breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराज्यों की खबरेंलोकसभा चुनाव 2019

पुत्र प्रेम में धृतराष्ट्र बने कांग्रेसी हार की बड़ी वजह बताई राहुल ने

नई दिल्ली, 26 मई (समयधारा) : पुत्र प्रेम में धृतराष्ट्र बने कांग्रेसी हार की बड़ी वजह बताई राहुल गांधी ने l 

कल कांग्रेस की वर्किंग कमिटी की बैठक 3 घंटे चली l इसमें राहुल गांधी ने अपने इस्तीफे की पेशकश की l

पर कांग्रेस कार्यसमिति ने इसे ठुकरा दिया l पर राहुल इस्तीफे पर अड़े हुए है l

सूत्रों की माने तो कांग्रेस कार्यसमिति में राहुल काफी गुस्से में दिखें l उन्होंने खुलकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पर

अपना गुस्सा जाहिर किया उनका कहना था कि पुत्र प्रेम में वरिष्ठ नेता अंधे हो गए थे l हार का ठीकरा राहुल ने पुत्र प्रेम पर दिया l 

\वर्किंग कमेटी की बैठक में राहुल गांधी काफी गुस्से में थे। उन्होंने कहा पार्टी के कई बड़े नेता पार्टी से ज्यादा पुत्र मोह में हैं। 

दरअसल ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि अब हमें स्थानीय स्तर पर मजबूत नेताओं की जरूरत है।

इस सवाल के जबाव में राहुल गांधी कई बड़े नेताओं को आड़े हाथों लिया। राहुल ने कहा कि पार्टी के बड़े नेता पुत्र मोह में अधिक हैं।

कमलनाथ, पी चिदंबरम, अशोक गहलोत का नाम लेते हुए कहा कि इन लोगों ने अपने बेटों को टिकट देने के लिए ज्यादा जोर लगाया।

हालांकि वो टिकट देने के मूड में नहीं थे। उन्होंने खुलकर बड़े नेताओं पर उँगलियाँ उठाई l

उन्होंने ये भी कहा कि, चुनाव अभियान के दौरान बीजेपी और नरेंद्र मोदी के खिलाफ राय बनाने के लिए उठाए गए

मुद्दों को नेता आगे नहीं ले गए।सूत्रों के मुताबिक, राहुल गांधी ने पार्टी के बड़े नेताओं पर ढील बरतने का का भी आरोप लगाया।

राहुल ने खासतौर से राफेल डील और उसके लिए बनाए गए नारे चौकीदार चोर का जिक्र किया। राहुल ने कहा संगठन की जवाबदेही चाहते हैं।

 राहुल ने खुद को हार का जिम्मेदार मानते हुए कहा कि वह पार्टी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे रहे हैं।

इस पर सीनियर नेताओं ने उनका होसला बढाया l उन्हें कहा कि आपने आगे बढ़कर जिम्मेदारीयां निभाई l

आप इस्तीफा न दे और जैसे चाहे संगठन को चलायें l राहुल ने कहा में अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना चाहता हूँ l

इस पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने सोनिया गांधी को हस्तक्षेप करने को कहा पर सूत्रों की माने तो उन्होंने इसके लिए भी मना कर दिया l  

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: