breaking_news Home slider अन्य ताजा खबरें देश राजनीति

सच यह है कि मिलने में कई साल लग गए,10-20-50 नहीं 70 साल : मोदी

साभार गूगल

जेरुसलम, 6 जुलाई :  तीन दिन के इजरायल दौरे पर पहुंचे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दौरे के अपने आखिरी संबोधन में बुधवार को भारत और इजरायल के बीच संबंधों की गहनता जिक्र किया और कहा कि दोनों देशों के संबंध 800 साल पुराने हैं। इजरायल में रह रहे अनिवासी भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने अब तक किसी भारतीय प्रधानमंत्री के इजरायल का दौरा न करने का जिक्र भी किया।

मोदी ने कहा, “सलाम! 70 वर्षो में पहली बार किसी भारतीय प्रधानमंत्री का आना, ये अपने आप में एक खुशी का भी अवसर है और कुछ सवालिया निशान भी है। यह मानवीय स्वभाव है कि जब आप किसी करीबी व्यक्ति से बहुत दिन बाद मिलते हैं तो पहला वक्य होता है, बहुत दिन बाद मिले। यह पहला वाक्य ही एक प्रकार से स्वीकारोक्ति भी होती है। हालचाल पूछने के साथ यह भी स्वीकार कर लेता है कि बहुत दिन बाद मिले।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “वाकई बहुत दिन बाद मिले! दिन भी कहना ठीक नहीं होगा, सच यह है कि मिलने में कई साल लग गए, 10-20-50 नहीं 70 साल लग गए। भारत की स्वतंत्रता के 70 साल बाद भारत का प्रधानमंत्री आज इजरायल की धरती पर आप सब से आशीर्वाद ले रहा है।”

इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के आतिथ्य सत्कार की सराहना करते हुए मोदी ने कहा, “आज यहां इजरायली प्रधानमंत्री नेतन्याहू, मेरे दोस्त भी उपस्थित हैं। यहां आने के बाद जिस तरह वह मेरे साथ रहे, मुझे जैसा सम्मान दिया है, वह सभी भारतीयों का सम्मान है।”

मोदी ने कहा, “हम दोनों में एक विशेष समानता यह भी है कि हम दोनो ही अपने-अपने देशों की स्वतंत्रता के बाद पैदा हुए हैं। नेतन्याहू की एक रुचि जो दिल को छू जाने वाली है, वह है भारतीय भोजन के प्रति उनका प्यार।”

मोदी ने कहा, “कूटनीतिक संबंधों के सिर्फ 25 साल ही हुए हों, लेकिन सच्चाई यह है कि दोनों देश कई सौ वर्षो से एकदूसरे से जुड़े हुए हैं। महान सूफी संत बाबा फरीद ने सालों तक इजरायल में एक गुफा में रहकर लंबी साधना की। वह जगह आज एक तरह से तीर्थ स्थल में परिवर्तित हो चुका है। यह स्थल दोनों देशों के 800 वर्षो के संबंध का प्रतीक है।”

भारत और इजरायल के बीच प्राचीन संबंधों और सांस्कृतिक समानता के संदर्भ देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “दोनों देशों का यह साथ भरोसे और मित्रता का भी है। हमारे त्योहारों में भी एक अद्भुत समानता है। भारत में होली मनती है तो यहां परिम मनाया जाता है। भारत में दिवाली मनाते हैं तो यहां अनुगा मनाया जाता है।”

उन्होंने कहा, “मुझे यह जानकर बहुत खुशी है कि कल यहूदी ओलम्पिक खेलों का उद्घाटन हो रहा है। मैं इजरायल के लोगों को इस खेल की बधाई देता हूं। भारत ने भी यहूदी ओलम्पिक खेल के लिए अपनी टीम भेजी है और भारतीय खिलाड़ी भी यहां मौजूद हैं। मेरी उन्हें बहुत शुभकामनाएं।”

मोदी ने कहा, “इजरायल की वीर भूमि कई वीर सपूतों तथा उनके बलिदान से सिचित है। मैं इजरायल की शौर्यता को प्रणाम करता हूं। उनका यह शौर्य इजरायल के विकास का आधार रहा है।”

–आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment