breaking_newsदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीति
Trending

मोदी का ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान के जरिये विभिन्न क्षेत्रों के प्रसिद्ध लोगों से सवांद

किसने सोचा होगा कि पिछले चार वर्षो में हम स्वच्छता के कवरेज में उतनी प्रगति कर लेंगे

नई दिल्ली, 15 सितंबर : 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को विभिन्न क्षेत्रों के प्रसिद्ध लोगों

और आम लोगों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संवाद कर ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान लांच किया

और कहा कि देश ने गत 60-65 वर्षो की तुलना में बीते चार वर्षो में ज्यादा स्वच्छता कवरेज हासिल किया है।

प्रधानमंत्री ने दो घंटे के संवाद में अजमेर शरीफ दरगाह और पटना साहिब गुरुद्वारा के श्रद्धालुओं के अलावा उद्योगपति रतन टाटा,

अभिनेता अमिताभ बच्चन, उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, धार्मिक गुरु सदगुरु जग्गी वासुदेव,

मां अमृतानंदमयी, श्री श्री रवि शंकर और दादी जानकी से बातचीत की।

मोदी ने अपने वीडियो संवाद के दौरान बाबासाहेब अंबेडकर उच्च माध्यमिक विद्यालय दिल्ली में ‘श्रमदान’ किया।

एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, प्रधानमंत्री स्कूल गए और साधारण यातायात में बिना किसी परंपरागत प्रोटोकॉल में वापस आए।

उनके दौरे के लिए कोई विशेष यातायात व्यवस्था नहीं की गई थी।

स्वच्छता ही सेवा अभियान का उद्देश्य स्वच्छ भारत अभियान में सार्वजनिक भागीदारी बढ़ाना है।

यह अभियान 2 अक्टूबर को स्वच्छ भारत मिशन के चार वर्ष पूरे होने

और महात्मा गांधी की 150वीं जयंती अवसर पर आयोजित किया जा रहा है।

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान मोदी ने कहा कि 2014 में स्वच्छता कवरेज 40 प्रतिशत था

और यह लोगों के प्रयास से बढ़कर अब 90 प्रतिशत हो गया है।

उन्होंने कहा, “किसने सोचा होगा कि पिछले चार वर्षो में हम स्वच्छता के कवरेज में उतनी प्रगति कर लेंगे

जितनी उससे पहले बीते 60-65 साल में भी नहीं कर पाए।

क्या कोई ये सोच सकता था कि भारत में चार वर्षो में करीब 9 करोड़ शौचालयों का निर्माण होगा।

क्या किसी ने ये कल्पना की थी कि चार वर्ष में लगभग साढ़े चार लाख गांव खुले में शौच से मुक्त हो जाएंगे।

क्या किसी ने कल्पना की थी कि चार वर्षो में 450 से ज्यादा जिले, 20 राज्य और केंद्रशासित प्रदेश खुले में शौच से मुक्त हो जाएंगे।”

उन्होंने कहा, “आज 1.25 करोड़ नागरिक ‘स्वच्छता ही सेवा है’ प्रतिबद्धता दोहराने वाले हैं।

आज से 2 अक्टूबर तक, हम देश को स्वच्छ बनाने के लिए नई ऊर्जा और उत्साह के साथ योगदान करेंगे।”

मोदी ने कहा, “हम यह गर्व से कह सकते हैं कि सभी धड़ों, समुदाय, जाति व विभिन्न आयु वर्गो के लोग

इस अभियान को आगे लेकर जा रहे हैं। देश का हर एक कोना चाहे वह गांव हो, शहर हो,

गली हो कोई भी कोना इस अभियान से अछूता नहीं है।”

उन्होंने कहा कि जब भी इस अभियान का इतिहास में वर्णन किया जाएगा,

‘स्वच्छाग्रहियों’ का नाम सुनहरे अक्षर में लिखा जाएगा।

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर असम में डिब्रूगढ़ के स्कूली बच्चों, मेहसाना के दुग्ध व कृषि सहकारी समिति के सदस्यों,

लद्दाख के काफी ऊंचाई पर तैनात आईटीबीपी के जवानों, छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा और तमिलनाडु के सलेम के महिला स्वेच्छाग्राहियों,

उत्तरप्रदेश के फतेहपुर और मध्यप्रदेश के राजगढ़, उत्तरप्रदेश के बिजनौर में

गंगा की सफाई में लगे कार्यकर्ता और हरियाणा के रेवाड़ी के रेलकर्मियों से संवाद किया।

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फतेहपुर से वीडियो संवाद के दौरान कहा कि

राज्य 2 अक्टूबर, 2019 तक खुले में शौच से मुक्त हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने बीते 17 महीनों में 1.36 करोड़ से ज्यादा शौचालय बनाए हैं।

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: