breaking_newsअन्य ताजा खबरेंफिल्म रिव्यूमनोरंजन
Trending

काजोल की इस हेलीकॉप्टर ईला में नहीं चाहेगा कोई भी बैठना, काजोल के फैन हो तो फिल्म देखना

हेलीकॉप्टर ईला फिल्म का रिव्यु

फिल्म रिव्यु : हेलीकाप्टर ईला

कलाकार   –  काजोल,ऋद्धि सेन,नेहा धूपिया,तोता राय चौधरी

निर्देशक   –  प्रदीप सरकार

मूवी टाइप –  ड्रामा,कॉमिडी,फैमिली

अवधि    –   2 घंटा 15 मिनट 

रेटिंग – क्रिटिक की रेटिंग है 3.5 स्टार 

समयधारा रेटिंग – 2.5 स्टार (अगर आप काजोल के बहुत बड़े फेन है तो देखने जाएँ )

प्रदीप सरकार द्वारा निर्देशित की गई फिल्म हेलीकाप्टर ईला , जिसमें काजोल(ईला) ने एक सिंगल मदर का किरदार निभाया है|

फिल्म में काजोल के बेटे का रोल ऋद्धि सेन(विवान) ने निभा रहे है,

ऐसे तो बॉलीवुड में बहुत सारी मूवीज पहले ही बन चुकी है जिसमे माँ- बेटे के प्यार को दिखाया गया है,

लेकिन हेलीकाप्टर ईला ने माँ-बेटे के प्यार को एक नया मोड़ देने की पूरी कोशिश की है।

इसमें काजोल एक ओवर प्रोटेक्टिव माँ के रूप में नज़र आएंगी जो एक सिंगल मदर हैं|

फिल्म में और भी कई मोड़ हैं जिसने पूरी कहानी को एक धागे में पिरो के रखा है|

बता दें की फिल्म दिलवाले के बाद काजोल ने हेलीकाप्टर ईला से एक लम्बे समय के बाद बड़े परदे पर कम बैक किया है|

बात की जाए फिल्म कि स्टोरी की तो वह कुछ खास नही है, लेकिन काजोल ने अपनी दमदार एक्टिंग से दर्शको का दिल ज़रूर जीत लिया है|

काजोल ने अपने पहले सीन से लेकर आखिर तक फिल्म में अपनी ऐक्टिंग से जान भरने का काम किया,

लेकिन कमजोर स्क्रिप्ट ने पूरा खेल बिगाड़ दिया | फिल्म में ऋद्धि सेन,नेहा धूपिया,

ज़ाकिर खान ने अपने रोल को बखूबी निभाया है यह फिल्म आनंद गांधी के गुजराती नाटक बेटा कागदो पर आधारित है|

कहानी-

फिल्म की कहानी कुछ इस तरह है कि काजोल(ईला) एक सिंगल मदर बनी हैं

जो अपने बेटे(ऋद्धि सेन) को लेकर बहुत प्रोटेक्टिव है|

कहानी के मुताबिक ईला ने अपने बेटे की परवरिश करने के लिए अपने करियर,

सपने , और अपनी खुद की जिंदगी को भी भुला दिया|  वह एक कामयाब सिंगर बनना चाहती थी|

लेकिन अपना करियर शुरू करने से पहले ईला ने अपने बॉयफ्रेंड अरुण(तोता राम चौधरी) से शादी करना

और घर बसाना ज्यादा ज़रूर समझा और यही उसकी सबसे बड़ी भूल बन गई|

शादी के बाद ईला अपने सपने को पूरा करने में लग जाती हैं|

हालात कुछ इस तरह बदलते हैं की जब ईला माँ बनने वाली होती है तो एक दिन अचानक से अरुण कहीं गायब हो जाता है

और फिर कभी लौट कर नही आता| इसके बाद ईला विवान में अपनी पूरी दुनिया समेट लेती हैं

और उसकी परवरिश में लग जाती है| दूसरी तरफ विवान को ईला का इस तरह उसकी जिंदगी में दखल देना

बिल्कुल पसंद नही होता हालांकि वह अपनी माँ से बहुत प्यार करता है,

लेकिन वह उम्र के ऐसे पड़ाव पर होता है जहाँ वह पूरी दुनिया सिर्फ अपनी नज़रों से देखना चाहता है|

कहानी में टर्निंग प्वाइंट उस वक्त आता है जब विवान के साथ और ज्यादा वक्त गुजारने की कोशिश में

ईला अपनी अधूरी स्टडी पूरी करने का फैसला करती है और अपने बेटे के ही कॉलेज में एडमिशन ले लेती है|

डायरेक्शन के मामले में फिल्म शुरूआती सीन में काफी अच्छी रही| वहीं इंटरवल के बाद कहानी को ज़बरन खींचा भी गया है|

हां, इस दौरान भी काजोल ने अपनी लाजवाब ऐक्टिंग से कई बार हंसाया और कई बार आंखें नम भी की।

अब देखते हैं यह फिल्म आपको कितनी पसंद आती है|

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: