ओआईसी के पास भारत के आंतरिक मामलों में बोलने का कोई अधिकार नहीं है : भारत

नई दिल्ली, 26 जुलाई : भारत ने ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (ओआईसी) द्वारा जम्मू एवं कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव को लागू करने की मांग को मंगलवार को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि ओआईसी के पास भारत के आंतरिक मामलों में बोलने का कोई अधिकार नहीं है। भारत ने एक बयान जारी कर कहा, “भारत को यह बेहद अफसोस से कहना पड़ रहा है कि ओआईसी ने 10-11 जुलाई को आइवरी कोस्ट के आबिदजान में हुई विदेश मंत्रियों के परिषद की 44वीं बैठक में फिर से उस प्रस्ताव को अंगीकार किया, जिसमें भारतीय प्रांत जम्मू एवं कश्मीर सहित भारत के आंतरिक मामलों के संदर्भ में तथ्यात्मक रूप से गलत और भ्रमित करने वाली बाते हैं, और जो भारत का अभिन्न अंग है।”

भारत सरकार ने अपने बयान में कहा है, “भारत इन सभी संदर्भो को सिरे से खारिज करता है।”

बयान में आगे कहा गया है, “ओआईसी के पास भारत के आंतरिक मामलों में बोलने का कोई अधिकार नहीं है। हम ओआईसी को सख्ती से सलाह देना चाहेंगे कि भविष्य में वह इस तरह का बयान देने से बचे।”

ओआईसी की विदेश मंत्रियों की परिषद ने संयुक्त राष्ट्र और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से कश्मीर में ‘चल रहे रक्तपात’ को रोकने के लिए अपनी-अपनी भूमिका निभाने के लिए कहा।

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close