breaking_newsHome sliderदेशराज्यों की खबरें

1 साल नई मिसाल : एक वानर ने लंका जलाई, मैं ‘वानर(योगी)’ ‘भ्रष्टाचार रूपी लंका’ को जलाकर राख कर दूंगा

लखनऊ, 19 मार्च  उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सोमवार को अपने कार्यकाल का एक वर्ष पूरा होने पर यहां लोकभवन में ‘एक साल नई मिसाल’ कार्यक्रम का आयोजन किया।

इस मौके पर योगी ने कहा कि जिस तरीके से एक बानर ने लंका को जलाकर राख कर दिया था, उसी तरह यह बानर (योगी) भ्रष्टाचार रूपी लंका को जलाकर राख कर देगा।

लोकभवन में आयोजित कार्यक्रम में योगी ने कहा, “प्रदेश में मिट्टी को रायल्टी फ्री कर रहे हैं। प्रदेश में किसान कहीं से भी मिट्टी ले सकता है कोई टैक्स नहीं लिया जाएगा। कोई पुलिसकर्मी उत्पीड़न करेगा तो कार्रवाई करेंगे। भट्टा मालिक अगर ईंट का दाम कम करेंगे तो हम उनके लिए मिट्टी की रायल्टी फ्री करेंगे।”

योगी ने कहा, “हमारी सरकार तीन हजार करोड़ रुपये की मेट्रो परियोजनाओं की शुरुआत करने जा रही है। हमारी सरकार आलू विकास बोर्ड का गठन भी करेगी। हमने अंत्योदय के सपने को साकार करने के लिए एक वर्ष में काम किया।”

योगी के साथ राज्यपाल राम नाईक और प्रदेश सरकार के तमाम मंत्री, विधायक उपस्थित रहे।

उन्होंने कहा, “पार्टी ने विधानसभा चुनाव से पहले एक लोक कल्याण संकल्प-पत्र जारी किया था, जो जनता की आकांक्षाओं का द्योतक था। यूपी की राजनीति भ्रष्टाचार, जातिवाद और परिवारवाद के लिए बदनाम थी, लेकिन हमारी सरकार आने के बाद पहली बार दलित, वंचित कमजोर आदमी भी सरकार के एजेंडे का विषय बन सकता है, यह हमने करके दिखाया।”

कार्यक्रम के दौरान उप्र सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों पर बनी एक फिल्म दिखाई गई। इस दौरान सरकार ने कानून-व्यवस्था और विकास योजनाओं, उपलब्धियों को लेकर भी फिल्मों का विमोचन किया। 

कार्यक्रम में भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने वेब पोर्टल लांच किया, जिस पर कोई भी व्यक्ति अडियो, वीडियो भेज सकता है। सरकार का दावा है कि व्यक्ति की पहचान गुप्त रखी जाएगी। 

मुख्यमंत्री ने कहा, “यूपी जैसे राज्य के लिए काम करना मुश्किल काम था। लोग मानते थे कि हम जनता पर टैक्स लगा कर इसे पूरा करेंगे, लेकिन हमने अपने खर्च में कटौती कर ये काम पूरा किया।”

इस दौरान उन्होंने बताया, “प्रधानमंत्री आवास योजना यूपी में लागू नही हो पाई थी, जबकि उनके महज एक वर्ष के कार्यकाल में 11 लाख गरीबों को आवास दिया गया है। गरीब परिवारों के लोग बच्चियों की शादी नहीं कर पाते थे, लेकिन हमने 35 हजार रुपये हर परिवार को दिया।” 

उन्होंने बताया, “स्वच्छ भारत अभियान में यूपी पीछे था, क्योंकि यूपी की तत्कालीन सरकार रुचि नही लेती थी। लेकिन हमारी सरकार में एक वर्ष में 3,7़26 लाख शौचालय, शहरी क्षेत्रों में 4़50 लाख शौचालय दिए।”

योगी ने कहा, “यूपी में नकल विहीन परीक्षा की कल्पना नहीं की जा सकती थी, हमने यह करके दिखाया है। नकल कराने के करोड़ों के ठेके होते थे। हमने बेहतरीन तरीके से नकल पर रोक लागू किया, जिसका परिणाम रहा कि 12 लाख परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ी।”

उन्होंने कहा, “हमने शिक्षा के क्षेत्र में बदलाव किया। प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा में बदलाव किया। एक अप्रैल से सीबीएसई पैटर्न पर पाठ्यक्रम ला रहे हैं। कुछ लोगों ने बच्चों को होमगार्ड से बदतर ड्रेस दे दी थी, इसमें हमने बदलाव किया। हमने गरीब बच्चों को स्वेटर, जूता-मोजा, ड्रेस देने का काम किया।” 

योगी ने कहा, “हम सड़कों का जाल बिछा रहे हैं। चार लेन और दो लेन मार्ग बना रहे हैं। एक लाख किलोमीटर से ज्यादा सड़कों को हमने गड्ढामुक्त किया है। प्रदेश में एक-दो वीवीआईपी जिलों को बिजली मिलती थी, हमने व्यवस्था बदल दी है। आज समूचे यूपी में एकरूपता से रोस्टर व्यवस्था लागू है।”

उन्होंने कहा, “यूपी सरकार 64 विभागों में चार लाख भर्तियां लेकर आ रही है। पुलिस, माध्यमिक, बेसिक शिक्षक, अधिशासी अधिकारी, लेखपाल जैसे पद हैं। हमने पारदर्शी तरीके से इन भर्तियों को करने की व्यवस्था की है।”

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: