breaking_newsअन्य ताजा खबरेंबीमारियां व इलाजहेल्थ
Trending

What..? आपके बच्चें के मंदबुद्धि व बीमार होने के कारण सबसे पहले आप…!!

अगर यह सब आप के बच्चों के साथ हो रहा है तो "स्तनपान जरुरी-नहीं मज़बूरी"

Is Your’s Child IQ level Low – Sick – Breast-Feeding

नई दिल्ली,21 जुलाई : क्या..? आपके बच्चें का IQ लेवल कम है? मंदबुद्धि भी है? बीमार होता रहता है? कसूरवार आप ..? 

अगर यह सब आप के बच्चों के साथ हो रहा है तो यह आर्टिकल आपके लिए है..?

आज में अपने सबसे अच्छे दोस्त पंकज के बारे में बात कर रहा हूँ  l 

मेरे दोस्त पंकज को अभी तीन महीने पहले ही राहुल नाम का लड़का हुआ l

सबकुछ अच्छा हुआ, काफी सालों बाद उसे लड़का हुआ था l

उसकी जिंदगी हंसी-ख़ुशी चल रही थी l 

पर अचानक उसकी खुशियों पर किसी की नजर लग गयी l

आज पंकज का इकलौता लड़का जो मन्नतों से मिला था, बीमार रहने लगा l

उनसे एक बहुत ही छोटी सी गलती हो गयी थी l

जिसका खामियाजा आज उसे दर-दर डॉक्टरों के पास जाकर भुगतना पड़ रहा है l

उसकी वाइफ अंजलि ने बच्चें को स्तनपान पैदा होने के एक महीने बाद लगभग बंद सा कर दिया था l

सामाज में पढ़े-लिखे होने के बावजूद शर्म के मारे अंजलि ने ऐसा किया l 

नतीजा उसका बच्चा बीमार रहने लगा और काफी रोता भी था l 

मुंबई के एक मशहूर डॉक्टर के एन वासवानी से जब मैंने इस बाबत बात की तो

उन्होंने इस और मेरा ध्यान दिलाया फीर जब पंकज से मैंने यह बात की तो उन्हें

उनकी इस छोटी सी गलती का अहसास हुआ और अब मेरा दोस्त पंकज अपने बच्चें के साथ बहुत ही खुश है l

स्तनपान 21वीं सदी में अपने निचले स्तर पर पहुंच गया है।

Is Your’s Child IQ level Low – Sick – Breast-Feeding

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, ज्यादातर देशों में प्रथम छह महीने में सिर्फ स्तनपान कराने की दर 50 प्रतिशत से भी नीचे है।

इस स्थिति की गंभीरता का अनुमान इस तथ्य से लगाया जा सकता है कि

अब हम जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल एक अगस्त से आठ अगस्त तक स्तनपान सप्ताह मनाते हैं।

आईवीएच सीनियर केयर में वरिष्ठ न्यूट्रिशन एडवाइजर डॉक्टर मंजरी चंद्रा ने कहा,

“गर्भधारण से शुरू होकर दूसरे जन्मदिन तक जीवन के

प्रथम हजार दिनों में पोषण की आपूर्ति से दीर्घकालीन स्वास्थ्य की नीव पड़ती है।

स्तनपान इस प्रारंभिक पोषण का एक आवश्यक हिस्सा है,

क्योंकि मां का दूध पोषक तत्वों और बायोएक्टिव निर्माण कारकों का एक बहुआयामी मिश्रण है,

जो जीवन के शुरुआती छह महीनों में एक नवजात शिशु के लिए आवश्यक है।”

Is Your’s Child IQ level Low – Sick – Breast-Feeding

उन्होंने कहा कि मां का दूध मैक्रोन्यूट्रिएंट्स, माइक्रोन्यूट्रिएंट्स,

बायोएक्टिव घटकों, वृद्धि के कारकों और रोग प्रतिरोधक घटकों का एक मिश्रण होता है।

यह मिश्रण एक जैविक द्रव पदार्थ है, जिससे आदर्श शारीरिक और मानसिक वृद्धि में मदद मिलती है

और बाद के समय में शिशु को मेटाबॉलिज्म से जुड़ी बीमारी की आशंका खत्म हो जाती है।

चंद्रा के अनुसार, जिन बच्चों को केवल मां का दूध नहीं दिया जाता है,east 

उन्हें संक्रमण का खतरा होता है और उनका आईक्यू भी कम रह सकता है।

उनकी सीखने की क्षमता कम होती है और स्कूल में उन बच्चों के मुकाबले

उनका प्रदर्शन कमजोर रहता है, जिन्हें पहले छह महीने सिर्फ मां का दूध मिला है।

Is Your’s Child IQ level Low – Sick – Breast-Feeding

डब्ल्यूएचओ के आंकड़ों के मुताबिक, हर साल दो करोड़ से अधिक शिशुओं का वजन जन्म के समय 2.5 किलोग्राम से कम रहता है

और दुर्भाग्य से इनमें से 96 प्रतिशत विकासशील देशों में हैं।

बचपन में इन शिशुओं में सामान्य विकास में कमी, संक्रामक बीमारी,

धीमी वृद्धि और मृत्यु होने का जोखिम अधिक होता है।

ऐसे पर्याप्त प्रमाण मिले हैं जिनसे इन शिशुओं में जीवन के प्रथम 24 घंटों में स्तनपान का महत्व उजागर होता है।

जिन शिशुओं को जन्म के 24 घंटे के भीतर स्तनपान कराया जाता है,

उनमें उन बच्चों के मुकाबले मृत्यु दर कम देखने को मिली है, जिन्हें 24 घंटे बाद स्तनपान कराया जाता है।

वरिष्ठ शिशु चिकित्सक और ब्रेस्टफीडिंग प्रमोशन नेटवर्क ऑफ इंडिया (बीपीएनआई) के

संयोजक डॉक्टर अरुण गुप्ता के मुताबिक, “स्तनपान बच्चे के स्वास्थ्य, उसके जीवित रहने और विकास के लिए आवश्यक है।

इसके बावजूद भारत में हर पांच में से तीन महिलाएं जन्म के एक घंटे के भीतर स्तनपान शुरू करने में समर्थ नहीं हैं।

केवल एक-दो महिलाएं ही प्रथम छह महीने तक अपने बच्चे को केवल अपना दूध पिलाती हैं।

इसकी वजह यह है कि महिलाओं को घर, दफ्तर और अस्पतालों में स्तनपान के लिए विभिन्न अड़चनों का निरंतर सामना करना पड़ता है।”

Is Your’s Child IQ level Low – Sick – Breast-Feeding

डॉ. चंद्रा ने कहा, “स्तनपान कराने वाली माताओं को प्रतिदिन उन विटामिन

सप्लीमेंट्स को लेना जारी रखने की सलाह दी जाती है, जो उन्होंने प्रसव पूर्व लिया था।

विटामिन मां के दूध में स्रवित होते हैं और मां के शरीर में पोषक तत्वों की कमी से

सीधे तौर पर उनका दूध प्रभावित होता है। “स्तनपान जरुरी-नहीं मज़बूरी – BreastFeeding ” 

शाकाहारी माताओं को विटामिन डी, बी12 और कैल्शियम की भी आवश्यकता होती है।”

उन्होंने कहा, “स्तनपान कराना माताओं के लिए भी समान रूप से महत्वपूर्ण है

और इससे कई अल्पकालीन एवं दीर्घकालीन लाभ हैं।

माताओं को तत्काल होने वाले लाभों में प्रसव के उपरांत वजन में कमी और मां एवं शिशु के बीच गहरा रिश्ता शामिल है।

गर्भावस्था के समय गर्भाशय में नए जीवन को सहयोग के लिए कई शारीरिक बदलाव होते हैं। गर्भावस्था के दौरान शरीर हाइपरलिपिडेमिक और इंसुलिन रोधक चरण से गुजरता है,

जिससे बाद के जीवन में ह्रदय रोग और टाइप-2 मधुमेह की आशंका बढ़ती है।

स्तनपान से लंबे समय में मेटाबॉलिक और ह्रदय की बीमारियांे

का जोखिम घटते देखा गया है और यह टाइप-2 मधुमेह के जोखिम में 4-12 प्रतिशत की कमी लाने से जुड़ा है।” 

Is Your’s Child IQ level Low – Sick – Breast-Feeding

इसे भी पढ़े : क्या आपके घर में भी है चूहे तो जरुर पढ़े यह खबर

यह भी पढ़े : क्या आपको भी होता है माइग्रेन? तो कान की खराबी हो सकता है कारण

इसे भी पढ़े : आंखों की रोशनी रखनी है बरकरार, रोजाना खाएं एक संतरा हर बार…

(इनपुट आईएएनएस से भी)

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: