breaking_newsHome sliderUncategorizedबिजनेसबिजनेस न्यूज

टाटा ग्रुप के फैसले के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट जाएंगे सायरस मिस्त्री; देंगे फैसले को चुनौती

मुंबई 24 अक्टूबर: टाटा समूह ने एक अप्रत्याशित फैसला सुनाते हुए टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से सायरस मिस्त्री को हटा दिया और अब सायरस मिस्त्री इस फैसेले के खिलाफ कोर्ट जाएंगे। इसके लिए मिस्त्री ने बॉम्बे हाईकोर्ट में टाटा सन्स लिमिटेड के फैसले को चुनौती देने की ठानी है। दूसरी ओर, टाटा ग्रुप ने भी इस मुद्दे से कोर्ट में निपटने की पूरी तैयारियां शुरू कर दी है। इसके लिए ग्रुप के कई वरिष्ठ वकीलों से बातचीत चल रही है।

गौरतलब है कि टाटा समूह ने सोमवार को सायरस मिस्त्री को चेयरमैन पद से हटा दिया और उनकी जगह रतन टाटा को चार महीने के लिए अंतरिम चेयरमैन नियुक्त किया गया। नए चेयरमैन की नियुक्ति का कार्य सर्च कमिटी को सौंपा गया है। सायरस मिस्त्री को हटाएं जाने के फैसले को टाटा ग्रुप के सबसे बड़े पार्टनर शापूरजी और पालोनजी ग्रुप ने अवैध बताया था और साथ ही इसे चुनौती देने की बात कही थी।

सूत्रों की मानें तो टाटा समूह ने कानूनी लड़ाई के लिए सीनियर वकील हरीश एन. साल्वे और अभिषेक मनु सिंघवी को नियुक्त किया है। टाटा समूह ने मिस्त्री को हटाने से पहले कानूनी जगत के बड़े लोगों से सलाह-मशविरा किया था।

सायरस मिस्त्री को चेयरमैन पद से क्यों हटाया गया इस विषय में फिलहाल कोई जानकारी नहीं है,लेकिन सूत्रों के अनुसार उनकी परफॉर्मेंस ही इसकी वजह है। खबरों के अनुसार, पिछले छह माह से रतन टाटा और सायरस मिस्त्री  के बीच बहुत मतभेद चल रहे थे। इतना ही नहीं,सायरस द्वारा केवल मुनाफा देने वाली कंपनियों पर ही ध्यान देने और घाटे में चल रही कंपनियों को छांटने का काम कर रहे थे, इससे कंपनी में उनके प्रति नाराजगी बढ़ रही थी।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close