होम > देश > राजनीति > मध्यप्रदेश में महा मुकाबला-बीजेपी की प्रज्ञा देगी दिग्विजय को टक्कर
breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराज्यों की खबरें
Trending

मध्यप्रदेश में महा मुकाबला-बीजेपी की प्रज्ञा देगी दिग्विजय को टक्कर

दिग्विजय : ठाकुर यह सीट मुझे दे-दे ठाकुर, ठाकुर-मैं चुन-चुनकर बदला लूंगी

sadhvi-pragya-thakur-will-contest-from-bhopal-against-Digvijay singh

भोपाल/मध्य प्रदेश, 17 अप्रैल  (समयधारा) :  आज  सुबह साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने बीजेपी का दामन थाम लिया l

वही शाम होते-होते बीजेपी ने उन्हें भोपाल से दिग्विजय सिंह के सामने टिकट दे दिया l 

अब साध्वी प्रज्ञा सिंह के सामने दिग्विजय सिंह का महा मुकाबला देखने के लियें देश की जनता तैयार हो जाए l

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से जब पत्रकारों ने यह सवाल किया कि क्या आप दिग्विजय सिंह के सामने

आप के साथ जो पिछले 9 सालों में जो हुआ है उन मुद्दों को उठाएंगी तो उनका जवाब हाँ था l 

आगे उन्होंने कहा कि जरा रुकियें मैं सबका जवाब दूंगी l  मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ से

जब मीडिया ने साध्वी प्रज्ञा की बीजेपी में एंट्री पर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा था साध्वी का बीजेपी में शामिल होना पार्टी की मनोदशा को दिखाता है।

गौरतलब है कि

साध्वी प्रज्ञा और दिग्विजय सिंह को एक दूसरे का धुर विरोधी माना जाता है।

दिग्विजय सिंह कांग्रेस के उन चुनिंदा नेताओं में से एक हैं,

जिन्होंने यूपीए सरकार के दौर में ‘भगवा आतंकवाद’ के मुद्दे को जोर-शोर से उठाया।

शायद यही वजह है कि साध्वी प्रज्ञा चुनावी बिसात पर दिग्विजय सिंह को चुनौती देना चाहती हैं।

साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर मालेगांव ब्‍लास्‍ट की आरोपी हैं। 

साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर और दिग्विजय का मुकाबला बहुत ही  दिलचस्‍प होने वाला है,

क्‍योंकि दिग्विजय सिंह 16 साल बाद चुनाव लड़ने जा रहे हैं। उन्होंने 2003 के बाद किसी भी चुनाव में सिरकत नहीं की l

1993 से 2003 तक लगातार 10 सालों तक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहने वाले  दिग्विजय सिंह को 

अबकी बार मध्यप्रदेश के  मुख्यमंत्री कमलनाथ ने  चुनाव लड़ने को राजी  किया था l 

2003 के बाद  कांग्रेस पार्टी के केंद्र बिंदु में रहे व कांग्रेस मंत्रिमंडल के अहम सदस्य ने 2003 से  अबतक

किसी भी लोकसभा या विधानसभा चुनाव में ताल नहीं ठोकी l

sadhvi-pragya-thakur-will-contest-from-bhopal-against-Digvijay singh

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पहली बार तब चर्चा में आईं, जब 2008 के मालेगांव ब्लास्ट केस में उन्हें गिरफ्तार किया गया।

वह करीब-करीब 9 सालों तक जेल में रहीं और बीजेपी के केंद्र में आते ही उन्हें जमानत मिल गयी। फिलहाल वह जमानत पर बाहर है l  

जमानत पर बाहर आने के बाद उन्होंने कहा था कि उन्हें लगातार 23 दिनों तक यातना दी गई थी।

वही कांग्रेस और बीजेपी के बीच मालेगावं ब्लास्ट को लेकर बहुत राजनीति हुई l

कहाँ जाता है कि यही से हिन्दू आतंकवाद शब्द का इजाद हुआ l

पर कुछ भी हो बीजेपी ने अपनी तरकश से ठाकुर का तीर निकालकर कांग्रेस की नींद उड़ा दी है l 

sadhvi-pragya-thakur-will-contest-from-bhopal-against-Digvijay singh

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error:
Close