breaking_news Home slider अन्य ताजा खबरें

एनआईए ने लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी बहादुर अली के खिलाफ चार्ज शीट दाखिल की

लश्कर-ए-तैयबा के संदिग्ध सदस्य बहादुर अली (साभार-गूगल)

नई दिल्ली, 7 जनवरी :  राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शुक्रवार को पाकिस्तानी नागरिक तथा आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के संदिग्ध सदस्य बहादुर अली उर्फ सैफुल्लाह के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया। उस पर जम्मू एवं कश्मीर में सुरक्षा बलों पर हमले का प्रयास करने का आरोप है। संदिग्ध के खिलाफ यहां पटियाला हाउस अदालत में जिला न्यायाधीश अमर नाथ की आदालत में गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम, विस्फोटक अधिनियम, शस्त्र अधिनियम तथा विदेशी अधिनियम सहित कई अन्य धाराओं के तहत आरोप पत्र दाखिल किया गया।

मामले की अगली सुनवाई के लिए 18 जनवरी की तारीख मुकर्रर की गई।

बहादुर अली को 25 जुलाई, 2016 को जम्मू एवं कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के याहाम गांव के एक ठिकाने से गिरफ्तार किया गया था। वह फिलहाल न्यायिक हिरासत में है।

एनआईए के महानिरीक्षक आलोक मित्तल ने कहा कि अली के पास से बरामद वस्तुओं तथा पूछताछ से पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद फैलाने के स्पष्ट प्रयास का खुलासा होता है।

उन्होंने कहा, “अली से जितने भी सबूत बरामद किए गए, सब पाकिस्तान के हैं। आतंकवादियों को पाकिस्तान में प्रशिक्षित किया जता है और उनके आका लगातार उनसे संपर्क में रहते हैं।”

एनआईए ने बताया कि उसकी गिरफ्तारी के बाद उसकी निशानदेही पर पुलिस ने नजदीक में स्थित एक जंगल से हथियारों व विस्फोटकों का जखीरा बरामद किया था।

एजेंसी के आरोप पत्र में कहा गया है कि अली एक प्रशिक्षित आतंकवादी है, ग्रिड रेफरेंस के माध्यम से नक्शों को पढ़ने में माहिर है और संदेश को बीच में पकड़े जाने से बचाने के लिए मोबाइल फोन को वायरलेस सेट के साथ जोड़ने का जानकार है।

अपने साथी अबु साद तथा अबु दरदा के साथ अली नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ कर भारतीय क्षेत्र में दाखिल हो गया था। 20 जून को जब साद व दरदा भोजन की तलाश में गए, उसके बाद से अली की उन दोनों से मुलाकात नहीं हुई। दोनों को पकड़ा भी नहीं जा सका।

आरोप पत्र के मुताबिक, “हथियार, दिशासूचक उपकरण तथा अन्य सामान लेकर उन्होंने बीते साल 12 जून की रात में भारत में घुसपैठ किया। ”

एनआईए के आरोप पत्र के मुताबिक, “ये आतंकवादी पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर या पाकिस्तान में बैठे लश्कर के आकाओं के निर्देश पर जम्मू एवं कश्मीर तथा दिल्ली सहित देश के विभिन्न हिस्सों में हमला करने के लिए भारतीय सरजमीं में दाखिल हुए थे।”

अली के पास से कथित तौर पर बरामद एक पॉकेट डायरी में उन जगहों के नामों का खुलासा हुआ है, जहां वे हमला करने वाले थे। इसमें दिल्ली, रफियाबाद, कुंजूर, तंगमार्ग, बडगाम, पुंछ, जम्मू तथा उधमपुर जैसे शहरों के नाम शामिल हैं।

गिरफ्तारी के वक्त अली के पास से एक कंपास, एक आईसीओएम वायरलेस सेट, कोड छपा मैट्रिक्स शीट, दो यूनीकोड शीट, 23,000 रुपये की भारतीय मुद्रा, एक जीपीएस तथा एक मैप शीट बरामद किया गया था।

अली को निर्देश देने वालों ने उससे कहा था कि लश्कर के लोग आठ जुलाई, 2016 को बुरहान वानी के मारे जाने के तुरंत बाद व्यापक स्तर पर अशांति फैलाने में सफल हुए हैं। लश्कर ने अली को पथराव करने वालों की भीड़ में शामिल होकर सुरक्षा बलों पर ग्रेनेड फेंकने के लिए कहा गया था।

–आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment