breaking_newsअन्य ताजा खबरेंडाइटबीमारियां व इलाजलाइफस्टाइलहेल्थ

Health Special: इस दशहरा शरीर के अंदर बैठे इन रावणों का अंत करें

तंदुरस्त व फौलादी शरीर के लिए कुछ शक्तिशाली टिप्स

health-special-tips-and-suggestion-for-better-life-style

नई दिल्ली (समयधारा) :  एक बार फिर से वह समय आ गया है, जब पूरे देश में त्योहारों का मौसम है।

इन दिनों होने वाले कई सारे त्योहारों में दशहरा भी एक है, बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है।

प्रतीकात्मक रूप से, आज के कुछ रोगों के रूप में आज भी आधुनिक राक्षस हमारे बीच मौजूद हैं।

त्यौहार के इस सीजन में, रोगों से रोकथाम के उपाय करने और स्वस्थ जीवन शैली अपना कर रोग रूपी

राक्षसों पर विजय प्राप्त करने की आवश्यकता है।

सेहत के कुछ तथाकथित राक्षसों में से प्रमुख हैं – तनाव, धूम्रपान, शराब, नुकसान दायक आहार,

शारीरिक गतिविधि की कमी और मानसिक व शारीरिक कष्ट जिनकी हम अनदेखी करते रहते हैं।

 डिजिटल स्वास्थ्य।

 स्वास्थ्य जागरूकता, प्राचीन भारतीय चिकित्सा सूत्र

इस बारे में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ. के. के. अग्रवाल ने कहा,

“निवारक स्वास्थ्य आज के समय में अत्यधिक महत्व रखता है, क्योंकि गैर-संचारी रोगों का बोझ बढ़ रहा है।

कैसे जीवन शैली में बदलाव करके विभिनन रोगों से बचा जा सकता है।

प्राचीन भारतीय चिकित्सा पद्धतियों के बारे में, डिजिटल विधियों से सेहत की स्थिति की ट्रैकिंग,

 डिजिटल तरीकों को अपना कर लोगों को बेहतर और अधिक उत्पादक जीवन बिताने में सहूलियत होगी।

डॉ. अग्रवाल ने आगे कहा, “इस दशहरे पर, हमें अपनी जिंदगी से धूम्रपान और मदिरा पान जैसी बुरी चीजों को खत्म करने की प्रतिज्ञा लेनी चाहिए।

हमें ट्रांस फैट, सोडियम, और चीनी की अधिकता वाले भोजन की खपत को कम करना चाहिए।

संपूर्ण दृष्टिकोण के माध्यम से तनाव से निपटना और जीवन से क्रोध और नकारात्मकता को दूर करना महत्वपूर्ण है।

अधिकांश जीवनशैली रोग रोकथाम करने लायक और प्रबंधनीय होते हैं, बशर्ते आवश्यक एहतियाती उपाय किए जाएं।”

उन्होंने कहा, “हमें मोटापा, हृदय रोग, उच्च रक्तचाप और मधुमेह कम करने की दिशा में काम करना चाहिए।

जब हम यह सब करेंगे, तभी सही मायने में बुराई पर अच्छाई की जीत का सही अर्थ मिल पाएगा।”

health-special-tips-and-suggestion-for-better-life-style

कुछ स्वास्थ्य सुझाव :

* कार्यालय या घर पर काम करते समय थोड़ी-थोड़ी देर बाद छोटा सा ब्रेक लेकर तनाव से बचा जा सकता है।

कार्बोहाइड्रेट के लिए सफेद के बजाय ब्राउन ब्रेड लें, विटामिन सी के लिए नींबू व संतरा लें, मैग्नीशियम के लिए पालक लें।

स्वस्थ आहार और पर्याप्त नींद से सेरोटोनिन जैसे रसायनों का स्राव होता है, जो तनाव कम करता है।

* धूम्रपान से रक्तचाप बढ़ जाता है, हृदय गति बढ़ जाती है और मस्तिष्क में ऑक्सीजन की आपूर्ति कम हो जाती है।

आपको तुरंत इस लत से छुटकारा पाना चाहिए।

* शराब छोड़ दें, क्योंकि इससे हृदय की समस्याएं उत्पन्न हो सकती है,

और यह लीवर के सिरोसिस का कारण बन सकती है। यह मोटापे और डिप्रेशन की भी वजह बनती है।

* संतुलित आहार महत्वपूर्ण है। स्वस्थ भोजन का उपभोग करें, जिसमें आवश्यक पोषक तत्व हों।

एक ही बार में ढेर सारा खाने की बजाय थोड़े अंतराल पर कम मात्रा में खाना अच्छा रहता है।

पर्याप्त मात्रा में फल और सब्जियां लेना भी महत्वपूर्ण है। उच्च ट्रांस वसा, चीनी और सोडियम से युक्त भोजन का सेवन कम करना चाहिए।

* रोज कसरत करें। 5-मिनट तक तेज चलें और 10-मिनट तक शरीर को तानें व खींचे।

नियमित व्यायाम उच्च रक्तचाप और मोटापे को काबू रखता है।

(इनपुट समयधारा के पुराने पन्नो से)

health-special-tips-and-suggestion-for-better-life-style

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: