breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशबिजनेसबिजनेस न्यूजराजनीति
Trending

बैन रुपयों का 99.30 प्रतिशत नोटबंदी के बाद बैंकों में लौटा,क्या अब मोदी मांगेगे माफी: कांग्रेस

RBI की रपट ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि नोटबंदी मोदी निर्मित भयानक आपदा थी

नई दिल्ली, 30 अगस्त: Congress, PM Modi, RBI, note ban– कांग्रेस (Congress) प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया, “RBI की रपट ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि नोटबंदी (note ban) मोदी (PM Modi) निर्मित भयानक आपदा थी! 99.30 प्रतिशत विमुद्रित धन वापस आ गया! मोदी ने 2017 में स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण में लंबे-चौड़े दावे किए थे कि व्यवस्था में तीन लाख करोड़ रुपये वापस आ रहे हैं! मोदीजी, क्या आप इस झूठ के लिए अब माफी मांगेंगे?”

Congress ask apology from PM Modi as RBI says 99.3 percn rupees returned after note ban
कांग्रेस के नेता व प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (File Photo: IANS)

कांग्रेस (Congress) ने बुधवार को नोटबंदी (note ban) को लेकर

केंद्र सरकार पर हमला बोला, और कहा कि RBI की रपट ने एक बार

फिर साबित कर दिया है कि नोटबंदी एक भयानक आपदा थी।

इसके साथ ही कांग्रेस ने सवाल किया कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

इस मुद्दे पर झूठ बोलने के लिए माफी मांगेंगे? 

RBI ने बुधवार को घोषणा की कि 2017-18 की उसकी रपट के अनुसार,

अमान्य किए गए 500 रुपये और 1000 रुपये के नोटों की सत्यापन प्रक्रिया

पूरी होने के बाद पाया गया कि आठ नवंबर, 2016 को नोटबंदी के समय चलन में

रहे विमुद्रित (Noteban) 15.41 लाख करोड़ रुपये में से 15.31 लाख करोड़ रुपये

यानी 99.3 प्रतिशत मुद्रा बैंकिंग प्रणाली में वापस आ गई है।

–आईएएनएस

यह भी पढ़े: “नोटबंदी, खामियों से भरी जीएसटी, कर आतंकवाद,और अब बढ़ती महंगाई

यह भी पढ़े: नोटबंदी सबसे बड़ा जुआं था, कालेधन आना तो दूर स्विस बैंक में पैसा बढ़ा: सीपीएम

यह भी पढ़े: कई विदेशी संस्थान भारत के विकास की सराहना करते हैं, नोटबंदी,GST-PM के क्रांतिकारी कदम : वेंकैया

यह भी पढ़े: खाली एटीएम नोटबंदी के दिनों की याद दिला रहे : ममता

यह भी पढ़े:नोटबंदी एक गलत योजना, मैंने सरकार को चेताया था : रघुराम राजन

यह भी पढ़े: नोटबंदी वाली फाइल कूड़े में डालता, नोटबंदी के साथ यही होना चाहिए था

Watch This:

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: