breaking_newsअन्य ताजा खबरेंविचारों का झरोखासंपादक की कलम से

Happy 4th Anniversary Samaydhara:आपका प्यार-दुलार,आज समयधारा ने पूरे किए अपने चार साल

आपने ही समयधारा को एक नई पहचान दी l ख़बरों की दुनिया में कई बड़े नामों के बीच समयधारा को एक अलग खास स्थान दिया ...

Happy 4th Anniversary Samaydhara

समय कैसे निकल जाता है इसका पता ही नहीं चलता ….

आप लोगों ने समयधारा को अपने दिल में जो प्यार-दुलार दिया,उसके बारे में आप सभी को हम कितना भी शुक्रियाअदा करें वो कम ही होगा l

10 अक्टूबर 2016 को समयधारा (Samaydhara launching date Oct 10th 2016) ने अपने सफ़र की शुरुआत की थी l समयधारा की नींव उसकी बुनियाद काफी पहले ही रखी जा चुकीं थीl

किसी ने समयधारा को पहले ही अपना सपना-अपना सब कुछ बना लिया था l जी हाँ रीना आर्य  वही शख्सियत है,

जिसने समयधारा के लिए न सिर्फ अपना समय दिया बल्कि किसी भी लड़की की जिंदगी का सबसे कीमती-सबसे महत्वपूर्ण-भाग समयधारा को समर्पित कर दिया l

कहते है हर आदमी की सफलता के पीछे एक औरत का होता है, ठीक उसी तरह समयधारा की हर सफलता के पीछे  रीना आर्य का हाथ हैl

कभी न थकने वाली, कभी न हार मानने वाली …रीना आर्य(Reena Arya) ने समयधारा की बुनियाद से ही समयधारा को  ख़बरों की दुनिया में एक अलग पहचान देने की कोशिश की l

न किसी राजनीतिक पार्टी को फेवर किया, न किसी कंपनी या  व्यक्ति विशेष को। हमेशा से अपनी अलग पहचान समयधारा ने बनायी l

इस लिए समयधारा की टैग लाइन है – “सटीक ख़बरों का पिटारा”

इस टैग लाइन को समयधारा ने न सिर्फ अपनाया बल्कि पिछले चार सालों से इसे जिया भी l

हर कदम चाहें…. कितनी भी परेशानियां आई हो…. समयधारा न सिर्फ उन परेशानियों से बाहर आई,

बल्कि बहुत से बुरे लोगों को जिनकी नियत समयधारा पर कब्जा करने की थी… उन्हें भी…. उनकी ….औकात दिखाई l

आप लोगों ने पिछले 4 सालों में  समयधारा  पर अपना जी भरकर प्यार लुटाया l

आप लोगों ने न सिर्फ प्यार लुटाया बल्कि समयधारा को आपने अपने घर का सदस्य बनाकर उसे अपनी आदत में शुमार किया। 

आपने ही समयधारा को एक नई पहचान दी l ख़बरों की दुनिया में कई बड़े नामों के बीच समयधारा को एक अलग खास स्थान दिया l

सिर्फ चार सालों में आपने  समयधारा को चार नहीं, चालीस नहीं, चार सौ साल पुरानी पहचान दी l कहते है OLD IS GOLD सही है l

पर आपने इस कहावत के आगे एक और लाइन जोड़ दी

OLD IS GOLD BUT NEW IS DIAMOND & DIAMOND IS FOREVER

मतलब की हीरा जो सदा के लिए होता है  वो पहचान आपने समयधारा के साथ जोड़ दी l  समयधारा को आपने रातों-रात फर्श से अर्श पर पहुंचा दिया l

समयधारा से जुड़े सभी लोग चाहें वो हमारे पाठक हो या फिर हमारे सबसे महत्वपूर्ण सिपाही हमारे लेखक…जिन्होंने अपने हथियार यानि कलम से कई महत्वपूर्ण युद्ध (खबरें/लेख) को जीता l

यहाँ युद्ध का मतलब वह हर खबर जिसे आप लोग जानना चाहते थे ,पढ़ना चाहते थे …

उन ख़बरों को एक युद्ध की तरह करो या मरो (निचोड़ना) सरीखे हालात में काम करके आप तक पहुंचाया l

आप सभी जानते है कि वर्ष 2020 कई सारी मुसीबतों वाला साल रहा l बाढ़ से लेकर कई तूफानों ने देश को हिला कर रख दिया l

इस वर्ष की सबसे बड़ी मुसीबत कोरोनावायरस को शायद ही कोई भूल पाया होगा l

इस कोरोना काल में भी आप तक हर खबर को सही समय तक लेकर आने के लिए समयधारा तत्पर रहा l

समयधारा देश की आवाज बना l समयधारा आपकी आवाज बना l समयधारा सच्चाई की आवाज बना l

समयधारा निरंतर आप तक सटीक ख़बरों को पहुचाने के लिए हमेशा से आगे रहा l

दोस्तों हर इंसान की अपनी एक खूबी/पहचान होती है l उसी तरह से समयधारा ने भी अपनी एक अलग पहचान बनायीं l

आज समयधारा उन सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद देना चाहती है, जिन्होंने इसकी पहचान बनाने में अपना कीमती समय दिया l

वह सभी लोग जो समयधारा से जुड़े, जिन्होंने समयधारा को अपने जीवन का हिस्सा बनाया l

समयधारा उन सभी को तहे दिल से अपनी चौथी वर्षगांठ पर शुक्रिया अदा करना चाहती है l

यहाँ हम उन सभी लोगों को जिन्होंने समयधारा को एक अलग पहचान दिलाने में अपनी कलम से योगदान दिया उनका भी धन्यवाद देना चाहते है:

इन में कुछ नाम है जैसे की

  • रीना आर्य
  • धर्मेश जैन
  • द्रोपदी कनौजिया
  • नीरज जैन
  • भावना गौर
  • ऋतु गुप्ता
  • राधा कश्यप
  • रिया शर्मा
  • विनोद जैन
  • प्रियंका जैन
  • श्वेवता सिंह
  • रवि

इत्यादि लोग और जिनके नाम का जिक्र यहाँ नहीं है,लेकिन जो पूर्व में भी समयधारा परिवार का हिस्सा रहे है, उन सभी के योगदान बिना समयधारा आज अपने बेमिसाल चार साल(Happy 4th Anniversary Samaydhara) का खूबसूरत पड़ाव पार नहीं कर पाती l

रीना आर्य ने चार साल पहले जो समयधारा के रूप में ख़बरों का एक बीज बोया था, उस बीज से उपजा साकार पेड़ है समयधारा-सटीक खबरों का पिटारा। 

कम समय में तमाम चुनौतियों, संघर्षों और मूल्यों के साथ दिन-रात आप तक खबरें सही समय पर पहुंचाने का असर यह हुआ की आज चार साल होते-होते समयधारा का मुकाबला कई नामचीन न्यूज़ वेबसाइट से होता हैl

चूंकि समयधारा का मतलब है-खबरों की प्रामाणिकता और सटीकता।

समयधारा की ओर से सभी पाठकों को चौथी वर्षगांठ की हार्दिक बधाईयां!

 

Happy 4th Anniversary Samaydhara!

Show More

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन www.samaydhara.com के को-फाउंडर और बिजनेस हेड है। लेखन के प्रति गहन जुनून के चलते उन्होंने समयधारा की नींव रखने में सहायक भूमिका अदा की है। एक और बिजनेसमैन और दूसरी ओर लेखक व कवि का अदम्य मिश्रण धर्मेश जैन के व्यक्तित्व की पहचान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × one =

Back to top button