breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूज
Trending

PMC Bank scam: MD जॉय थॉमस गिरफ्तार,HDIL के चेयरमैन वाधवा पुलिस हिरासत में

आरबीआई के गवर्नर ने कहा कि किसी भी कोपरेटिव बैंक को डूबने नहीं दिया जाएगा।

मुंबई: PMC Bank Scam: पीएमसी (PMC Bank) बैंक यानि पंजाब एंड महाराष्ट्र बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर जॉय थॉमस (MD Joy Thomas arrested) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

थॉमस को पुलिस काफी दिनों से खोज रही थी। साथ ही एचडीआईएल (HDIL) के चेयरमैन राकेश वाधवा और

साथ में सारंग वाधवा को भी पुलिस ने 9 अक्टूबर तक के लिए हिरासत (Wadhawans police custody till October 9) में ले लिया है।

मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा की FIR के आधार पर ED ने शुक्रवार को 6 जगह-जगह छापे मारे।

अपराध शाखा ने हाउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रा लिमिटेड (Housing Development and Infrastructure Limited) के चेयरमैन राकेश वाधवा को भी पुलिस हिरासत में लिया है।

पंजाब एंड महाराष्ट्र कोपरेटिव बैंक ने HDIL को ही सैकड़ों करोड का लोन दिया था।

आरबीआई (RBI) के रोक लगाने (23 सितंबर) से पहले ही इसने पांच दिनों में ही पीएमसी बैंक (PMC Bank) से 3200 करोड़ निकाल लिए थे।

इससे स्पष्ट है कि बैंक डूबने वाला है इसका अंदेशा पहले ही हो गया था। इस बाबत इंडिया टुडे में एक रिपोर्ट छपी है

जिसके अनुसार, पीएमसी बैंक के कर्मचारियों ने HDIL के उच्च अधिकारियों के निजी खातों में

2000 करोड़ तक ट्रांसफर कर दिए थे। इसलिए यह एक घोटाला (PMC Bank Scam) है।

कैसे दिया पीएमसी बैंक घोटाले को अंजाम

PMC बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर जॉय थॉमस ने कहा था कि बैंक ने HDIL ग्रुप की कंपनियों को 2500 करोड़ का लोन दिया गया था।

HDIL ग्रुप की 11 कंपनियों का पता चला है जिन्हें 1658 करोड़ का लोन (Loan) प्रदान किया गया है।

प्राप्त मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कहा जा रहा है कि पीएमसी बैंक (PMC Bank) ने HDIL ग्रुप को 6500 करोड़ रुपये लोन दिया था। इसमें से ज्यादातर पैसा

2017 के साल में दिया गया था। इस बाबत एक व्हीसल ब्लोअर ने RBI को 17 सितंबर को एक लैटर लिखकर सूचित किया था कि बैंक में बहुत भारी धोखाधड़ी हो रही है।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank of India)  ने 2017 में एचडीआईएल (HDIL) को बैंकरप्सी मामले में कोर्ट में घसीटा था।

इसी वर्ष PMC Bank ने सैकडों करोड़ का लोन दिया था और यह सारा स्कैम खुलेआम चल रहा था। अब ऐसे में सवाल उठता है कि किसी की भी नजर इस घोटाले पर पड़ी क्यों नहीं। यह सारा पैसा रिकवर कैसे होगा।

पीएमसी बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर जॉय थॉमस ने कहा है कि बैंक के चेयरमैन वाधवा को पता था कि बैंक बर्बाद होने की कगार पर है। दरअसल, HDIL के प्रमुख ने बैंक को डूबो देने की धमकी दी थी।

रिजर्व बैंक (Reserve Bank) ने जब शुक्रवार को रेपो रेट घटाने की खबर के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस की तो पीएमसी बैंक घोटाले से संबंधित भी सवाल पूछे गए।

इस पर आरबीआई के गवर्नर ने कहा कि किसी भी कोपरेटिव बैंक को डूबने नहीं दिया जाएगा। आरबीआई ने पीएमसी बैंक के केस में तेजी से कार्रवाई की है।

इसकी निगरानी के लिए एक अलग से डिपार्टमेंट बनाया जा रहा है। अधिकारियों का काडर अपॉइंट किया गया है जो पीएमसी बैंक के केसों को देखेगा।

आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि देश के बैंक सुरक्षित, स्थायी है। किसी को भी घबराने की जरूरत नहीं है।

गौरतलब  है कि पीएमसी घोटाले (PMC Scam) का पता चलते ही आरबीआई ने इसके खाताधारकों के लिए यहां से कैश निकालने की सीमा पहले 10000 की थी जिसे 3 अक्टूबर को 25,000 कर दिया गया है।

 

(इनपुट एजेंसी से भी)

Tags

Reena Arya

रीना आर्य एक ज्वलंत और साहसी पत्रकार व लेखिका है। वे समयधारा.कॉम की एडिटर-इन-चीफ और फाउंडर भी है। लेखन के प्रति अपने जुनून की बदौलत रीना आर्य ने न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपने काम के बल पर अपनी पहचान बनाई बल्कि अपनी काबलियत को प्रूव करते हुए पत्रकारिता के पांच से छह साल के सफर में ही अपने बल खुद एक नए ब्रैंड www.samaydhara.com की नींव रखी।रीना आर्य हर मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखने पर विश्वास करती है और अपने लेखन को लगभग हर विधा में आजमा चुकी है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: