breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीति
Trending

राष्ट्रपति कोविंद,PM मोदी, नायडू,शाह, आदि नेताओं ने अरुण जेटली को दी श्रद्धांजलि

President-Kovind-PM-Modi-Naidu-Amit-Shah-Congress-etc-pay-Tribute-to-Arun-Jaitley

नई दिल्ली, 24 अगस्त (समयधारा) : भाजपा के एक और कद्दावर नेता व पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर देश भर में शोक की लहर दोड़ गयी l अरुण जेटली को नोटबंदी(CURRENCY BAN) व जीएसटी (GST) के लिए जाना जाएगा l 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर कहा :

श्री अरुण जेटली के लंबी बीमारी से  जूझने के बाद निधन से बेहद दुखी हूँ । एक शानदार वकील, एक अनुभवी सांसद और एक प्रतिष्ठित मंत्री, उन्होंने राष्ट्र निर्माण में बहुत योगदान दिया। श्री अरुण जेटली के पास कविता, जुनून और अध्ययन की समझ के साथ सबसे महत्वपूर्ण जिम्मेदारी का निर्वहन करने की एक अद्वितीय क्षमता थी।

उनका निधन हमारे सार्वजनिक जीवन और हमारे बौद्धिक पारिस्थितिकी तंत्र में एक बहुत बड़ा शून्य है। उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदनाl 

प्रधानमंत्री मोदी ने जेटली के निधन पर कहा : 

अरुण जेटली जी के निधन से, मैंने एक मूल्यवान मित्र खो दिया है, जिसे मुझे दशकों से जानने का सम्मान मिला है। मुद्दों पर उनकी समझ और मामलों की बारीक समझ बहुत कम समानताएं थीं। वह अच्छी तरह से रहता था, हम सभी को असंख्य सुखद यादों के साथ छोड़कर वह चले गएँ। हम उसे याद करेंगे!

President-Kovind-PM-Modi-Naidu-Amit-Shah-Congress-etc-pay-Tribute-to-Arun-Jaitley

भाजपा और अरुण जेटली जी का अटूट बंधन था। एक उग्र छात्र नेता के रूप में, वह आपातकाल के दौरान हमारे लोकतंत्र की रक्षा करने में सबसे आगे थे। वह हमारी पार्टी का एक बहुत पसंद किया जाने वाला चेहरा बन गए, जो पार्टी के कार्यक्रमों और विचारधारा को समाज के एक व्यापक स्पेक्ट्रम तक स्पष्ट कर सकते थे।

अपने लंबे राजनीतिक करियर के दौरान, अरुण जेटली जी ने कई मंत्री पद का दायित्व निभाया, जिसने उन्हें भारत की आर्थिक वृद्धि, हमारी रक्षा क्षमताओं को मजबूत करने, लोगों के अनुकूल कानून बनाने और अन्य देशों के साथ व्यापार बढ़ाने में सक्षम बनाया।

Breaking News: पूर्व वित्तमंत्री,भाजपा नेता अरुण जेटली का एम्स में निधन 

जीवन से भरपूर, बुद्धि से भरपूर, हास्य और करिश्मा की एक महान भावना, अरुण जेटली जी को समाज के सभी वर्गों के लोगों ने सराहा। भारत के संविधान, इतिहास, सार्वजनिक नीति, शासन और प्रशासन के बारे में त्रुटिहीन ज्ञान होने से वह बहुआयामी था।

President-Kovind-PM-Modi-Naidu-Amit-Shah-Congress-etc-pay-Tribute-to-Arun-Jaitley

President-Kovind-PM-Modi-Naidu-Amit-Shah-Congress-etc-pay-Tribute-to-Arun-Jaitley 

उपराष्ट्रपति नायडू ने कहा : 

ईश्वर हम सबको इस विकराल क्षति को सहने की शक्ति दे। प्रिय मित्र को मेरी विनम्र श्रद्धांजलि।

श्री जेटली की ओजस्वी शैली और तार्किक भाषणों ने संसद की गरिमा को समृद्ध किया, संसदीय विमर्श को प्रमाणिकता प्रदान की। अपने संसदीय जीवन में वे श्रद्धेय अटल जी की अनुकरणीय परंपरा के निष्ठावान वाहक रहे। भारत की संसद ने उनके योगदान के लिए उन्हें उत्कृष्ट सांसद का सम्मान दिया।

अरुण जी कुशल प्रशासक रहे। हम दोनों अटल जी के नेतृत्व वाली सरकार तथा बाद में श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व वाली सरकार में निकट सहयोगी रहे।एक नये भारत के लिए सार्थक नीतियों के निर्माण और उन्हें कार्यान्वित करने में उनकी महत्वपूर्ण सकारात्मक भूमिका रहती थी।

जीएसटी, दिवालिया कानून जैसे क्रांतिकारी सुधार के लिए देश श्री जेटली की सकारात्मक योगदान को सदैव स्मरण करेगा। राज्य सभा के नेता के रूप में श्री जेटली जी योगदान, मेरे और सदन के लिए अभिनंदनीय था। उनके तार्किक भाषणों को सदन सदैव याद करेगा।

अमित शाह ने उनके निधन पर कहा 

काले धन पर कार्यवाही की बात हो, एक देश-एक कर ‘जीएसटी’ के स्वप्न को साकार करने की बात हो, विमुद्रीकरण की बात हो या आम आदमी को राहत पहुंचाने की बात, उनके हर निर्णय में देश और देश की जनता का कल्याण निहित था। देश उन्हें उनके अत्यंत सरल एवं संवेदनशील व्यक्तित्व के लिए सदैव याद रखेगा।

मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि वह दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे और शोक संतृप्त परिवार को यह वियोग सहन करने की शक्ति दे।

मोदी सरकार के 2014-19 के कार्यकाल के दौरान देश के वित्त मंत्री के रूप में उन्होंने अपनी अमिट छाप छोड़ी और मोदी जी की गरीब कल्याण की परिकल्पनाओं को जमीन पर उतारा और हिन्दुस्तान को विश्व की सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था के रूप में प्रतिष्ठित किया।

महाराष्ट के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस ने ट्वीट किया l

हमारे महान नेता अरुण जेटली जी के बारे में जानकर  गहरा दुख हुआ। यह अधिक दर्दनाक है क्योंकि हमने कुछ ही दिनों में सुषमा स्वराज जी के बाद एक और महान नेता को खो दिया।

सभी विपक्षी पार्टियों कांग्रेस-बसपा-सपा आदि ने अरुण जेटली के निधन पर गहरा शोक जताया l

President-Kovind-PM-Modi-Naidu-Amit-Shah-Congress-etc-pay-Tribute-to-Arun-Jaitley

 

 

Tags

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन एक स्वतंत्र लेखक है और साथ ही समयधारा के को-फाउंडर व सीईओ है। लेखन के प्रति गहन रुचि ने धर्मेश जैन को बिजनेस के साथ-साथ लेख लिखने की ओर प्रोत्साहित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: