटवा का जन्म 11 नवंबर 1924 को हुआ था। वह दो बार राज्य के मुख्यमंत्री रहे। इसके अलावा, वह अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री भी रहे।

–आईएएनएस

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close