breaking_news Home slider राजनीतिक खबरें विश्व

नोटबंदी पर विरोध जताते हुए रूस ने ‘काउंटर स्टेप’ की दी चेतावनी

रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन (बाएं) और प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (दाएं) साभार-गूगल

नई दिल्ली, 7 दिसंबर: नोटबंदी से सिर्फ भारत में ही हाहाकार नहीं मच रहा बल्कि रूस ने भी नोटबंदी पर सख्त रूख अपनाया है। रूस ने राजनयिक स्तर पर अपना विरोध स्वर मुखर किया है और कहा है कि वह भारत के नोटबंदी पर काउंटर स्टेप ले सकता है क्योंकि नोटबंदी के कारण उसके राजनयिकों को दिल्ली में नकदी के लिए किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। गौरतलब है कि दिल्ली में रूसी दूतावास में तकरीबन 200 लोग कार्यरत है।

दरअसल, भारत में 8 नवंबर से शुरू हुए नोटबंदी के फैसले के बाद दूतावास द्वारा सप्ताह में ज्यादा से ज्यादा 50,000 रूपये की निकासी सीमा तय होना ‘अंतर्राष्ट्रीय चार्टर का उल्लंघन’ बताया गया है। इसकी जानकारी रूसी सरकार से जुड़े सूत्रों ने दी। सूत्रों के अनुसार, एक लोकप्रिय राष्ट्रीय चैनल को दिए साक्षात्कार में रूसी दूतावास के एलेक्जेंडर कदाकिन ने भारतीय विदेश मंत्रालय को 2 दिसंबर को एक पत्र लिखा और अब उसके जवाब का इंतजार कर रहे है, इतना ही नहीं रूसी सरकार नोटबंदी पर विरोध दिखाने के लिए भारतीय राजनयिक को तलब कर सकती है।

रूसी राजदूत द्वारा लिखे पत्र में कहा गया है कि भारत सरकार द्वारा तय की गई यह सीमे पूरी तरह नाकाफी है, बल्कि ये पैसे तो एक ठीकठाक से डिनर का बिल चुकाने के लिए भी काफी नही है।रूसी राजदूत ने सवालिया लहजे में पूछा बिना नकदी इतना बड़ा दूतावास दिल्ली में कैसे काम करेगा?

हालांकि वित्त मंत्रालय ने इस बाबत कोई ऑफिशियल टिप्पणी नहीं की है।

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment