breaking_newsHome sliderदेशराजनीति

62,000 करोड़ रुपये के कर्ज में डूबी सरकार महज दिखावे के लिए 1250000000 रुपये पीएम की भीड़ पर खर्च करने जा रही है: कांग्रेस

भोपाल, 14 मई:  मध्यप्रदेश सरकार की ‘नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा’ के समापन मौके पर अमरकंटक में भीड़ जुटाने की जी-तोड़ कोशिशें जारी हैं, क्योंकि इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आने वाले हैं। हर जिले को भीड़ जुटाने का लक्ष्य दिया गया है। विपक्षी कांग्रेस का आरोप है कि भीड़ जुटाने के लिए 125 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने रविवार को एक बयान जारी कर कहा, “नर्मदा को प्रदूषण मुक्त करने का दावा किया जा रहा है, जबकि सच्चाई कुछ और है। स्वयं मुख्यमंत्री 15 मई को अमरकंटक में मोदी के सामने अपना कद दिखाने के लिए अमरकंटक जैसी पवित्र नगरी और नर्मदा तट को प्रदूषित करने जा रहे हैं।”

नेता प्रतिपक्ष का आरोप है कि अमरकंटक में कार्यक्रम के आयोजन के लिए 51 जिलों से 5311 बसों पर 53 करोड़ 11 लाख और प्रति व्यक्ति को प्रशिक्षण के नाम पर 500 रुपये के मान से 16 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। इसके अलावा लगभग 5 लाख लोगों के लिए बोतलबंद पीने के पानी, चार वक्त के खाने और तीन वक्त के नाश्ते पर ही 50 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे। इतना ही नहीं, प्रधानमंत्री की सुरक्षा तथा अन्य तामझाम व अन्य वीआईपी पर 20 करोड़ रुपये से अधिक खर्च हो रहा है।

सिंह ने आगे कहा कि दिखावे के नाम पर 125 करोड़ रुपये वह सरकार खर्च करने जा रही है, जो खुद एक लाख 62 हजार करोड़ रुपये के कर्ज में डूबी है, लेकिन प्रदेश को स्वर्णिम बनाने का दावा कर रही है।

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन को दिए गए लक्ष्य के आधार पर पत्र जारी किए गए हैं। अशोकनगर के जिला परिवहन अधिकारी के पत्र में 40 यात्री वाहनों के लिए 19 लाख और सिंगरौली के जिलाधिकारी ने 200 वाहनों के लिए 86 लाख साठ हजार रुपये शासन से मांगे हैं।

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: