10 दिन 10,000 शौचालय,स्वच्छ, स्वस्थ और समृद्ध छत्तीसगढ़ का निर्माण हम सबका संकल्प : स्मृति ईरानी

रायपुर, 17 सितंबर :  केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने रायपुर में कहा कि राज्य में दस दिनों में दस हजार शौचालयों का निर्माण एक बड़ी उपलब्धि है। रायपुर जिले के ग्राम केंद्री में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर रविवार को आयोजित ‘स्वच्छता ही सेवा’ समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर आई केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘सकल्प से सिद्धि’ के आह्वान पर अभनपुर विकासखंड में विगत दस दिनों में दस हजार परिवारों ने अपने-अपने घरों में शौचालयों का निर्माण किया।”

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री रमन सिंह और ईरानी ने वहां ईंट जोड़कर शौचालय निर्माण की शुरुआत की। ईरानी ने स्मार्ट ग्राम पंचायत भवन, स्मार्ट आंगनबाड़ी और स्मार्ट स्कूल का लोकार्पण किया। 

रमन सिंह ने कहा, “स्वच्छता से स्वास्थ्य बनता है और स्वास्थ्य से समृद्धि आती है। इसलिए स्वच्छ, स्वस्थ और समृद्ध छत्तीसगढ़ का निर्माण हम सबका संकल्प है। छत्तीसगढ़ स्वच्छ और स्वस्थ होगा तो राज्य में आज की तुलना में 10 गुणा ज्यादा विकास होगा।” 

ईरानी ने मोदी के जन्मदिन का उल्लेख किया और अपनी ओर से तथा जनता की ओर से उन्हें बधाई दी। ईरानी ने प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन के तहत छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री रमन सिंह के नेतृत्व में चल रहे कार्यो की प्रशंसा की। ईरानी ने छत्तीसगढ़ में स्वच्छता और शिक्षा के क्षेत्र अभूतपूर्व कार्य हो रहे हैं। इसी कड़ी में उन्होंने दंतेवाड़ा जिले की एजुकेशन सिटी का भी उल्लेख किया।

मंत्री ने कहा , “अभनपुर विकासखंड में दस दिनों के अभियान में दस हजार शौचालय निर्माण एक बड़ी उपलब्धि है। मैंने अपने सार्वजनिक जीवन में पहली बार ऐसी बड़ी उपलब्धि देखी है। उन्होंने इसके लिए ग्रामीणों को बधाई दी। सिंह के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ राज्य पूर्ण स्वच्छता की ओर तेजी से आगे बढ़ रहा है। मुझे पूरा विश्वास है कि यह प्रदेश बहुत जल्द खुले में शौचमुक्त होने की उपलब्धि हासिल कर लेगा। पूरे देश में स्वच्छ भारत मिशन के तहत अब तक दो लाख 36 हजार गांव खुले में शौचमुक्त घोषित हो चुके हैं।” उन्होंने इसका श्रेय देश की जनता को दिया। 

ईरानी ने कहा, “मेरे पास जानकारी है कि छत्तीसगढ़ के कुछ गांवों में कई जागरूक लोग सवेरे चार बजे उठकर ग्राम भ्रमण करते हैं और खुले में शौच करते पाए जाने वाले लोगों को इससे होने वाले नुकसान के बारे में समझाते हैं। प्रधानमंत्री ने लाल किले की प्राचीर से देश के हर सरकारी स्कूल में बेटियों के लिए अलग से शौचालय निर्माण का आह्वान किया था। हमें खुशी है कि अब तक देशभर में बालिकाओं के लिए चार लाख स्कूलों में अलग शौचालय बन चुके हैं। इससे उन स्कूलों में बालिकाओं के दाखिले में 15 से 20 प्रतिशत तक वृद्धि दर्ज की गई है।” 

रमन सिंह ने कहा, “मोदी का स्वच्छ भारत मिशन छत्तीसगढ़ में अब जन आंदोलन बन चुका है। पंच-सरपंचों, ग्रामीणों और समाज के सभी वर्गो के सहयोग से राज्य में अब तक आठ हजार ग्राम पंचायतों और 14 हजार से ज्यादा गांवों को खुले में शौच से मुक्त किया जा चुका है। जनता के उत्साह को देखते हुए मुझे विश्वास है कि 2 अक्टूबर, 2018 से पहले छत्तीसगढ़ को खुले में शौचमुक्त हो जाएगा। “

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close