breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीति
Trending

अशोक गहलोत सरकार ने विधानसभा सत्र बुलाने के लिए राज्यपाल को भेजा नया प्रस्ताव

उन्होंने 31 जुलाई से विधानसभा का नया सत्र बुलाने की मांग रखी है....

Rajasthan: Ashok Gehlot govt sent new proposal to Governor for assembly session

जयपुर:राजस्थान का सियासी रंग खूब रंग बदल रहा है। पहले जहां यह मुद्दा सचिन पायलट बनाम अशोक गहलोत (Sachin Piolt vs Ashok Gehlot) था। फिर स्पीकर बनाम सचिन पायलट कैंप हुआ और अब नई सियासी हलचल के साथ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बनाम राजस्थान के गवर्नर हो गया (Rajasthan CM Ashok Gehlot Vs Governor) है।

सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत(Ashok Gehlot)ने फिर से मंत्रिमंडल की बैठक की और विधानसभा सत्र (assembly session) बुलाने के लिए नया प्रस्ताव (new proposal) पारित किया।

फिर इसके बाद गहलोत सरकार (Ashok Gehlot govt) ने राजस्थान के गवर्नर (Governor) कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) को विधानसभा सत्र बुलाने के लिए एक यह नया प्रस्ताव भेज दिया।

उन्होंने 31 जुलाई से विधानसभा का नया सत्र बुलाने की मांग रखी है।

राज्यपाल को प्रस्ताव मिल गया है। 

अशोक गहलोत सरकार ने दावा किया है कि नए प्रस्ताव में उनके पास बहुमत है। राज्यपाल इस नए प्रस्ताव की समीक्षा कर रहे है।

 गौरतलब है कि गहलोत विधानसभा सत्र बुलाने के लिए पहले भी दो बार प्रस्ताव भेज चुके है और गवर्नर दोनों बार इसे लौटा चुके है।

इस नए प्रस्ताव में गवर्नर के सभी सवालों के जवाब दिए गए है साथ ही विधानसभा सत्र का एजेंडा भी तय किया गया है।

राज्य में बढ़ते कोरोनावायरस केसों के मद्देनजर विधानसभा सत्र 31 जुलाई से बुलाने की मांग रखी गई है।

हालांकि नए प्रस्ताव के एजेंडे में गहलोत ने विश्वास मत को शामिल नहीं किया है।

Rajasthan: Ashok Gehlot govt sent new proposal to Governor for assembly session

जिसके बारे में पिछली बार गवर्नर ने पूछा था कि क्या वह विश्वास मत को लेकर विधानसभा सत्र बुलाना चाहते है चूंकि किसी ने उनसे विश्वास मत साबित करने को नहीं कहा है।

इसके साथ ही राजस्थान के गवर्नर ने कई उन्हें भेजे गए मंत्रिमंडल के प्रस्ताव पर कई और सवाल उठाएं थे। जिनके जवाब आज राजस्थान मंत्रिमंडल की बैठक (Rajasthan Cabinet meeting) के बाद प्रस्ताव में तैयार करके दे दिए गए है। ऐसा सूत्रों के हवाले से पता चला है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मंत्रिमंडल ने 31जुलाई से विधानसभा सत्र शुरू करने का प्रस्ताव दिया है।

Rajasthan: Ashok Gehlot govt sent new proposal to Governor for assembly session

वैसे अशोक गहलोत ने एक बार फिर से बहुमत का दावा भी किया है।

सूत्रों के अनुसार, गहलोत कैबिनेट ने अब तीसरी बार विधानसभा सत्र बुलाने के लिए प्रस्ताव गवर्नर को भेजा है और इसमें गवर्नर के सभी सवालों के जवाब दिए गए है।

अशोक गहलोत ने जब दो बार विधानसभा सत्र बुलाने का प्रस्ताव भेजा था,उसमें पहली बार के प्रस्ताव में कोरोनावायरस (Coronavirus) का ही मुद्दा उठाया गया था। लेकिन राज्यपाल ने इसे लौटा दिया था।

फिर दूसरे प्रस्ताव में ठीक से सही जानकारी नहीं होने और सवालों के जवाब नहीं देने के नाम की बात कहकर राज्यपाल ने इसे भी लौटा दिया था।

दूसरे प्रस्ताव पर राज्यपाल कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) ने विधान सभा सत्र पर अपनी सहमति देते हुए कहा कि 21 दिन का स्पष्ट नोटिस देकर सत्र बुलाया जाना चाहिए।

अगर गहलोत सरकार विश्वासमत हासिल करना चाहती है तो जल्द से जल्द सत्र बुलाए जाने का आधार बन सकता है।

इसके बाद राज्यपाल ने गहलोत से नया प्रस्ताव उनके सवालों के जवाबों के साथ मांगा था, जिसे सोमवार को कैबिनेट की मीटिंग में पास किया गया और फिर गहलोत सरकार ने राज्यपाल के पास नया प्रस्ताव विधानसभा सत्र बुलाने के लिए भेज दिया।

राज्यपाल इसकी समीक्षा कर रहे है और अब सभी की नजरें उनके आदेश पर है।

 

Rajasthan: Ashok Gehlot govt sent new proposal to Governor for assembly session

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 + three =

Back to top button