breaking_newsHome sliderएजुकेशनएजुकेशन न्यूजराज्यों की खबरें
Trending

दिल्ली के राबिया स्कूल में 59 बच्चों को बंधक बनाने पर स्कूल पहुंच भड़के सीएम केजरीवाल

फीस के लिए बच्चों को राबिया स्कूल ने बंधक बनाया, FIR दर्ज, मनीष सिसौदिया, केजरीवाल पहुंचे स्कूल

नई दिल्ली 12 जुलाई: पुरानी दिल्ली के बल्ली मारन स्थित राबिया स्कूल पर कथित आरोप है कि यहां स्कूल के 59 बच्चों को बंधक बनाकर एक अलग बेसमेंट में रखा गया।

इन बच्चों के साथ स्कूल की हेडमिस्ट्रेस ने यह सलूक इसलिए करवाया क्योंकि इनके अभिभावकों ने बच्चों की फीस का भुगतान नहीं किया था।

मामले को तूल  पकड़ता देख दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और शिक्षा मंत्री मनीष सिसौदिया राबिया स्कूल पहुंचे।

वहां सीएम केजरीवाल ने बंधक बच्चों से भी बात की और आरोपी प्रिंसिपल से भी बात करके उन्हें सख्त चेतावनी दी।

केजरीवाल बच्चों के साथ इस अमानवीय सुलूक पर खासा गुस्सा नजर आएं और अभिभावकों व मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि स्कूल मैनेजमेंट को चेतावनी दे दी गई है और मामले की जांच पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

जब बंधक बच्चों के माता-पिता को इस घटना की जानकारी मिली तो वे सभी स्कूल के बाहर इकट्ठा हुए और स्कूल मैनेजमेंट के खिलाफ  विरोध प्रदर्शन किया।

अभिभावक बंधक बच्चों के साथ स्कूल मैनेजमेंट के इस पक्षपात पूर्ण  व अमानवीय व्यवहार से खासे गुस्सा नजर आएं। राबिया स्कूल में ड्रामा उस वक्त बढ़ गया जब एक ओर स्कूल के खिलाफ और दूसरी ओर स्कूल के समर्थन में नारे लगे।

क्या है मामला

दरअसल, सोमवार को खबर आई की पुरानी दिल्ली  के बल्लीमारन में राबिया गर्ल्स पब्लिक स्कूल में केजी और नर्सरी के तकरीबन 50 बच्चों को बेसमेंट में बंधक बनाकर कुल 5 घंटे रखा गया।

दिल्ली पुलिस ने जुवेनाइल एक्ट की धारा 75 के अंतर्रागत राबिया स्कूल के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली क्योंकि स्कूल के खिलाफ 16 शिकायतें मिली थी। पुलिस अपने स्तर पर जांच कर रही है।

कहा जा रहा है कि फीस न चुकाने के चलते स्कूल ने नन्हें बच्चों के साथ ऐसा व्यवहार किया। शिकायत में बताया गया है कि जिस बेसमेंट में बच्चों को बंधक बनाया गया था वहां न तो पंखा था और न ही लाइट थी।

जब स्कूल की छुट्टी हुई तो अभिभावकों को पता चला कि उनके बच्चों को अलग से बंधकर बनाकर रखा गया है और तभी सभी अभिभावकों ने स्कूल के खिलाफ हंगामा किया।

स्कूल के खिलाफ मीडिया रिपोर्ट्स आने पर और मामला की भनक मिलने पर दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल और दिल्ली के शिक्षामंत्री मनीष सिसौदिया स्कूल पहुंचे और मैनेजमेंट व अभिभावकों और पीड़ित बच्चों से बात की।

अभिभावक इस बात से गुस्सा और आहत है कि दिल्ली की 40 डिग्री टेंपरेचर में गर्मी में 5 घंटे तक स्कूल कैसे सिर्फ फीस न चुकाने के लिए बच्चों को बंधक बनाकर रख सकता है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: