अखिलेश व रामगोपाल का निष्कासन वापस : फॅमिली ड्रामा ख़त्म

लखनऊ, 31 दिसम्बर: :   यूपी में सियासी घमशान ख़त्म, फिर एक बार लौट के बुद्धू घर को आये वाली कहावत सही हो गयी l उत्तर प्रदेश के  नाटकीय  राजनीतीक  घटनाक्रम में कल अखिलेश को 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया था l

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और रामगोपाल यादव की समाजवादी पार्टी (सपा) में 24 घंटे के भीतर वापसी हो गई है। सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने स्वयं इसकी घोषणा की। दोनों को सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने शुक्रवार को निकाले जाने की घोषणा की थी, जिसके बाद नेताजी और अखिलेश के समर्थक आमने-सामने आ गए थे।

दोनों नेताओं की शनिवार को इस संबंध में अहम बैठकें हुईं। अखिलेश मुख्यमंत्री आवास पर अपने समर्थक विधायकों व मंत्रियों से मिलने के बाद उप्र सरकार में मंत्री व सपा के वरिष्ठ नेता आजम खां के साथ सपा अध्यक्ष व अपने पिता मुलायम से मिलने उनके आवास पहुंचे। आजम पिता-पुत्र दोनों के करीबी बताए जाते हैं।

बताया जाता है कि अखिलेश ने बैठक में कहा कि उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव जीतकर वह नेताजी को तोहफा देंगे। उन्होंने यह भी कहा कि ‘पार्टी से अलग हुआ हूं, पिता से नहीं।’

मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक में अहमद हसन, शाहिद मंजूर, ब्रह्म शंकर त्रिपाठी, अरुणा कोरी, पंडित सिंह, शिवकांत, अवधेश प्रसाद, कमाल अख्तर, जियाऊद्दीन रिजवी, फरीद महफूज, इकबाल महमूद जैसे मुलायम के करीबी मंत्री भी मौजूद थे। सांसद धर्मेद्र यादव भी मुख्यमंत्री आवास पहुंचे।

सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक में 160 से ज्यादा विधायक व 25 मंत्री पहुंचे। रामगोपाल यादव भी इसमें पहुंचे।

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close