breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशबिजनेसबिजनेस न्यूजराजनीति
Trending

नीरव मोदी की जमानत याचिका ब्रिटेन में तीसरी बार खारिज, 24 मई तक पुलिस हिरासत

इस केस की पूरी सुनवाई 30 मई को होगी। जब नीरव मोदी को अदालत में पेश किया जाएगा। इससे पहले 29 मार्च को भी नीरव मोदी की जमानत याचिका खारिज कर दी गई थी

नई दिल्ली, 26 अप्रैल: Nirav Modi‘s Bail Rejected By London Court  third timeभारत में सबसे बड़ा पीएनबी बैंकिग घोटाला करने के दोषी भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी को ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट से एक और बड़ा झटका लगा है। ब्रिटेन की कोर्ट ने नीरव मोदी की जमानत याचिका को तीसरी बार ठुकरा दिया है (Nirav Modi’s Bail Rejected By London Court  third time) और उसकी पुलिस हिरासत अगली सुनवाई होने तक 24 मई तक बढ़ा दी (remain in custody May 24)है।

इस केस की पूरी सुनवाई 30 मई को होगी। जब नीरव मोदी को अदालत में पेश किया जाएगा। इससे पहले 29 मार्च को भी नीरव मोदी की जमानत याचिका खारिज कर दी गई थी।

यह नीरव मोदी द्वारा दायर की गई तीसरी ऐसी जमानत अर्जी है जिसे ब्रिटेन की अदालत ने खारिज कर दिया है।

सूत्रों का कहना है, चूंकि वकील जमानत लेने के लिए कोई नया आधार प्रदान करने में विफल रहे, इसलिए अदालत ने नीरव मोदी की न्यायिक हिरासत बढ़ा दी।

वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत ने भारतीय अधिकारियों से प्रत्यर्पण मामले से संबंधित कुछ और दस्तावेज प्रस्तुत करने को कहा है।

नीरव मोदी को 19 मार्च को ब्रिटिश अधिकारियों ने पीएनबी धोखाधड़ी में उनकी कथित संलिप्तता के कारण गिरफ्तार किया था। उसे जमानत से वंचित कर दिया गया था।

जमानत से इनकार करते हुए, वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के न्यायाधीश ने माना था कि बैंक को पर्याप्त नुकसान हुआ है। अदालत ने यह भी निष्कर्ष निकाला कि इस मामले में सबूत नीरव मोदी द्वारा नष्ट कर दिए गए थे। भारतीय एजेंसियां ​​नीरव मोदी को भारत प्रत्यर्पित करवाने की कोशिश कर रही हैं।

वेस्टमिंस्टर कोर्ट के मुख्य मजिस्ट्रेट ने 29 मार्च को कहा था कि, “मेरे विचार में, यह बहुत ही असामान्य धोखाधड़ी का मामला है। यह मामले के बहुत शुरुआती चरण में है। गवाह के बयानों में काफी बड़ी विसंगतियां हैं। नीरव मोदी की सशर्त जमानत पर्याप्त नहीं होगी।”

नीरव मोदी के वकील ने तब सशर्त जमानत के लिए तर्क दिया था, जिसमें कहा गया था कि नीरव मोदी को संयुक्त अरब अमीरात और सिंगापुर में स्थायी निवास नहीं मिला है।

उनके वकील ने कहा, “उनका बेटा संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए रवाना हो गया है। वह अब अपने कुत्ते के साथ अकेले रह रहा है। नीरव मोदी जनवरी 2018 से ब्रिटेन में रह रहा है।”

एक सनसनीखेज रहस्योद्घाटन में, भारतीय जांच एजेंसियों का प्रतिनिधित्व करने वाले क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस (CPS) ने वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट को यह भी बताया कि नीरव मोदी ने एक गवाह को मारने की धमकी दी और दूसरे को रिश्वत देने की कोशिश की।

नीरव मोदी पर मामले के एक अन्य प्रमुख आरोपी मेहुल चोकसी के साथ पीएनबी को धोखा देने का आरोप है। धोखाधड़ी का विवरण फरवरी 2018 में सामने आया जब पंजाब नेशनल बैंक ने खुलासा किया कि बैंक बड़े पैमाने पर धोखाधड़ी से प्रभावित हुआ है।

नीरव मोदी और मेहुल चोकसी से जुड़ी कंपनियों ने बैंक को धोखा देने के लिए फर्जी पत्रों का इस्तेमाल किया।

 

.यह भी पढ़े: Breaking : लंदन में नीरव मोदी गिरफ्तार

यह भी पढ़े; PNB Scam: फरार नीरव मोदी की गिरफ्तारी के लिए लंदन की अदालत ने जारी किया वारंट

यह भी पढ़े: लंदन कोर्ट ने नीरव की जमानत रद्द की, अगली सुनवाई 26 अप्रैल को

Tags

Reena Arya

रीना आर्य एक ज्वलंत और साहसी पत्रकार व लेखिका है। वे समयधारा.कॉम की एडिटर-इन-चीफ और फाउंडर भी है। लेखन के प्रति अपने जुनून की बदौलत रीना आर्य ने न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपने काम के बल पर अपनी पहचान बनाई बल्कि अपनी काबलियत को प्रूव करते हुए पत्रकारिता के पांच से छह साल के सफर में ही अपने बल खुद एक नए ब्रैंड www.samaydhara.com की नींव रखी।रीना आर्य हर मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखने पर विश्वास करती है और अपने लेखन को लगभग हर विधा में आजमा चुकी है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: