breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूज

Bandhan Bank, RBI के कई बंधको से हुआ आजाद, पर MD-CEO के वेतन….

प्रमोटर हिस्सेदारी (promoter stake) पर रेगुलेटरी के मानदंडों को पूरा करने के बाद MD और CEO के वेतन पर लगी पाबंदी को हटा दिया

reserve-bank-of-india lifts-remuneration-curb-on-md-ceo-in-bandhan-bank

नई दिल्ली (समयधारा) : देश में RBI बैंकों पर अपना अंकुश लगाये रखता है l बैंकों के गलत व्यवहार, लेन-देन पर RBI की पैनी नजर रहती हैl 

इसी के चलते RBI कई बैंकों पर बंधन लगता है l बंधन का मतलब उन पर कुछ पाबंदियों का पहरा लगा देता है l

इसी कड़ी में उसने  बंधन बैंक (Bandhan Bank) पर भी कुछ पाबंदिया लगाई थी l

पर अब बंधन बैंक  के प्रमोटर्स और उसके निवेशकों के लिए खुशखबरी है।

बैंक ने कहा कि उसके प्रमोटर हिस्सेदारी (promoter stake) पर रेगुलेटरी के मानदंडों को पूरा करने के बाद MD और CEO के वेतन पर लगी पाबंदी को हटा दिया है।

बैंक के प्रमोटर की हिस्सेदारी को RBI के नियमों के मुताबिक 40 फीसदी से नीचे लाए जाने के बाद,

एमडी (MD) और सीईओ (CEO)  के वेतन पर लगी पाबंदी को हटाने का यह फैसला किया गया है।

reserve-bank-of-india lifts-remuneration-curb-on-md-ceo-in-bandhan-bank

3 अगस्त 2020 को बंधन फाइनेंशियल होल्डिंग्स लिमिटेड (Bandhan Financial Holdings Ltd -BFHL) ने एक ब्लॉक डील के जरिए बैंक में से अपनी हिस्सेदारी को कम किया है।

बैंक ने एक प्रेस रिलीज में कहा है कि RBI ने 17 अगस्त, 2020 के अपने कम्युनिकेशन के जरिए बैंक के MD और CEO के वेतन को फ्रीज करने की पाबंदी को हटा लिया है।
 
दरअसल, RBI ने 19 सितंबर 2018 को बंधन बैंक पर दो पाबंदियां लगाईं थीं।

पहली पाबंदी थी कि बंधन बैंक नई शाखाएं नहीं खोल सकता, अगर उसे नई शाखाएं खोलनी हैं तो पहले RBI की मंजूरी लेनी होगी।

दूसरी पाबंदी बैंक के MD और CEO वेतन पर रोक थी। RBI ने कुछ शर्तों के साथ 25 फरवरी 2020 को बंधन बैंक पर नई बांच खोलने पर लगा पाबंदी को हटा दिया था।

कुल मिलाकर बैंक पर लगाई गई सभी तरह की पाबंदियां हटा दी गई हैं।

बैंक की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक इस समय देशभर में बैंक के 4,559 बैंकिंग आउटलेट हैं और इसके ग्राहकों की संख्या 2.03 करोड़ से अधिक है।

reserve-bank-of-india lifts-remuneration-curb-on-md-ceo-in-bandhan-bank

Show More

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन www.samaydhara.com के को-फाउंडर और बिजनेस हेड है। लेखन के प्रति गहन जुनून के चलते उन्होंने समयधारा की नींव रखने में सहायक भूमिका अदा की है। एक और बिजनेसमैन और दूसरी ओर लेखक व कवि का अदम्य मिश्रण धर्मेश जैन के व्यक्तित्व की पहचान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × one =

Back to top button