breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूजराज्यों की खबरें
Trending

#CCD के मालिक सिद्धार्थ का अंतिम ख़त, अब नहीं – मुझे माफ़ करना….

Cafe-Coffee-Day-Founder-VG-Siddhartha-full-letter-before-going-missing

मंगलुरु, 30 जुलाई (समयधारा) : कर्नाटक में राजनीतिक संकट समाप्त होने के बाद एक बार फिर यह राज्य चर्चा में आ गया है l

CCD  के फाउंडर सिद्धार्थ की गुमशुद्की अब एक राज में तब्दील होती जा रही है l अभी तक उनके बारें में कुछ भी नहीं पता चला है l

इस समय,  नेत्रावती नदी में उनकी तलाश जोरों-शोरों से शुरू है l

कहा जा रहा है की आर्थिक तंगी और कंपनी के काफी देनदारी होने से वह काफी तनाव में थे l

58 साल के बिजनेसमैन वीजी सिद्धार्थ एशिया के सबसे बड़े कॉफी एस्टेट के मालिक हैं।

वो कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व विदेश मंत्री एसएम कृष्णा के दामाद हैं l 

उनकी कृष्णा की बेटी मालविका से शादी हुई है और दो बेटे हैं।

Cafe-Coffee-Day-Founder-VG-Siddhartha-full-letter-before-going-missing

गौरतलब  है कि CCD के फाउंडर वीजी सिद्धार्थ सोमवार की शाम से लापता चल रहे हैं।

आखिरी बार उन्हें बेंगलुरू से 375 किलोमीटर दूर मंगलुरु की नेत्रावती नदी के पास देखा गया।

वो अपने ड्राइवर के साथ गाड़ी में थे और फोन पर बात कर रहे थे। यहां गाड़ी रुकवाकर वो उतर गए और एक घंटे तक वापस नहीं आए।

ड्राइवर को जब वो ढूंढने पर नहीं मिले, तब उसने परिवार वालों को सूचना दी।

सीसीडी (Cafe Coffee Day) के फाउंडर और कर्नाटक के पूर्व सीएम एसएम कृष्णा के दामाद, 

वीजी सिद्धार्थ के लापता होने के बाद एक पत्र सामने आया है।

वीजी सिद्धार्थ ने लापता होने से दो दिन पहले कंपनी के बोर्ड को एक बहुत ही निराशा से भरी चिट्ठी लिखी थी।

37 सालों तक कड़ी मेहनत से अपनी कंपनियों और सहायक कंपनियों में प्रत्यक्ष रूप से 30,000 नौकरियां और टेक्नोलॉजी कंपनी में,

जिसकी शुरुआत से ही मैं बड़ा शेयरहोल्डर रहा हूं, उसमें 20,000 नौकरियां पैदा करने के बावजूद

मैं एक सही मुनाफे वाला बिजनेस मॉडल खड़ा करने में नाकाम रहा हूं।

Cafe-Coffee-Day-Founder-VG-Siddhartha-full-letter-before-going-missing

मैंने अपने काम को सबकुछ दे दिया। मैं उन सभी लोगों को निराश किया है, जिन्होंने मुझमें विश्वास किया।

मैं काफी लंबे वक्त से लड़ रहा था लेकिन आज मैं हार मान रहा हूं।

प्राइवेट इक्विटी पार्टनर्स में से एक की ओर से शेयर बायबैक करने के लिए मुझपर काफी दबाव पड़ रहा है,

जबकि ये ट्रांजैक्शन मैं एक दोस्त से बड़ी रकम उधार लेकर छह महीने पहले ही पूरा कर चुका हूं।

दूसरे देनदारों की ओर से पड़ रहे दबाव के चलते भी मैं परिस्थितियों के आगे घुटने टेक रहा हूं।

इनकम टैक्स के पूर्व डीजी की ओर से भी मैं कई तरह के शोषण झेल रहा था। दो मौकों पर हमारे शेयर जब्त करने की कोशिश,

माइंडट्री के साथ होने वाली डील को ब्लॉक करने की कोशिश और फिर हमारी ओर से रिवाइज्ड रिटर्न फाइल कर दिए जाने के बावजूद

CCD शेयरों को लेने की कोशिश की जा रही थी। ये बड़ी नाइंसाफी थी और इसे गंभीर लिक्विडिटी क्रंच पैदा हुआ।

मैं आप सभी को मजबूत रहने और इस बिजनेस को नए मैनेजमेंट के साथ चलाने का आग्रह करता हूं।

सारी गलतियों को मैं अकेला जिम्मेदार हूं। सभी फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन्स मेरी जिम्मेदारी हैं।

मेरी टीम, ऑडिटर्स और सीनियर मैनेजमेंट को मेरे किसी भी ट्रांजैक्शन के बारे में नहीं पता।

कानून को बस मुझे जिम्मेदार ठहराना चाहिए क्योंकि मैंने ये सारी जानकारियां किसी से भी नहीं,

यहां तक कि अपने परिवार से भी साझा नहीं की हैं।

Cafe-Coffee-Day-Founder-VG-Siddhartha-full-letter-before-going-missing

मेरा इरादा कभी किसी को धोखा देना नहीं था। मैं एक आंत्रप्रेन्योर के तौर पर फेल हो चुका हूं। मैं इसे स्वीकार कर रहा हूं।

आशा करता हूं कि आप सब किसी दिन ये सबकुछ समझेंगे और मुझे माफ कर देंगे।

मैंने हमारी संपत्तियों की एक लिस्ट बनाई है और उसमें सभी संपत्तियों की कीमत दर्ज है।

हमारी संपत्तियों की कीमत हमारी देनदारियों से ज्यादा है, ऐसे में हम सभी का कर्ज चुका सकतें हैं।

आपका,

VG सिद्धार्थ.

(इनपुट एजेंसी से)

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: