breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसमार्केट

RBI के छक्के ने बाजार को हिलाया, शेयर बाजार में जोरदार गिरावट

RBI MPC Meet 2024 Highlights : महंगाई को लेकर बड़ा पुर्वानुमान, सेंसेक्स 615 अंक निफ्टी 182 अंक वही बैंक निफ्टी 440 अंक नीचे गिरकर कारोबार कर रहे है l 

RBI Policy Stock Market down Yes Bank SBI Reliance 

मुंबई (समयधारा) : RBI की MP  के बाद बाजार में गिरावट का रुख जारी है, कुछ देर के लिए बाजार में तेजी का रुख था,

पर इस समय बाजार में जोरदार गिरावट का रुख है l 

सेंसेक्स 615 अंक निफ्टी 182 अंक वही बैंक निफ्टी 440 अंक नीचे गिरकर कारोबार कर रहे है l 

इससे पहले, आज सुबह बाजार की शुरुआत आरबीआई पॉलिसी के आउटकम से पहले बढ़त के साथ हुई है।

निफ्टी करीब 22000 के आसपास खुला है। सेंसेक्स 186.75 अंक यानी 0.26 फीसदी की बढ़त के साथ 72,348.86 के स्तर पर कारोबार कर रहा था।

RBI ने नहीं किया रेपो रेट में कोई बदलाव,6.5% पर स्थिर,नहीं बढ़ेगी आपकी EMI

RBI ने नहीं किया रेपो रेट में कोई बदलाव,6.5% पर स्थिर,नहीं बढ़ेगी आपकी EMI

वहीं निफ्टी 57.50अंक यानी 0.26 फीसदी की बढ़त के साथ 21988.30 के स्तर पर नजर आ रहा था।

प्री-ओपनिंग में बाजार में बढ़त देखने को मिल रही है। सेंसेक्स 376.02 अंक यानी 0.54 फीसदी की बढ़त के साथ 72,533.23 के स्तर पर कारोबार कर रहा था।

वहीं निफ्टी 99.65 अंक यानी 0.45 फीसदी की बढ़त के साथ 22030 के स्तर पर नजर आ रहा था।

डॉलर में लगातार दबाव देखने को मिल रहा है. डॉलर इंडेक्स 3 महीने की ऊंचाई से यह फिसल चुका है,

जिसके बाद यह 103.87 के स्तर पर आ चुका है।डॉलर इंडेक्स में लगातार तीसरे दिन गिरावट देखने को मिल रही है।

कच्चे तेल के दाम में लगातार तीसरे दिन भी तेजी देखने को मिली। ब्रेंट क्रूड ऑयल अब 79 अरब डॉलर के करीब है।

WTI क्रूड ऑयल करीब 74 डॉलर प्रति बैरल के करीब है। इजरायल के पीएम नेतन्याहू ने हमास की ओर से स्थाई सीजफायर के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है।

RBI Monetary Policy Meet 2024 Updates: केंद्रीय बैंक RBI ने आज चालू वित्त वर्ष 2023-24 की आखिरी मौद्रिक नीति का ऐलान किया है।

इस बार भी रेपो रेट (Repo Rate) में कोई बदलाव नहीं किया है। आरबीआई गवर्नर  शक्तिकांत दास की अगुवाई में मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी (MPC) अपनी रिव्यू मीटिंग के बाद इसका ऐलान किया। रेपो रेट 6.5 फीसदी पर स्थिर है।

आम लोगों की निगाहें इस पर लगी हुई थी कि क्या इस बार राहत मिल पाएगी। अगर आरबीआई रेपो रेट की दरों में कटौती करता तो आम लोगों को सबसे बड़ी राहत लोन की किश्त कम होने के रूप में मिलती।

RBI Policy Stock Market down Yes Bank SBI Reliance 

हालांकि अधिकतर एक्सपर्ट्स के अनुमान के मुताबिक इस बार भी दरों में कोई बदलाव नहीं हुआ।

अभी कुछ समय पहले अमेरिकी फेड और बैंक ऑफ इंग्लैंड ने भी दरों में कोई बदलाव नहीं किया था।

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि इंफ्लेशन यानी महंगाई दर लक्ष्य के दायरे में आ रही है।

इंफ्लेशन यानी महंगाई बढ़ने की दर का टारगेट 2-6 फीसदी है। वैश्विक स्तर पर कारोबारी स्पीड कमजोर बनी हुई है लेकिन रिकवरी के संकेत दिख रहे हैं और अब इसके तेजी से आगे बढ़ने के संकेत है।

हालांकि आरबीआई गवर्नर का कहना कि इस साल 2024 में वैश्विक ग्रोथ स्थिर रह सकती है लेकिन अलग-अलग सेक्टर में इसकी चाल अलग-अलग रहेगी। महंगाई बढ़ने की रफ्तार सुस्त पड़ी है और अभी इसमें और नरमी के आसार हैं।

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि इंफ्लेशन यानी महंगाई दर लक्ष्य के दायरे में आ रही है। इंफ्लेशन यानी महंगाई बढ़ने की दर का टारगेट 2-6 फीसदी है।

आरबीआई गवर्नर के मुताबिक मौजूदा प्रतिकूल परिस्थितियों के बीच सार्वजनिक कर्ज का हाई लेवल कुछ बड़े देशों में भी आर्थिक स्थिरता पर गंभीर चिंताएं पैदा कर रहा है।

विकसित देशों में तो विकासशील देशों की तुलना में तो यह और अधिक ही है।

वैश्विक पब्लिक डेट और जीडीपी का अनुपात इस दशक के आखिरी तक 100% तक पहुंचने का अनुमान है।

उन्होंने कहा कि ब्याज की ऊंची दरें और वैश्विक स्तर पर ग्रोथ की सुस्त रफ्तार नए पैमाने पर तनाव पैदा कर रहा है।

ऐसे में कर्ज का बोझ हल्का करने की जरूरत है ताकि ग्रीन ट्रांजिशन समेत अहम प्रॉयोरिटी एरियाज में नए निवेश के लिए जगह बनाई जा सके।

RBI Policy Stock Market down Yes Bank SBI Reliance 

आरबीआई गर्वनर ने कहा कि FY25 रिटेल महंगाई अनुमान 5.5% से घटाकर 4.5% पर रहा।

FY24 रिटेल महंगाई अनुमान 5.4% पर बरकरार रखा है। FY25 का Q4 रिटेल महंगाई अनुमान 4.7% है।

FY25 के Q1 में GDP अनुमान 6.7% से बढ़ाकर 7.2% पर आ गया है। FY25 के Q2 में GDP अनुमान 6.5% से बढ़ाकर 6.8% पर रहा।

FY25 के Q3 में GDP अनुमान 6.4% से बढ़ाकर 7% पर रहा। FY25 के Q4 में GDP ग्रोथ अनुमान 6.9% पर रखा है।

FY24 का Q4 महंगाई अनुमान 5.2% से घटकर 5% पर रखा। FY24 का Q4 महंगाई अनुमान 5.2% से घटकर 5% जबकि FY25 का Q2 महंगाई अनुमान 4% पर बरकरार रखा है।

शक्तिकांता दास ने कहा कि ग्लोबल ट्रेड में रिकवरी के संकेत दिख रहे हैं। इस साल महंगाई और घटाने पर फोकस रहेगा।

MPC के कदमों से कोर महंगाई में नरमी दिखी है। उन्होंने आगे कहा कि कमोडिटी कीमतों से कोर महंगाई में नरमी आई है। गुड्स, सर्विसेज में कोर महंगाई में नरमी आई है।

RBI GOVERNOR शक्तिकांता दास ने कहा कि खाद्य पदार्थों की कीमतों पर MPC की नजर बनी हुई है। महंगाई में नरमी देखने को मिल रही है।

MPC 4% महंगाई लक्ष्य पर कायम रहेगा। MPC सदस्यों में 5-1 की सहमति से फैसला हुआ। 6 में से 5 MPC सदस्य दरें बरकरार के पक्ष में है।

RBI ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। RBI ने ब्याज दरें 6.50% पर बरकरार रखीं है। MSF और बैंक रेट 6.75% पर बरकरार रखा है। RBI ने ‘WITHDRAWAL OF ACCOMMODATION’ का रुख बरकरार रखा है।

ग्लोबल मार्केट से पॉजिटिव संकेत मिल रहे है। एशिया की मजबूत शुरुआत हुई. गिफ्ट निफ्टी करीब 50 प्वाइंट ऊपर कारोबार कर रहा है। कल अमेरिकी बाजार भी रिकॉर्ड हाई पर बंद हुए।

कंपनियों के अच्छे नतीजों से जोश बढ़ा। वहीं नैस्डैक एक परसेंट चढ़ा है।जापान का निक्केई इंडेक्स पौने एक फीसदी की बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है।

RBI Policy Stock Market down Yes Bank SBI Reliance 

दक्षिण कोरिया को कोस्पी इंडेक्स भी आधे फीसदी की बढ़त के साथ कामकाज करते नजर आया।

इसके अलावा शंघाई कम्पोजिट और हैंग सैंग इंडेक्स में तेजी के संकेत मिल रहे हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button