breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशबिजनेसबिजनेसबिजनेस न्यूजमनी मंत्रालाइफस्टाइल
Trending

Gold investment Dhanteras : धनतेरस पर इन 11 टिप्स से घर में बेकार पड़े सोने से कमाएं पैसा

भारत में इनवेस्टमेंट (investment in india) के लिहाज से गोल्ड (Gold) अर्थात सोने को सबसे सुरक्षित धातु माना गया है

नई दिल्ली: Gold investment in india on Dhanteras: परंपरागत रूप से, धनतेरस (Dhanteras) पर सोना (Gold) खरीदा जाता है, चूंकि इसे विशेष रूप से कीमती धातु खरीदने के लिए ‘शुभ दिन’ माना जाता है।

लोग धनतेरस पर सोने (Gold investment in india on Dhanteras 2019) की खरीदारी विशेष रूप से पूजा, सिक्कों, मूर्तियों और गहनों के रूप में करते है और विशेष अवसरों पर ही केवल इनका इस्तेमाल करते है लेकिन उसके बाद क्या?

क्या इसके बाद भी आप अपने सोने का उपयोग करते है? संभवत: आपमें से कई लोगों का जवाब होगा ‘नहीं’

कई भारतीय लोगों के घरों में सोना होता है, लेकिन यह बेकार हो जाता है अगर इसका सालों-साल सही तरह से इस्तेमाल न हो तो।

दरअसल, सच तो यह है कि आपको पता होना चाहिए कि यही गोल्ड आपके लिए पैसा बनाने का अवसर हो सकता (Gold investment in india on Dhanteras) है।

भारत में इनवेस्टमेंट (investment in india) के लिहाज से गोल्ड (Gold) अर्थात सोने को सबसे सुरक्षित धातु माना गया है और अब तो सरकार और बैंकों द्वारा ऐसी कई स्कीम लॉन्च की गई है

जिनकी मदद से आप धनतेरस पर अपने घर में बेकार पड़े सोने से खूब पैसा कमा (Gold investment in india on Dhanteras) सकते है और जरूरत पड़ने पर वापस सोना पा सकते है।

तो चलिए बताते है कि आप अपने घर में बेकार पड़े सोने से इस धनतेरस कैसे पैस कमा सकते है:

Gold investment in india on Dhanteras :

1.आप सरकार द्वारा काफी समय पहले से शुरू की गई गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम (Gold monetisation Scheme) जीएमएस (GMS) के तहत बैंकों के माध्यम से अपनी स्वर्ण जमा राशि (Gold deposit) से आय (income) अर्जित कर सकते हैं।

2.इस योजना के तहत, जिनके पास निष्क्रिय सोना है, वे अपना सोना बैंकों में जमा कर सकते हैं और उस पर ब्याज (interest) कमा सकते हैं। साथ ही वे परिपक्वता (maturity) के बाद कीमती धातु को वापस पा सकते हैं।

3.निवेशक (Investors) सोने (Gold) को जमा करने और उस पर पैसा कमाने के लिए धनतेरस (Dhanteras) जैसे शुभ दिन का चयन कर सकते हैं।

इस तरह से निवेशकों को अपनी जमा राशि पर ब्याज मिलता है और वे पैसा कमा (earn money) सकते है।

4.इतना ही नहीं, ऐसा करके आप आप अपने सोने को सुरक्षित रखने की लागत पर भी बचत करते हैं।

5.ध्यान दें कि जब कोई बैंक लॉकर (bank locker) में सोना रखता है तो कुछ शुल्क देना पड़ता है।

6.यह योजना आपको आपके सोने की सुरक्षा (Gold security) प्रदान करती है और आप सालाना 2.5 प्रतिशत ब्याज (earn interest) भी कमा सकते हैं।

7. Gold को इस तरह deposit करने से जमाकर्ता को केंद्र सरकार द्वारा तय ब्याज दर पर ब्याज अर्जित करने में मदद मिलती है और इसे समय-समय पर भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) द्वारा अधिसूचित किया जाता है।

विभिन्न बैंक इस योजना की पेशकश करते हैं, जिसमें एसबीआई (SBI) और आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) शामिल हैं।

8. 1-3 साल के लिए शॉर्ट टर्म गोल्ड डिपॉजिट एक साल के लिए 0.50 प्रतिशत और दो-तीन साल के कार्यकाल के लिए 0.60 प्रतिशत ब्याज प्रदान करता है।

9.निवेशक (investors) सालाना या परिपक्वता (maturity) पर ब्याज (earn interest) कमा सकते हैं। 5-7 साल के कार्यकाल के लिए मध्यम अवधि के गोल्ड (Gold) डिपॉजिट (deposit) में 2.25 प्रतिशत की पेशकश होती है, जबकि 12 साल के कार्यकाल के लिए लंबी अवधि के गोल्ड डिपॉजिट (gold deposit) में 2.5 प्रतिशत की पेशकश होती है।

10.सलाना 31 मार्च को ब्याज (interest) का रुपयों के रूप में या मैच्योरिटी पर संचयी  ब्याज (cumulative interest) के रूप में भुगतान किया जाता है, जिसकी गणना सोने के मूल्य पर रुपयों में की जाएगी।

11.सरकार ने बैंकिंग प्रणाली में निष्क्रिय सोने (Gold) को लाने के लिए 2015 में योजना शुरू की।

इस योजना की जानकारी आरबीआई (RBI) की वेबसाइट और संबंधित बैंकों की वेबसाइटों पर उपलब्ध है।

Gold investment in india on Dhanteras 

Tags

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन एक स्वतंत्र लेखक है और साथ ही समयधारा के को-फाउंडर व सीईओ है। लेखन के प्रति गहन रुचि ने धर्मेश जैन को बिजनेस के साथ-साथ लेख लिखने की ओर प्रोत्साहित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: