breaking_news Home slider बिजनेस मार्केट शेयर

टाटा समूह के शेयर गिरे

औंधे मुंह गिरे टाटा ग्रुप की कंपनियों के शेयर

अक्टूबर:  टाटा समूह की ज्यादातर कंपनियों के शेयर गुरुवार को लाल निशान पर बंद हुए। इससे एक दिन पहले ही टाटा संस के अध्यक्ष पद से हटाए गए साइरस मिस्त्री ने कंपनी में कॉपोरेट दुराचार के आरोप लगाए हैं। टाटा संस टाटा समूह की होल्डिंग कंपनी है। इसकी सभी कंपनियों के शेयरों में गुरुवार को गिरावट देखी गई।

बाजार विश्लेषकों के मुताबिक, निवेशकों में मिस्त्री के गुरुवार के इस बयान के बाद डर का माहौल है। उल्लेखनीय है कि मिस्त्री ने कहा था कि टाटा समूह वित्तीय संकट से घिरा है।

टाटा संस और टाटा समूह के ट्रस्टियों को भेजे अपने पांच पृष्ठ के पत्र में मिस्त्री ने कहा कि कंपनी को 1,18,000 करोड़ के नुकसान की संभावना है।

उन्होंने एयर एशिया के साथ टाटा के सौदे में 22 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के आरोप भी लगाए। मिस्त्री ने रतन टाटा की पसंदीदा टाटा नैनो परियोजना पर भी सवाल उठाए और कहा कि इससे 1,000 करोड़ रुपये का नुकसान है, इसलिए इसे बंद कर देना चाहिए।

मिस्त्री के इस पत्र के बाद प्रमुख शेयर सूचकांकों बीएसई और एनएसई ने भी टाटा समूह की सूचीबद्ध कंपनियों इंडिया होटल्स, टाटा मोटर्स, टाटा स्टील यूरोप, टाटा पॉवर मुद्रा और टाटा टेलीसर्विसेज के संबंध में सफाई मांगी है।

गुरुवार को टाटा इनवेस्टमेंट कॉर्प, इंडिया होटल्स, टाटा ग्लोबल बेवरेज, टाटा केमिकल्स और टाटा मोटर्स के शेयरों में गिरावट दर्ज की गई।

–आईएएनएस