breaking_news Home slider क्रिकेट खेल

‘विराट और जाधव का जलवा’ — ‘जीत बन गयी हलवा’

पुणे, 16 जनवरी: नवनियुक्त कप्तान विराट कोहली (122) और केदार जाधव (120) के बीच पांचवें विकेट के लिए हुई 200 रनों की साझेदारी के दम पर भारत ने महाराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में रविवार को खेले गए एकदिवसीय मैच में इंग्लैंड द्वारा दिए गए 351 रनों के विशाल लक्ष्य को हासिल कर इस मैच को तीन विकेट से जीत साल की विजयी शुरुआत की। इंग्लैंड ने बल्लेबाजी का आमंत्रण मिलने पर निर्धारित 50 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 350 रन बनाए थे। भारत ने यह लक्ष्य 48.1 ओवरों में सात विकेट खोकर हासिल कर लिया।

भारत ने दूसरी बार 351 रनों के लक्ष्य को तय किया है। इससे पहले वह 2013 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ नागपुर में यह लक्ष्य हासिल कर चुका है। यह तीसरी बार है जब भारत ने 350 से ज्यादा के लक्ष्य का पीछा करते हुए मैच जीता हो।

विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम संकट में स्थिति थी। उसने 63 रनों पर ही अपने चार बल्लेबाज खो दिए थे। शिखर धवन (1) और लोकेश राहुल (8) की सलामी जोड़ी के अलावा मध्यक्रम के अनुभवी बल्लेबाज युवराज सिंह (15) और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर माने जाने वाले महेंद्र सिंह धौनी (6) रन बनाकर पवेलियन लौट गए थे। ऐसे में रनों का पीछा करने में कई रिकार्ड अपने नाम कर चुके कोहली एक छोर पर खड़े थे।

कोहली ने बताया कि क्यों उन्हें धौनी के बाद टीम की जिम्मेदारी सौंपी गई। कप्तान की जिम्मेदारी को निभाते हुए अपने कंधों पर टीम को बोझ लेकर कोहली ने अपने बल्ले से रन उगलना शुरू किए। इसमें उनका बखूबी साथ दिया युवा बल्लेबाज और टीम में अपनी जगह पक्की करने की कोशिश में लगे जाधव ने।

दोनों बल्लेबाजों ने आक्रामकता में कोई कमी नहीं रखी और रन गति के हिसाब से खेलने लगे। कोहली ने शानदार अंदाज में क्रिस वोक्स द्वारा फेंके गए 32वें ओवर की आखिरी गेंद पर छक्का मारकर अपना शतक पूरा किया। इसके लिए उन्होंने 93 गेंदें खेलीं।

रनों का पीछा करते हुए कोहली इस मैच में दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की बराबरी पर पहुंच गए। सचिन ने रनों का पीछा करते हुए 17 शतक जड़े हैं, कोहली ने इस मैच में सचिन के इस रिकार्ड को छू लिया। इसी बीच जाधव ने अपने खाते में तेजी से 50 रन जोड़े। इसके लिए उन्होंने 29 गेंदों का सामना किया जो इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय बल्लेबाज द्वारा लगाया गया दूसरा सबसे तेज अर्धशतक था।

कोहली रन बनाते जा रहे थे, लेकिन बेन स्टोक्स ने अंतत: उनकी पारी को 37वें ओवर की दूसरी गेंद पर समाप्त किया। स्टोक्स की गेंद को मारने के चक्कर में कोहली डेविड विले को कैच थमा बैठे।

आउट होने से पहले इस नए कप्तान ने अपना काम कर दिया था। भारत को यहां से तकरीबन 13 ओवरों में 88 रनों की दरकार थी। कोहली और जाधव की जोड़ी ने 24.3 ओवरों में 8.16 की औसत से रन जोड़े। यह पांचवें विकेट के लिए एकदिवसीय क्रिकेट में पांचवीं सबसे बड़ी साझेदारी है।

कोहली के जाने के बाद भी जाधव ने अपने आक्रामक अंदाज में बदलाव नहीं किया। उन्होंने कोहली के आउट होने से पहले ही 36वें ओवर की पांचवीं गेंद पर चौका मारकर अपना दूसरा शतक पूरा किया था। उन्होंने अपना शतक पूरा करने के लिए 65 गेंदें खेलीं। जाधव को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

लेकिन कप्तान के जाने के कुछ ही देर बाद जाधव भी पवेलियन लौट गए। वह भी बड़ा शॉट मारने के चक्कर में सीमारेखा के पास लपक लिए गए। जाधव जब आउट हुए, तब टीम का स्कोर 291 रन था और मेजबान टीम को जीतने के लिए 60 गेंदों में 60 रनों की ही दरकार थी। जाधव ने 76 गेंदों में 12 चौके और चार छक्के लगाए।

यहां से भारत को रवींद्र जडेजा (13) के रूप में एक और झटका लगा, लेकिन 37 गेंदों में नाबाद 40 रनों की पारी खेलने वाले हार्दिक पांड्या ने रविचंद्रन अश्विन (नाबाद 15) के साथ मिलकर भारत को जीत दिलाई। अश्विन ने छक्का लगाकर भारत को जीत की दहलीज पर पहुंचाया।

इससे पहले इंग्लैंड ने अपनी तूफानी बल्लेबाजी के दम पर भारत के सामने विशाल स्कोर खड़ा किया था। मेहमान टीम की तरफ से सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय ने 61 गेंदों में 12 चौकों की मदद से 73 रनों की पारी खेली। उनके अलावा जोए रूट ने 78 रनों का योगदान दिया। उन्होंने अपनी पारी में 95 गेंदें खेलते हुए चार चौके और एक छक्का लगाया।

अंत में बेन स्टोक्स ने 40 गेंदों में 62 रनों का पारी खेल इंग्लैंड को विशाल स्कोर तक पहुंचाया। उन्होंने अपनी पारी में सिर्फ दो चौके लगाए, जबकि उनके बल्ले से पांच छक्के निकले। स्टोक्स ने 31 गेंदों में अर्धशतक पूरा किया। यह भारत के खिलाफ इंग्लैंड के बल्लेबाज द्वारा लगाया गया सबसे तेज अर्धशतक है।

मोइन अली ने भी 17 गेंदों में 28 रनों की पारी खेल टीम को विशाल लक्ष्य तक पहुंचाया।

भारत की तरफ से हार्दिक पांड्या और जसप्रीत बुमराह ने दो-दो विकेट लिए। रवींद्र जडेजा और उमेश यादव को एक-एक विकेट मिला। एक बल्लेबाज रन आउट हुआ।

–आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment