breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूज
Trending

SBI ने सेविंग्स अकाउंट को किया जीरो बैलेंस,अब मिनिमम बैलेंस का झंझट खत्म

SBI ने सेविंगAC,RD,FD पर घटाया इंटरेस्ट रेट,होम-ऑटो लोन सस्ता

नई दिल्ली: SBI saving account no need minimum balance: Yes बैंक (Yes Bank) के डूबने से जहां ग्राहकों का बैंकिंग व्यवस्था से भरोसा उठ रहा है,तो वहीं देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (State Bank of India) ने अपने ग्राहकों को एक बड़ी खुशखबरी दी है और घोषणा की है कि अब सभी सेविंग्स अकाउंट्स (Savings Account) पर से मिनिमम बैलेंस (Minimum Balance) रखने की शर्त को हटा दिया गया (SBI saving account no need minimum balance)है।

दूसरे शब्दों में कहें तो अब आप अपने एसबीआई सेविंग अकाउंट (SBI saving account) को जीरो बैलेंस (Zero Balance) के साथ भी चालू रख सकेंगे और बैंक (Bank) इसके लिए आपके ऊपर कोई पैनल्टी या चार्ज भी नहीं लगाएगा।

दरअसल, बुधवार को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपनी प्रेस रिलीज को जारी करते हुए कहा है कि , SBI ने सभी सेविंग्स अकाउंट से एवरेज मंथली बैलेंस(AMB)की शर्त हटा ली(SBI saving account no need minimum balance) है।”

गौरतलब है कि SBI के सभी सेविंग्स अकाउंट होल्डर्स के लिए अभी तक एवरेज मिनिमम बैलेंस रखना अनिवार्य होता था। जिन बचत खातों में मिनिमम बैलेंस (minimum balance) नहीं रहता था, उनपर बैंक पैनल्टी लगाता था।

बकौल SBI प्रेस रिलीज, SBI बैंक के इस निर्णय से 44.51 करोड़ सेविंग्स अकाउंट होल्डर्स को लाभ होगा। अब आपके सेविंग अकाउंट में अगर जीरो बैलेंस रहता है तो भी आपके खाते पर पैनल्टी नहीं लगेगी (SBI saving account no need minimum balance)

इतना ही नहीं, अब एसबीआई (SBI) आपसे SMS चार्ज भी नहीं वसूलेगा।

अभी तक SBI ग्राहकों को अकाउंट में पैसा जमा करने और पैसा कटने की जानकारी SMS से देने के लिए बैंक प्रत्येक तिमाही में उनसे शुल्क या चार्ज वसूलता था।

किंतु अब एसबीआई ग्राहकों को बैंक ने इसमें भी छूट दे दी है और SMS सर्विस पर भी अब शुल्क नहीं लगेगा।

 
SBI saving account no need minimum balance

अभी तक SBI कितना लगाता था चार्ज?

एसबीआई के मेट्रो शहर के ग्राहकों को अभी तक अपना सेविंग अकाउंट मेंटेन रखने के लिए 3,000 रुपए अकाउंट में रखना अनिवार्य होता था।

कस्बों के ग्राहकों को अपने खाते में 2000 रुपये और ग्रामीण इलाकों के ग्राहकों को 1,000 रुपये अपने अकाउंट में रखने अनिवार्य होते थे।

केवल सैलरी अकाउंट को छोड़कर, अगर किसी भी अकाउंट में ऊपर बताया गया मिनिमम बैलेंस मेंटेन नहीं होता था तो बैंक उनपर 5 रुपये से लेकर 15 रूपये तक की पैनल्टी और टैक्स वसूलता था।

वैसे एसबीआई ने जहां ग्राहकों को मिनिमम बैलेंस के झंझट से मुक्ति दिलाई है तो वहीं सेविंग अकाउंट पर इंटरेस्ट रेट को भी घटा दिया (SBI saving account no need minimum balance)है।

अब आपके SBI सेविंग अकाउंट पर सिर्फ फ्लैट 3 फीसदी इंटरेस्ट मिलेगा।

हालांकि इससे पूर्व सेविंग्स अकाउंट में 1 लाख रुपए से कम रखने पर सालाना 3.25 फीसदी का ब्याज मिलता था और 1 लाख रुपए से ज्यादा रखने पर सिर्फ 3 फीसदी इंटरेस्ट मिलता था।

 

SBI ने सेविंगAC,RD,FD पर घटाया इंटरेस्ट रेट,होम-ऑटो लोन सस्ता

(SBI cuts interest rates on FDs)

इससे पहले दिन में, एसबीआई (SBI) ने 10 मार्च से प्रभावी विभिन्न टेनर्स में 15 आधार अंकों तक की फंड आधारित ऋण दर की एमसीएलआर (MCLR) या सीमांत लागत में कटौती की घोषणा की थी।

यह एक ऐसा कदम है जो होम और ऑटो लोन को सस्ता कर देगा।

SBI ने अपने एक साल के MCLR को 10 बेसिस प्वाइंट घटाकर 7.75% कर दिया है, जो पहले 7.85% था।

चालू वित्त वर्ष में बैंक द्वारा MCLR में यह लगातार 10 वीं कटौती है।

एसबीआई ने बुधवार को एक महीने में दूसरी बार सावधि जमा या एफडी (FD) पर ब्याज दरों (interest rate) में कटौती की (SBI cuts interest rates on FDs)है।

संशोधित दरें 10 मार्च से लागू हो गई है। SBI ने पहले 10 फरवरी को एफडी (FD) पर ब्याज दरों में कटौती की थी।

 

एसबीआई एफडी की नई ब्याज दरें (SBI FD new interest rate):

नवीनतम संशोधन के अनुसार, 7 दिनों से 45 दिनों के बीच मैच्योर होने वाली एसबीआई एफडी (SBI FD) पर अब 4% इंटरेस्ट मिलेगा जोकि पहले 4.5% मिलथा था।

इसी तरह, एक वर्ष से लेकर पांच वर्ष से कम अवधि वाली एफडी पर अब 5.9% ब्याज मिलेगा जोकि पहल 6% मिलता था।

एसबीआई ने 5 साल से लेकर 10 साल तक की एफडी पर अब 5.9 % ब्याज मिलेगा जोकि पहले 6 % मिलता था।

SBI ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों को आम जनता की तुलना में 50 आधार अंक अधिक ब्याज दर मिलती रहेगी।

बुजुर्गों के लिए इसी अवधि के लिए FD पर ब्याज दर अब 6.50 प्रतिशत की जगह 6.40 प्रतिशत होगी।

बैंक ने 180 दिन और उससे अधिक अवधि के लिए दो करोड़ रुपये और उससे अधिक (थोक जमा) की एफडी पर ब्याज दर में 0.15 प्रतिशत की कटौती की है।

एक साल और उससे अधिक की अवधि की थोक जमा राशि पर ब्याज दर अब 4.60 प्रतिशत होगी जोकि पहले 4.75 प्रतिशत थी।

 

 

SBI saving account no need minimum balance
 
 

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 1 =

Back to top button