breaking_newsअन्य ताजा खबरेंबीमारियां व इलाजहेल्थ
Trending

प्रदूषण से पाना है छुटकारा तो एक मुट्ठी अखरोट रोजाना खाना

प्रदूषण से सही मायनों में बचना है तो जरूरी है कि आप ऐसे खाद्द पदार्थ खाएं जिससे आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता और पाचन तंत्र मजबूत हो

नई दिल्ली : Walnut benefits in air pollution- दिल्ली में वायु प्रदूषण (Air pollution) ने हवा को पूरी तरह जहरीला कर दिया है। मास्क एक हद तक आपका बचाव कर सकता है

लेकिन अगर प्रदूषण से सही मायनों में बचना है तो जरूरी है कि आप ऐसे खाद्द पदार्थ खाएं जिससे आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता और पाचन तंत्र मजबूत हो

और प्रदूषण (Pollution) के गंभीर प्रभाव आपके शरीर और स्वास्थ्य पर न पड़े। प्रूदषण से बचने के लिए अपने खाने में अखरोट को अवश्य शामिल करें (Walnut benefits in air pollution)

जी हां, अखरोट न केवल सर्दी के हिसाब से एक बेहतर मेवा है बल्कि प्रदूषण से बचाव में भी यह अहम भूमिका निभाता है। चलिए बताते है कि प्रदूषण से शरीर को बचाने में अखरोट कैसे फायदेमंद है (Walnut benefits in air pollution)

पिछले साल, कैलिफोर्निया वालनट कमीशन (सीडब्ल्यूसी) ने दिल्ली में रोगों की

रोकथाम और स्वास्थ्य में अखरोट की भूमिका पर चर्चा के लिए एक दिवसीय वैज्ञानिक एवं स्वास्थ्य शोध सम्मेलन की मेजबानी की।

चिकित्सा जगत के पेशेवरों ने कहा कि एक मुट्ठी अखरोट में 4 ग्राम प्रोटीन, 2 ग्राम फाइबर और मैग्नीशियम (10 प्रतिशत डीवी) होता है।

कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉ. एच.के. चोपड़ा ने कहा, “अखरोट (Akhrot) एकमात्र ऐसा फल है,

जिसमें पादप-आधारित ओमेगा-3 और अल्फा-लिनोलेनिक एसिड प्रचुर मात्रा में होता है,

जो मानव शरीर के लिए आवश्यक है। एक मुट्ठी अखरोट में 4 ग्राम प्रोटीन, 2 ग्राम फाइबर

और मैग्नीशियम (10 प्रतिशत डीवी) होता है। पोषक तत्वों की विविधता और प्रमुख व्यंजनों में

मिश्रण की योग्यता के साथ, अखरोट पूरे साल उपयोग के लिए आदर्श (Akhrot ke fayde) है।”

 

कैलिफोर्निया वालनट कमीशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मिशेल मैकनील कॉनेली ने कहा,

“यह वैज्ञानिक एवं स्वास्थ्य शोध सम्मेलन भारत में स्वास्थ्य की अवस्था, आहार पद्धति, स्थाई रोगों

और स्वस्थ जीवनशैली को बढ़ावा देने पर चर्चा के लिए एक मंच है।

प्रदुषण से शरीर को बचने में सहायक अखरोट, जानिए क्या है फायदे
प्रदुषण से शरीर को बचाने में सहायक अखरोट, जानिए क्या है फायदे

हमें आशा है कि यह सम्मेलन उन शोधकर्ताओं और चिकित्सा जगत के पेशेवर लोगों का

एक नेटवर्क बनाए रखने का मौका प्रदान करता है, जो भारत में अखरोट से संबंधित स्वास्थ्य शोध में योगदान दे सकते हैं।” 

कार्यक्रम में प्रख्यात शोधकर्ताओं और चिकित्सा जगत के पेशेवर लोगों ने भाग लिया।

( इनपुट एजेंसी से )

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: