breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

टीचर्स जिन्होंने दुनिया में किया भारत का नाम रोशन

Teachers who made India famous in the world

teachers-day-special-teacher-made-india-famous-in-world

नई दिल्ली,(समयधारा) : Teacher’s Day Special – शिक्षकों के मामले में भारत कभी भी पिछड़ा हुआ देश नहीं रहा है।

प्राचीन काल से ही भारत में ऐसे ऐसे शिक्षक रहे हैं जिन्होंने देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अपना नाम रोशन कर दिखाया है।

भारतीय शिक्षक अनंत काल से ही अपने विचारों से देश को ही नहीं बल्कि विदेशों को भी प्रभावित करते आए हैं।

एक अध्यापक मात्र 2 लोगों को ही अपने विचारों से प्रभावित नहीं करता है अपितु एक पूरी पीढ़ी को अपने विचारों से प्रोत्साहन देता है।

आज हम कुछ ऐसे ही अध्यापकों के बारे में आपको बताने वाले हैं जिन्होंने भारत देश के साथ-साथ विदेशों में भी

अपने ज्ञान का परचम लहराया है। उन्होंने सदैव ही अपने ज्ञान से अज्ञानता के अंधेरे को दूर किया है,

और लोगों के जीवन में प्रकाश फैलाया है। आइए जानते हैं कौन से हैं वे महान अध्यापक…

 डॉ एपीजे अब्दुल कलाम

भारत के लाखों लोगों की प्रेरणा बनने वाले डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम को भारत में ही नहीं बल्कि,

विदेशों में भी “मिसाइल मैन” के नाम से जाना जाता है। वे भारत के 11वें राष्ट्रपति रह चुके हैं,

और साथ ही भारत में होने वाली अंतरिक्ष से जुड़ी ग्रंथियों में अपना नेतृत्व अहम रूप से निभा चुके हैं। हमेशा से ही

उन्हें एक शिक्षक बनने का शौक था और उन्होंने अपने इस जज्बे को आगे बढ़ाते हुए एक शिक्षक के रूप में

अपना नाम देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी रोशन किया। वे शिक्षा के महत्व को जानते थे,

इसलिए उन्होंने एयरोस्पेस से अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की जिसके  बाद वे एक महान वैज्ञानिक बन गए।

वैज्ञानिक के तौर पर उन्हें डीआरडीओ में शामिल होने का मौका मिला। वे एक ऐसे साइंटिस्ट थे,

जिन्होंने देश के अंतरिक्ष अनुसंधान के साथ जोड़कर कई सारी परियोजनाओं को पूरा किया।

साथ ही उन्होंने नासा और इसरो जैसी बड़ी अंतरिक्ष अनुसंधानों के साथ मिलकर भी कई सारी परियोजनाओं में उनकी सहायता की।

उनके महान कार्य की वजह से वह आज भी विदेशों में अपने एक अलग नाम से जाने जाते हैं।

स्वामी विवेकानंद

स्वामी विवेकानंद भारत के एक अध्यात्मिक नेता होने के साथ-साथ एक आदर्शवादी शिक्षकों में से एक रहे चुके हैं।

उन्होंने मानव जीवन को करियर की नई राह दिखाते हुए उनको सीखने के नए नियम भी दिए।

जबकि वे एक संस्कृत के प्रोफ़ेसर रह चुके थे। उन्होंने देश नहीं बल्कि विदेशों में भी ऐसी सोसाइटी का निर्माण किया

जो मानव हित में अपना योगदान देती थी। उन्होंने रामकृष्ण मिशन की स्थापना भारत में ही नहीं बल्कि,

वेदांत सोसाइटी ऑफ न्यूयॉर्क में भी की। आज भी उनके योगदान को पूरे भारत में एक पाठ की तरह भारतीय द्वारा सीखा जाता है

और साथ ही विदेशों में भी उनके द्वारा बताए गए नियमों का पालन किया गया।

बाद में उन्होंने संयुक्त राज्य अमेरिका की यात्रा की, जो 1893 में विश्व धर्मों की संसद में भारत का प्रतिनिधित्व करता था।

विवेकानंद ने हिंदू दर्शन के सिद्धांतों का प्रसार करते हुए सैकड़ों सार्वजनिक और निजी व्याख्यान और कक्षाएं आयोजित की।

संयुक्त राज्य अमेरिका, इंग्लैंड और यूरोप जैसे देशों में वे बहुत मशहूर हुए। भारत में, विवेकानंद को एक देशभक्त संत माना जाता है ,

और उनके जन्मदिन को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है ।

Teacher’s Day Special : 5 टीचर जो भारत में बड़े बदलाव का कारण बनें

5 सितम्बर राशिफल : जानिए कैसा होगा आज आपका दिन-गुरुवार

Google ने एनिमेटेड Doodle बनाकर Teachers’ Day 2019 को किया सेलिब्रेट

teachers day special: गुरू बिन ज्ञान न उपजै, गुरू बिन मिलै न मोष।

Teachers Motivation Quotes : हमारा मार्गदर्शक बनने,हमें प्रेरित करने और.. 

Teachers Day Special : शिक्षक का आदर्श जीवन संपूर्ण मानवता के लिए प्रेरणास्रोत

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: