Trending

बड़ी खबर-पाकिस्तान में भी अटलजी की मौत पर शोक की लहर

पूरे विश्व में देश-विदेश में शोक की लहर,आम या tख़ास भारतरत्न अटल जी रुला गए सबको...

Atal Bihari Vajpayeepassesaway

नई दिल्ली, 16 अगस्त : बड़ी खबर-पाकिस्तान में भी अटलजी की मौत पर शोक की लहर l

 पूरे विश्व में देश-विदेश में शोक की लहर,आम या ख़ास भारतरत्न अटल जी रुला गए सबको…

पूर्व प्रधानमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अटल बिहारी वाजपेयी का किडनी और मूत्रनली में

इंफेक्शन के चलते 16 अगस्त 2018 को निधन हो गया। अटल बिहारी की मृत्यु पर सभी नेताओं ने शोक व्यक्त किया।

भारतीय जनसंघ के संस्थापक सदस्य ‘श्री अटल बिहारी वाजपेयी’ के निधन से देश में राजनीति के एक युग का अंत हो गया।

रतन टाटा ने यह ट्वीट किया l 

पूर्व राष्ट्रपति प्रणय मुखर्जी ने यह कहा l 

जानें किस नेता ने क्या कहा- अमित शाह ने यह ट्वीट किया l 

प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के ट्वीट

राष्ट्रपति कोविंद जी का ट्वीट

उपराष्ट्रपति नायडू ने यह कहा 

कांग्रेस की तरफ से यह बयान आया

शरद पवार, अशोक गहलोत,संबित पात्रा, सुरेश प्रभु,bcci,देवेन्द्र फड़नवीस, नविन पटनायक, धनुष , मनोहर पर्रीकर,रवि शंकर प्रसाद व कई नामी-गिरामी लोगों ने अपना शोक जताया l 

अटल बिहारी वाजपेयी पेशे से भले ही राजनीतिज्ञ हो लेकिन वे दिल से एक कवि थे। उन्हें भारतीय जनता पार्टी का संस्थापक सदस्य कहा जाता है।

गौरतलब है कि 93 वर्षीय भाजपा नेता की हालत बुधवार 15 अगस्त की शाम से ही बेहद नाजुक चल  थी।

प्रधानमंत्री मोदी समेत भाजपा के कई केंद्रीय मंत्रियों ने एम्स पहुंचकर पूर्व प्रधानमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ संस्थापक सद्स्य के स्वास्थ्य का हाल जाना था। इसी के साथ लाल कृष्ण आडवाणी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, सुषमा स्वराज और राजनाथ सहित सभी वरिष्ठ भाजपा नेता और विपक्षी अटल बिहारी को देखने एम्स पहुंचे थे।

Former PM Atal Bihari Vajpayee passes away, Politicians mourn,know what leader said about him
अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया (साभार-गूगल सर्च)

गौरतलब है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत गुरुवार को भी नाजुक बनी हुई थी। वह पिछले नौ सप्ताह से एम्स में भर्ती थे।

एम्स की ओर से बुधवार देर रात जारी बयान के मुताबिक, “अटल बिहारी वाजपेयी की हालत बीते 24 घंटों में और खराब हुई थी। उनकी हालत नाजुक है और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया थी।”

गुरुवार को उपराष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडू भी वाजपेयी (93) का हालचाल जानने के लिए एम्स पहुंचे।

नायडू सुबह 6.30 बजे एम्स पहुंचे जबकि अमित शाह सुबह 8.30 बजे एम्स पहुंचे। इसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी.नड्डा एम्स पहुंचे।

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई नेतागण वाजपेयी के स्वास्थ्य का हालचाल जानने के लिए एम्स पहुंचे।

वाजपेयी मधुमेह के मरीज हैं और उनका 11 जून से एम्स में इलाज चल रहा था।

वाजपेयी का जन्म 1924 में हुआ था। उनका एम्स में डॉ. रणदीप गुलेरिया की निगरानी में इलाज हो रहा है, जो एम्स के निदेशक भी था।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को एम्स पहुंचकर वाजपेयी का हालचाल जाना था।

मध्यप्रदेश के ग्वालियर में एक गरीब ब्राह्मण परिवार में 25 दिसंबर 1924 को अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म हुआ था। अटल जी का कवि बनना जन्म से ही तय था क्योंकि उनके पिता कृष्‍ण बिहारी वाजपेयी भी ब्रज भाषा व हिंदी के कवि थे। अटल जी के पिता गांव के एक स्कूल में अध्यापक का काम करते थे।

 (इनपुट आईएएनएस से भी)

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close