मतपेटियों में बंद हो गया देश के प्रथम नागरिक का भविष्य,20 जुलाई को मिलेगा देश को अगला राष्ट्रपति

नई दिल्ली, 17 जुलाई : देश के 14वें राष्ट्रपति के चुनाव के लिए सोमवार को संसद भवन और सभी राज्यों की विधानसभाओं में शाम 5.00 बजे मतदान संपन्न हो गया तथा निर्वाचक मंडल के अधिकांश सदस्यों ने मत डाले। राष्ट्रपति चुनाव के मतदान के लिए कुल 32 मतदान केंद्र स्थापित किए गए थे, जिनमें से एक मतदान केंद्र संसद भवन के कमरा संख्या-62 और शेष प्रत्येक राज्य की विधानसभाओं में बनाए गए थे।

सोमवार की सुबह 10.00 बजे मतदान शुरू हुआ।

राष्ट्रपति चुनाव में 776 सांसदों और 4,120 विधायकों को मत डालने का अधिकार था तथा निर्वाचक मंडल के कुल मतों की कीमत 10,98,903 है।

राज्य विधानसभाओं से मतपेटियां अब दिल्ली लाई जाएंगी, जहां 20 जुलाई को मतों की गणना होगी। 20 जुलाई को ही चुनाव परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के राष्ट्रपति उम्मीदवार बिहार के पूर्व राज्यपाल रामनाथ कोविंद का पलड़ा भारी माना जा रहा है, जिनका मुख्य रूप से कांग्रेस के नेतृत्व में 17 विपक्षी दलों की संयुक्त उम्मीदवार लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष मीरा कुमार से मुकाबला है।

भाजपा उम्मीदवार कोविंद को राजग से अलग भी कई दलों ने समर्थन देने की घोषणा की है और कुल मिलाकर उन्हें 63 फीसदी वोट मिलने की उम्मीद है।

मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 25 जुलाई को समाप्त हो रहा है।

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close