breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिलोकसभा चुनाव 2019

Breaking : विपक्षी पार्टियों की EVM-VVPAT पर याचिका रद्द

विपक्षी पार्टियों की EVM और VVPAT मिलान की पुनर्विचार याचिका आज कोर्ट ने ख़ारिज कर दी

breaking-21-opposition-party-evm-vvpat-petition-rejected-by-court

नई दिल्ली, 7 मई (समयधारा) : विपक्षी पार्टियों की EVM पर याचिका रद्द l 

विपक्षी पार्टियों की EVM और VVPAT मिलान की पुनर्विचार याचिका आज कोर्ट ने ख़ारिज कर दी l

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने पिछले आदेश में लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वालीं

सभी विधानसभाओं के 5 बूथों पर ईवीएम(EVM) और वीवीपैट(VVPAT) का मिलान करने का आदेश दिया था l

जिसपर विपक्षी पार्टियों ने फिर से पुनर्विचार याचिका डाली थी जिस पर आज सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला दिया l 

इससे पहले, 

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, अब हर विधानसभा में 5 बूथों पर VVPAT-EVM का मिलान करने का निर्देश दिया l 

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को चुनाव आयोग को ईवीएम(EVM) और वीवीपैट(VVPAT) के मिलान का दायरा बढ़ाने के लिए कहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को निर्देश दिया है कि लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वालीं

सभी विधानसभाओं के 5 बूथों पर ईवीएम(EVM) और वीवीपैट(VVPAT) का मिलान किया जाए। 

गौरतलब है कि इससे पहले हर विधानसभा के 1 पोलिंग बूथ पर ही पर्चियों का मिलान होता था।

breaking-21-opposition-party-evm-vvpat-petition-rejected-by-court

इस व्यवस्था के खिलाफ 21 विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी।

विपक्षी दलों ने मौजूदा लोकसभा चुनाव में नतीजे से पहले 50% ईवीएम और वीवीपैट का मिलान करने की मांग की थी। 

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच विपक्षी पार्टियों की 50% पर्चियों के मिलान की मांग पर सहमत नहीं हुई।

बेंच ने कहा, इसके लिए बड़ी संख्या में लोगों की जरूरत पड़ेगी, बुनियादी ढांचे को देखते हुए ये मुमकिन नहीं लगता।

इससे पहले सुनवाई के दौरान चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि

वीवीपैट(VVPAT) स्लिप गिनने का मौजूदा तरीका सबसे उपयुक्त मौजूदा प्रणाली के मुताबिक,

विधानसभा चुनाव में एक पोलिंग बूथ पर ईवीएम और वीवीपैट पर्चियों का मिलान होता है।

breaking-21-opposition-party-evm-vvpat-petition-rejected-by-court

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: