Trending

राफेल डॉक्यूमेंट लीक केस: मोदी सरकार ने SC में हलफनामा देकर कहा-संवेदनशील दस्तावेजों की फोटो कॉपी की गई

वैसे, बाद में अटॉर्नी जनरल ने अपनी बात से यूटर्न लेते हुए कहा कि राफेल डील के दस्तावेज चोरी नहीं किए गए

नई दिल्ली, 13 मार्च: Rafale deal document leak case- राफेल सौदे (Rafale deal) को लेकर केंद्र सरकार ने आखिरकार सुप्रीम कोर्ट में अपना हलफनामा दाखिल कर दिया है कि याचिकाकर्ताओं ने संवदेनशील दस्तावेजों की फोटोकॉपी का इस्तेमाल किया है।

सरकार की ओर से इस हलफनामे में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई पुनर्विचार याचिका के दस्तावेज काफी संवेदनशील है और राफेल लड़ाकू विमान से रिलेटेड है। बकौल सरकार, विरोधियों के पास इन लड़ाकू विमानों की उपलब्धता के कारण राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है।

यह भी पढ़े: Rafale deal: लोकसभा बहस के बाद राफेल पर JPC जांच की मांग को सरकार ने ठुकराया

सरकार ने आगे कहा है कि अनाधिकृत रूप से इन राफेल डॉक्यूमेंट्स (Rafale deal document) की फोटो कॉपिज तैयार करने से देश की सुरक्षा, सार्वभौमिकता और अन्य देशों के साथ मैत्रीपूर्ण संबंधों पर विपरीत असर पड़ रहा है।

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि राफेल की पुनर्विचार याचिका दाखिल करने वाले यशवंत सिन्हा,अरूण शौरी और प्रशांत भूषण संवेदनशील जानकारी लीक करने के दोषी है।

केंद्र सरकार ने अपने हलफनामे में आगे कहा कि ये याचिकाकर्ता राष्ट्रीय सुरक्षा के विषय में आंतरिक मंत्रणा के बारे में आधी-अधूरी तस्वीर पेश करने हेतु अनाधिकृत तौर से प्राप्त डॉक्यूमेंट्स को अपने हिसाब से पेश कर रहे है।

केंद्र सरकार ने अपने हलफनामे में बोला कि इन लोगों ने जिन डॉक्यूमेंट्स को आधार बनाया है। वे एक खास कैटेगिरी के है। जिनके लिए साक्ष्य कानून के अंतर्गत विशेषाधिकार का दावा किया जा सकता है।

यह भी पढ़े: Rafale Deal को लेकर सारी याचिका खारिज, सुप्रीम कोर्ट ने BJP को दी बढ़ी राहत

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल की इस टिप्पणी ने राजनीतिक भूकंप ला दिया था जिसमें कहा गया था कि राफेल विमान सौदे के सीक्रेट डॉक्यूमेंट्स चोरी हो गए है।

वैसे, बाद में अटॉर्नी जनरल ने अपनी बात से यूटर्न लेते हुए कहा कि राफेल डील के दस्तावेज चोरी नहीं किए गए बल्कि सुप्रीम कोर्ट में उनके कहने का मतलब ये था कि याचिकाकर्ताओं ने राफेल डील के सीक्रेट ओरिजनल डॉक्यमेंट्स की फोटो कॉपी का प्रयोग किया है।

यह भी पढ़े: राफेल के अति महत्वपूर्ण दस्तावेज रक्षा मंत्रालय से चोरी हो गए: केंद्र सरकार

 

Tags

Reena Arya

रीना आर्य एक ज्वलंत और साहसी पत्रकार व लेखिका है। वे समयधारा.कॉम की एडिटर-इन-चीफ और फाउंडर भी है। लेखन के प्रति अपने जुनून की बदौलत रीना आर्य ने न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपने काम के बल पर अपनी पहचान बनाई बल्कि अपनी काबलियत को प्रूव करते हुए पत्रकारिता के पांच से छह साल के सफर में ही अपने बल खुद एक नए ब्रैंड www.samaydhara.com की नींव रखी।रीना आर्य हर मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखने पर विश्वास करती है और अपने लेखन को लगभग हर विधा में आजमा चुकी है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close