‘नक्सलवाद-क्रांति’ ‘विकास-क्रांति’ में अंतर, जनता समझदार है : अमित शाह

रमन सरकार का 15 वर्षो का कार्यकाल लोकतांत्रिक दृष्टिकोण से 'कल्याण राज्य' का श्रेष्ठ उदाहरण

रायपुर, 10 नवंबर :  ‘नक्सलवाद-क्रांति’ ‘विकास-क्रांति’ में अंतर, जनता समझदार है : अमित शाह

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने यहां शनिवार को

‘नवा छत्तीसगढ़ संकल्पपत्र-2018’ पेश करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ की रमन सरकार

और उसके 15 वर्षो का कार्यकाल लोकतांत्रिक दृष्टिकोण से ‘कल्याण राज्य’ का श्रेष्ठ उदाहरण है। 

उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता के समय संविधान निमार्ताओं की परिकल्पना में पिछड़े व गरीब वर्ग के कल्याण की बातें थीं,

जिसे गांधीजी ‘रामराज्य’ कहते थे, उसे छत्तीसगढ़ की रमन सरकार ने आदर्श रूप में साकार किया है। 

शाह ने कहा कि डॉ. रमन ने छत्तीसगढ़ को बदलने का भरसक प्रयास किया है।

उस छत्तीसगढ़ को, जो अविभाजित मध्यप्रदेश के समय बीमारू हिस्सा हुआ करता था,

उसे परिवर्तित किया है, एक विकसित राज्य में।

उन्होंने प्रदेशवासियों को दिवाली व नववर्ष की शुभकामनाएं देते हुए कहा,

“नवा छत्तीसगढ़ की परिकल्पना से प्रस्तुत संकल्पपत्र की एक-एक बात को हम पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।” 

शाह ने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता ने भाजपा को जो बहुमत दिया, उसमें छिपी आकांक्षा को सेवाभावी

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्ववाली सरकार ने सार्थक किया है। इस सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि है नक्सलवाद पर नकेल।

भाजपा प्रमुख ने छत्तीसगढ़ में आए परिवर्तन को गिनाते हुए कहा कि पहले की अव्यवस्था वाले

छत्तीसगढ़ की पहचान आज पावर हब, सीमेंट हब, एल्युमिनियम हब, हेल्थ हब और एजुकेशन हब की हो चली है,

जो शीघ्र ही डिजिटल हब की होने जा रही है। देश के विकास के क्रम में छत्तीसगढ़ को

विगत चार वर्षो का मणिकंचन योग प्राप्त हुआ, जब केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में गरीब

हितैषी भाजपा सरकार और राज्य में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व की सरकार ने विकास की परिकल्पनाओं को साकार किया।

शाह ने संकल्पपत्र के बिंदुओं को साकार करने की प्रतिबद्धता के साथ ‘दो इंजन वाले विकास रथ’

और इस योग को निरंतर बनाए रखने की अपील की।

उन्होंने कहा कि इस राज्य ने अंत्योदय की परिकल्पना को साकार किया है।

अंत्योदय को प्राथमिकता देने वाले डॉ. रमन की सरकार ने एक रुपये किलो चावल, नि:शुल्क नमक, नि:शुल्क चरणपादुका,

नि:शुल्क साइकिल वितरण के साथ कृषि उत्पादन वृद्धि और कृषि लागत में कमी जैसे अनोखे कार्यो को अंजाम दिया है।

उन्होंने यहां उपज की खरीदी के लिए वैज्ञानिक व्यवस्था की प्रशंसा करते हुए कृषि सेवा के सरकारीकरण व

आईटी के उपयोग से लीकेज पर रोक लगाने के लिए रमन सरकार की सराहना करते हुए कहा,

“डॉ. रमन ने कांग्रेस के भ्रामक प्रचार से लड़ते हुए जनकल्याण की चुनौती को स्वीकार कर

10 वर्षो तक विपरीत परिस्थितियों में भी विकास की निरंतरता बनाए रखी।” 

शाह ने कहा कि छत्तीसगढ़ की भूमि से वनधन, जनधन एवं गोवर्धन योजना शुरू करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने

चौदहवें वित्त आयोग में इस राज्य को प्राप्त होने वाला पैकेज 48000 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 137000 करोड़ रुपये कर दिया।

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में बिजली उत्पादन, फसल उत्पादन, कृषि ऋण, शिक्षाऋण सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय वृद्धि के

साथ वनावसी आदिवासी भाइयों को 7 लाख एकड़ भूमि देने जैसे पुनीत कार्य करने वाले

राज्य का एक मात्र उदाहरण प्रदेश की डॉ. रमन सिंह ने नेतृत्व में भाजपा की सरकार है।

भाजपा अध्यक्ष ने केंद्र और राज्य के विकास कार्यो का जिक्र करते हुए संकल्पपत्र के माध्यम से

छत्तीसगढ़ के विकास की निरंतरता को बनाए रखने की अपील करने के साथ ही कहा, “जनता समझदार है,

नक्सलवाद को ‘क्रांति’ कहने वाले और विकास की क्रांति करने वालों में अंतर को बखूबी समझती है।

यही हमारे जीत का कारक बनेगी।”

आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close