उत्तर प्रदेश : राज्य में शिक्षा का गिरता स्तर, 7th में पढ़ने वाले छात्र को 7 का पहाड़ा भी नहीं आता….

लखीमपुर, 24 जुलाई :  उत्तर प्रदेश के लखीमपुर जनपद के विकास खण्ड निघासन सकटू उच्च प्राथमिक विद्यालय सकटूपुरवा में नि:शुल्क यूनीफार्म वितरण करने पहुंचे क्षेत्रीय विधायक रामकुमार वर्मा ने कक्षा सात के छात्र से मुख्यमंत्री का नाम पूछा तो उसने योगी आदित्यनाथ की जगह प्रदेश के मुख्यमंत्री का नाम अखिलेश यादव बताया। 

कक्षा 8 में पढ़ने वाली छात्राओं चेतना एवं सोमा ने विधायक के पूछने पर अपने विकास खंड तथा थाने का नाम भी नहीं बता सकी तो वहीं कक्षा 7 की छात्रा 7 का पहाड़ा भी नहीं सुना सकी। 

जनपद के अधिकांश विद्यालयों में शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्र-छात्राओं को यह तक नहीं मालूम कि उनके विद्यालय के प्रधान अध्यापक का नाम क्या है? अन्य जनपदीय जानकारी का सामान्य ज्ञान विद्यार्थियों में शून्य है वो ये नहीं जानते हैं, कि वह किस विकास खण्ड के किस ग्राम पंचायत के विद्यालय में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं?

प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक तथा इंटर मीडिएट कालेज में शिक्षा प्राप्त कर रहे लाखों विद्यार्थियों का भविष्य नि:शुल्क यूनीफार्म, मध्यान भोजन तथा पुस्तकों के वितरण से नहीं सुधरने वाला है। लगभग 80 फीसदी विद्यालयों में शिक्षकों का घोर अभाव है। 

किसी-किसी विद्यालय में कक्षा 1 से 5 तक छात्र-छात्राओं को शिक्षित करने के लिये मात्र एक शिक्षक तो कहीं 100 से 50 छात्रों वाले विद्यालय में 3 से 4 शिक्षक एवं शिक्षिकायें नियुक्त हैं, जिसके चलते विद्यालयांे का प्राथमिक शिक्षा स्तर निरन्तर गिरता जा रहा है।

— आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close