breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूज
Trending

IT के 12 अधिकारीयों की छुट्टी,नियम 56 के तहत हुई कार्रवाई,जानियें क्या है नियम 56

modi-govt-dismisses-12-senior-income-tax-officers-for-corruption-misconduct

नई दिल्ली, 11 जून(समयधारा) :  IT के 12 अधिकारीयों की छुट्टी, नियम 56 के तहत हुई कार्रवाई  l

मोदी सरकार ने अपने  दूसरे कार्यकाल में भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ एक्शन लेना शुरु कर दिया है।

इसी की तहटी मोदी सरकार ने इनकम टैक्स के 12 अधिकारियों को भ्रष्टाचार, यौन उत्पीड़न,

जबरन वसूली, आय से अधिक संपत्ति पाये जाने पर सरकार ने इनकी छुट्टी कर दी है।

नपने वाले अफसरों को इस लिस्ट में  कई बड़े इनकम टैक्स ऑफिसर है l इनमे ज्वाइंट कमिश्नर रैंक के एक अधिकारी हैं,

जिनके खिलाफ भ्रष्टाचार और तांत्रिक चंद्रास्वामी की मदद करने वाले कारोबारियों से जबरन वसूली की गंभीर शिकायतें मिली थी।

एक IRS रैंक के अधिकारी हैं, जिनकी नोएडा में तैनाती थी। इन पर कमिश्नर रैंक की दो IRS

महिला अधिकारियों पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगा था। इन्हें जबरन रिटायर किया गया है।

सभी अधिकारी आयकर विभाग में कार्यरत थे।

एक कमिश्नर रैंक के अधिकारी हैं, जिन परCBI ने आय से अधिक संपत्ति का केस दर्ज किया था। 

इनमें चीफ कमिश्नर, प्रिंसिपल कमिश्नर और कमिश्नर रैंक के अधिकारी शामिल हैं।

इन अधिकारियों को वित्त मंत्रालय के नियम 56 के तहत रिटायर (सेवानिवृत्त) किया गया है।

modi-govt-dismisses-12-senior-income-tax-officers-for-corruption-misconduct

इन भ्रष्ट कर्मचारियों पर वित्त मंत्रालय ने अपनी तरफ से जांच की थी।

जांच के बाद कठोर कदम उठाया गया है। सरकार ने इन्हें नियम 56 के तहत रिटायर किया है। 

अब आपको बता दे की क्या है नियम 56 और इस नियम के तहत क्या है सरकार के पास अधिकार 

नियम 56 का प्रयोग ऐसे अधिकारियों पर किया जाता है जो 50-55 साल की उम्र के हों

और 30 साल कार्यकाल पूरा कर चुके हों। सरकार ऐसे अधिकारियों के अनिवार्य रिटायरमेंट कर सकती है।

ऐसे करने के पीछे सरकार का मकसद अच्छा पर्फार्मेंस न करने वाले सरकारी कर्मचारियों अधिकारियों को रिटायर करना होता है।

ये नियम बहुत पहले से लागू है। इस नियम का उपयोग सरकार कभी भी कर सकती है l 

modi-govt-dismisses-12-senior-income-tax-officers-for-corruption-misconduct

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: