breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

जस्टिस गोगोई मामले में कल भी सुनवाई,वकील को एफिडेविट दाखिल करने का आदेश

Court decision to investigate full inquiry into allegations and reactions of CJI Ranjan Gogoi

नई दिल्ली, 24 अप्रैल (समयधारा)  : जस्टिस गोगोई के पूरे मामले में साजिश का दावा करने बाले वकील बैंस को

गुरूवार सुबह तक एक और एफिडेविट दाखिल करने का सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया l

कोर्ट ने कहा की वह साजिश या सनसनीखेज दावा जो भी उसकी जड़ तक जायेंगे l

किस को भी न्यायपालिका से छेड़छाड़ नहीं करने देंगे l  कोर्ट ने यह आदेश  बुधवार को सुनवाई के दौरान बैंस ने दावों के बाद किया

गौरतलब है की बैंस ने दावा किया था कि उनके पास इस साजिश को साबित करने के लिए कुछ और पुख्ता सबूत मौजूद हैं।

इसके बाद कोर्ट ने उन्हें इसके लिए ऐफिडेविट दाखिल करने को कहा।

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोप को कथित तौर पर साजिश बताए जाने

और सनसनीखेज दावों की सुप्रीम कोर्ट ने पूरी पड़ताल करने का फैसला लिया है।

उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि वह कथित साजिश और सनसनीखेज दावों की जड़ तक जाएगा।

जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन जजों की पीठ ने कहा कि जैसा कि दावा किया जा रहा है,

यदि फिक्सर अपने हिसाब से न्यायपालिका के साथ छेड़छाड़ करते रहते हैं तो फिर न यह संस्थान और न ही हम लोगों में से कोई बच पाएगा। 

Court decision to investigate full inquiry into allegations and reactions of CJI Ranjan Gogoi

इससे पहले,

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के यौन उत्पीड़न मामले में 3 बजे सुनवाई होनी है l

सुप्रीम कोर्ट ने चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को यौन उत्पीड़न में फंसाने की बड़ी साजिश की एक वकील के दावे के संबंध में

CBI, IB और दिल्ली पुलिस के चीफ को समन जारी किया है।

बुधवार को कोर्ट ने इन्हें मामले की सुनवाई कर रहे जजों से उनके चैंबर में जाकर मिलने का निर्देश दिया है।

 

जस्टिस अरूण मिश्रा, जस्टिस आर एफ नरीमन और जस्टिस दीपक गुप्ता की स्पेशल बेंच ने कहा कि सीबीआई

और इंटेलीजेंसी ब्यूरो के डायरेक्टरों और दिल्ली के पुलिस कमिश्नर के साथ वह एक गोपनीय बैठक करेंगे।

कोर्ट ने कहा कि यह कोई जांच नहीं है। वो इन अधिकारियों से गोपनीय मुलाकात कर रहे हैं

क्योंकि वो नहीं चाहते कि कोई भी साक्ष्य सार्वजनिक हो।

बेंच ने निर्देश दिया कि ये अधिकारी दोपहर साढ़े बारह बजे जजों के चेंबर में मिलेंगे

और इसके बाद तीन बजे इस मामले की आगे सुनवाई होगी।

Court decision to investigate full inquiry into allegations and reactions of CJI Ranjan Gogoi

(इनपुट एजेंसी से)

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: