breaking_newsअन्य ताजा खबरेंअपराधदेशराज्यों की खबरें
Trending

Delhi: जामिया में दोबारा फायरिंग,FIR दर्ज, कोई गिरफ्तारी नहीं,EC ने DCP चिन्मय बिस्वाल को हटाया

अभी 1 फरवरी को ही शाहीन बाग प्रदर्शन स्थल पर भी एक शख्स ने दो राउंड फायरिंग की थी

नई दिल्ली:Delhi:firing again outside Jamia Milia Islamia University- CAA के खिलाफ प्रदर्शनकारियों पर दिल्ली में तीसरी बार गोली चली है। रविवार,2 फरवरी देर रात तकरीबन 11:50 के करीब जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia Milia Islamia University) के बाहर कुछ अज्ञात लोगों ने फायरिंग कर दी।

हालांकि अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। पुलिस ने प्रत्यक्षदर्शियों की शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर ली है।

लगातार फायरिंग की वारदातें दिल्ली में होने के कारण चुनाव आयोग ने रविवार रात ही डीसीपी साउथ-ईस्ट चिन्मय बिस्वाल को हटा दिया (DCP south east transfer by EC) है। उनका ट्रांसफर कर दिया गया है। उनकी जगह पदभार एडिशनल डीसीपी साउथ-ईस्ट ने लिया है।

जामिया में फायरिंग (Delhi:firing again outside Jamia Milia Islamia University) की यह दूसरी घटना है।

इससे पहले 30 जनवरी को भी एक नाबालिग ने सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे जामिया के छात्रों पर गोली चलाई थी। उसमें एक छात्र शादाब बुरी तरह घायल हो गया था।

जामिया यूनिवर्सिटी (Jamia University) से कुछ दूरी पर शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है।

अभी 1 फरवरी को ही शाहीन बाग प्रदर्शन स्थल पर भी एक शख्स ने दो राउंड फायरिंग की थी

Delhi:firing again outside Jamia Milia Islamia University

कैसे हुई फायरिंग की वारदात?

रविवार को जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के बाहर एक स्कूटी पर कुछ अज्ञात लोग आएं और उन्होंने यूनिवर्सिटी के गेट नंबर-5 के पास फायरिंग कर दी।

दिल्ली में पिछले तीन दिन में सीएए के खिलाफ फायरिंग किए जाने की यह तीसरी बड़ी घटना है।

दिल्ली में विधानसभा चुनाव (Delhi assembly election) 8 फरवरी को होने वाले है।

उससे पहले सीएए (protest against CAA) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर फायरिंग किए जाने की यह तीसरी बड़ी घटना है।

फायरिंग (firing) की घटना के बाद जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के छात्रों ने जामिया के पुलिस स्टेशन का देर रात ही घेराव कर (Delhi:firing again outside Jamia Milia Islamia University) दिया।

लेकिन फिर पुलिस की ओर से शिकायत दर्ज करने और एसएचओ की ओर से समझाने के बाद जामिया के छात्र वापस लौट गए।

बकौल एसीपी पुलिस की एक टीम वारदात वाली जगह से सीसीटीवी फुटेज लेने जाएगी और आगे की कार्रवाई होगी।

जामिया में फायरिंग (Jamia firing) की घटना को लेकर दर्ज हुई एफआईआर (FIR) में चश्मदीदों के बयान भी सम्मिलित किए गए है। इसके अनुसार, रविवार रात तकरीबन 11:50 बजे जामिया के गेट नंबर-7 की ओर से स्कूटी पर लोग आए।

 फिर पीछे बैठे व्यक्ति ने गेट नंबर-5 के पास स्कूटी पर ही खड़े होकर ही फायरिंग कर दी। इस वारदात के बाद हमलावर होली फैमिली हॉस्पिटल की तरफ भाग निकले।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, हमलावर लाल रंग की स्कूटी पर सवार थे। एक युवक ने लाल रंग की जैकेट पहनी थी। यहां यह जानना भी जरूरी है कि दिल्ली में सीएए के खिलाफ (anti CAA protest) प्रदर्शनकारियों पर गोलीकांड की वारदातें तब से ज्यादा बढ़ी है जबसे केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने अपनी चुनावी जनसभा में भड़काऊ भाषण देकर बोला था…देश के गद्दारों को…गोली मारो...

चुनाव आयोग (Election commission) ने अनुराग ठाकुर के इस भाषण के लिए उनकी रैलियों पर 72 घंटे की रोक लगा दी थी।

इतना ही नहीं, दिल्ली की कानून-व्यवस्था के लिए जिम्मेदार देश के गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने भी अपने चुनावी भाषण में जोर देकर कहा था

Delhi:firing again outside Jamia Milia Islamia University

हटाए गए दिल्ली साउथ-ईस्ट के डीसीपी

दिल्ली में मतदान से पहले लगातार बढ़ते गोलीकांड के बाद चुनाव आयोग ने दिल्ली साउथ-ईस्ट के डीसीपी चिन्मय बिस्वाल को हटा दिया है।

दिल्ली में इससे पूर्व 28 जनवरी को एक शख्स बंदूक हाथ में लेकर शाहीनबाग प्रदर्शन स्थल में घुस गया था। फिर 30 जनवरी को जामिया नगर में फायरिंग हुई।

इसके बाद 1 फरवरी को शाहीनबाग में फायरिंग हुई और अब 2 फरवरी को फिर से जामिया नगर में देर रात फायरिंग हुई। लगातार फायरिंग की घटनाओं से दिल्ली पुलिस (Delhi Police) सवालों के घेरे में है।

अब दिल्ली साउथ-ईस्ट डीसीपी चिन्मय बिस्वाल की जगह सीनियर अफसर कुमार ज्ञानेश को इस जगह का अंतरिम डीसीपी नियुक्त किया गया है।

चुनाव आयोग ने गृह मंत्रालय या दिल्ली पुलिस कमिश्नर से इस पद के लिए तीन नामों के सुझाव मांगे थे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × one =

Back to top button