Trending

मोदी की आयुष्मान योजना केवल चुनिंदा कारोबारियों की मुठ्ठी में: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि शिक्षा एवं स्वास्थ्यसेवा में ‘नाटकीय असफलता' का मुख्य कारण विकास को लेकर भाजपा एवं आरएसएस के सोचने के तरीके में अंतर है

नई दिल्‍ली,15 मार्च : Rahul Gandhi on Ayushman Bharat scheme- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार की आयुष्मान भारत योजना पर सवाल उठाएं है। राहुल गांधी ने कहा कि आप बीमा दे रहे हो लेकिन आपके पास हॉस्पिटल्स का, मेडिकल वर्कर्स का जो ढांचा है वो उसका सपोर्ट ही नहीं कर सकता।

अस्पतालों में जब आपने वो सुविधाएं और इतने बड़े स्तर पर स्वास्थ्य लाभ हेतु संरचनात्मक ढांचा ही तैयार नहीं किया जो इस योजना का लाभ व्यक्ति लेगा कैसे? यदि आपने बीमा दे भी दिया तो व्यक्ति कौन से अस्पताल में जाकर ट्रीटमेंट करवाएगा।

इसलिए मुझे लगता है कि व्यवस्थित तरीके से पूरा का पूरा नेटवर्क प्रत्येक राज्य में बनाना पड़ेगा। बकौल गांधी, “मैं आयुष्मान भारत योजना की आलोचना मुख्य रूप से इसलिए करता हूं चूंकि यह हॉस्पिटल और मेडिकल प्रोफेशनल्स की उचित समर्थन संरचना के बिना बीमा मुहैया करवाती है। कोई भी बीमा प्रणाली स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराने की क्षमता के बिना काम नहीं कर सकती”

दोबारा गरीब होने का सबसे बड़ा कारण स्वास्थ्य सेवा है। राहुल गांधी ने कहा कि “सभी जानते है कि स्वास्थ्य सेवा आधार है। हमें इस बात को सुनिश्चित करना होगा कि यह आधार मजबूत हो।

राहुल गांधी ने आगे कहा कि वे “आयुष्मान भारत योजना को एक सीमित योजना के तौर पर देखते है जिसमें सीमित स्वास्थ्यसेवा मामलों को टारगेट किया गया है। सीधे शब्दों में कहूं तो यह भारत के चुनिंदा कारोबारियों के हाथ में है। हम इस तरह की योजना को नहीं लाएंगे।

राहुल गांधी ने कहा, ‘‘स्वास्थ्य सेवा एवं शिक्षा में सार्वजनिक क्षेत्र के व्यय की आवश्यकता है।

निस्संदेह निजी संस्थाओं, बड़े कारोबारों और बीमा की भी इसमें भूमिका है, लेकिन इसमें मुख्य भूमिका सरकार और सार्वजनिक क्षेत्र की ही होनी चाहिए।”

उन्होंने कहा कि वह शिक्षा में जीडीपी का पांच से छह प्रतिशत व्यय करने को लेकर प्रतिबद्ध हैं।

राहुल गांधी ने कहा कि शिक्षा एवं स्वास्थ्यसेवा में नाटकीय असफलताका मुख्य कारण विकास को लेकर भाजपा एवं आरएसएस के सोचने के तरीके में अंतर है।

राहुल गांधी के इस बयान पर बीजेपी की ओर से तीखी प्रतिक्रिया आई है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जेपी नड्डा ने सिलसिलेवार ढंग ट्वीट कर राहुल गांधी पर निशाना साधा।

उन्‍होंने कहा राहुल गांधी का आयुष्‍मान भारत पर बयान उनके अल्प ज्ञान का प्रतीक है। उनको अश्‍योरेंस और इंश्‍योरेंस का फर्क समझ नहीं आता है। अच्छे काम की प्रशंसा करने की ना तो राहुल गांधी की नीयत है, ना सोच है, ना ताक़त है। ये नकारात्मकता के प्रतीक बन चुके हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close