breaking_newshindiब्लॉग्सविचारों का झरोखा
Trending

समयधारा की दूसरी वर्षगांठ: अथक परिश्रम, ईमानदारी, आत्मविश्वास है ‘समयधारा’ की पहचान

“फुर्सत के वो झण कहाँ जो,आराम से बीता ले,

काम है अभी बहुत,कंधे कैसे झुका ले”

यही लगा कल ‘समयधारा डिजिटल न्यूज पोर्टल’ के ऑफिस में जाकर । मौका था- समयधारा की दूसरी वर्षगांठ का। वहाँ मुलाकात हुई समयधारा की फांउडर व एडिटर रीना आर्य और को-फाउंडर व सीईओ धर्मेश जी से। जो काम का जज्बा उनके अंदर दिखाई दिया, आज की युवा पीढ़ी में बहुत कम देखने को मिलता है।

बेहद मिलनसार व्यक्तित्व है दोनों का। बस इक लग्न है अपने सपनों को नया मुकाम देने की। अपने स्टाफ के लोगों को बिल्कुल परिवार की तरह एकजुट रखना उनकी सबसे बड़ी खूबी लगी।
उनके बुलंद हौसलों को देख कर किसी के भी अंदर जोश व जज्बा भर जायें। बात-बात में पता चला कि यह दोनों रातों को जागकर काम करने की क्षमता रखते हैं।
उनका फुर्तीलापन व इक-दूसरे के लिए हर वक्त सहयोग की भावना साफ झलकती हैं। यह भी साफ महसूस हुआ कि वे इक दूसरे के पूरक है।
samaydhara-2nd-year-anniversary-celebration-hard-workhonesty-and-self-confidence-named-samaydhara
समयधारा का पूरा परिवार
समयधारा से जुड़े हुए मुझे मुश्किल से एक महीना हुआ है, पर लगता है की यह एक सही निर्णय था इससे जुडऩे का।सच्चाई को सामने रखना,सही-गलत का फैसला और न्यूज को बगैर तोड़-मोड़ के पेश करने में सबसे अहम भूमिका रही है ‘समयधारा’ की।
और वह दिन दूर नहीं जब वे लोग कामयाबी की बुलंदियों पर होंगे। यह न्यूज पोर्टल सिर्फ न्यूज पोर्टल न रह कर लोगों की आदत व जरूरत बन जाएगा। शायद मेरा कुछ भी कहना कम होगा।
उनके मंसूबों को देख कर लगता है कि इसां के सिर्फ़ आशावादी होने से मंजिल नहीं मिलती वरन् उसको अंजाम देने के लिए कठोर परिश्रम की भी जरूरत होती है। आत्मविश्वास विश्वास इसां के कामयाबी की पहली सीढ़ी है जो उन लोगों में कूट-कूट कर भरा है।
Samaydhara 2nd year anniversary celebration-hard work,honesty and self confidence named Samaydhara
उनके मजबूत इरादे ही समयधारा की कामयाबी का एक दिन कारण व मकसद बन जायेंगे।
          मेरी हर शुभकामनाएं उनके साथ हैं। अगर इच्छा दृढ़ हो तो मेरू में भी पानी निकल जाता है। सब नजरिये की बात है कैक्टस भी खूबसूरत बन जाता है।
उनके मजबूत इरादे ही ‘समयधारा’ की ‘कामयाबी’ का एक दिन कारण व मकसद बन जायेंगे।
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: