breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराज्यों की खबरें
Trending

कर्नाटक संकट : पेंच अभी भी फंसा – जेडीएस किसी भी त्याग को तैयार

Karnataka Sankat : JDS-Congress ki Nayi Chal

कर्नाटक, 22 जुलाई (समयधारा) : कर्नाटक में संकट जारी है l कर्नाटक के नाटक का खात्मा अभी तक नहीं हुआ है l

इस बीच कांग्रेस के शिव कुमार ने आज एक बात कह कर विश्वास मत पर फिर नयी सनसनी फैला दी l

उन्होंने कहा की जेडीएस किसी भी त्याग के लिए तैयार है l वह मुख्यमंत्री पद के लिए कांग्रेस को भी समर्थन देने को तैयार है l

माना जा रहा है की जेडीएस और कांग्रेस इस बहाने बागियों को मनाने की कोशिश कर रही है और इस उनका आखरी दांव भी कहा जा रहा है l

पर बागी किसी भी सुरत में मानने को तैयार नहीं है l उधर आज कर्नाटक में फ्लोर टेस्ट होने की संभावना है l

पर अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता l गौरतलब है कि, शुक्रवार को व पिछले कई दिनों से कर्नाटक में राजनतिक संकट जारी है l

वही विश्वासमत में बहस के बाद ही फ्लोर टेस्ट करने की बात स्पीकर ने कही थी l

इसलिए शुक्रवार को भी स्पीकर ने विधानसभा में फ्लोर टेस्ट नहीं करवाया l आज जब फ्लोर टेस्ट होने की पूरी संभावना है l 

इससे पहले, शुक्रवार को क्या हुआ 

मुख्यमंत्री कुमारस्वामी विश्वासमत में अभी तक बहुमत परिक्षण के लिए नहीं कर पाए थे l  

तो दूसरी तरफ स्पीकर भी शक्ति परिक्षण कराने के पक्ष में अभी तक नहीं दिख रहे है l

पहले 3 बजे तक फिर सोमवार तक उन्होंने विधानसभा को स्थगित कर दिया था l 

इस बीच स्पीकर ने विधानसभा को 3 बजे तक स्थगित कर दिया l अब जिस तरह से आसार दिख रहे है, 

कुमारस्वामी की सरकार सोमवार से पहले शक्ति परिक्षण कराने के मूड में नहीं दीख रही है l  

कर्नाटक की सरकार ने गवर्नर के आदेश के तहत डेढ़ बजे तक बहुमत हासिल नहीं किया।

Karnataka Sankat : JDS-Congress ki Nayi Chal

हालांकि बीजेपी इसके खिलाफ कुछ नहीं कर सकती है। दरअसल, इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का एक आदेश महत्वपूर्ण है।

कांग्रेस-JDS सरकार को लगता है कि गवर्नर का यह आदेश स्पष्ट तौर से 2016 में अरुणाचल प्रदेश की

नबाम टुकी सरकार के मामले में सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच के दिए आदेश का उल्लंघन है। 

कर्नाटक में राजनीतिक संकट जारी है l

आज कर्नाटक स्पीकर ने कहा कि मुझपर ऊँगली उठाने वाले पहले अपने आप को देखें (11.27am)

Karnataka Assembly adjourned for the dayकर्नाटक का नया नाटकविधानसभा कल सुबह 11 बजे तक स्थगित

विपक्ष के हमलों के बीच आज मुख्यमंत्री कुमारस्वामी सरकार को विश्वासमत हासिल करना होगा l 

कल राज्यपाल ने मुख्यमंत्री कुमारस्वामी को दोपहर डेढ़ बजे से पहले सदन में विश्वासमत हासिल करने को कहा हैl 

इससे पहले, कल स्पीकर ने सदन की कार्रवाई स्थगित कर दी थी l

जिसके विरुद्ध में येदुरप्पा सहित बीजेपी के सभी सांसद सदन में धरने पर बैठ गए l वह रातभर सदन में ही सोये l  

कुमारस्वामी के विश्वासमत पर तीखी बहस के दौरान स्पीकर ने विधानसभा की कार्रवाई को आज तक के लिए स्थगित कर दिया था l 

इस बीज विपक्ष के नेता येदुरप्पा ने कहा की बीजेपी के सभी विधायक सदन में ही सोयेंगे l

Karnataka Sankat : JDS-Congress ki Nayi Chal

इस बीच कांग्रेस ने अपने MLA को श्रीमंत पाटिल के किडनैप होने की शिकायत पुलिस कमिश्नर से की l 

कांग्रेस-जेडीएस के गठबंधन वाली सरकार का भविष्य क्या होगा, इसका फैसला आज रात तक हो सकता है।

कर्नाटक के राज्यपाल वाजूभाई वाला ने स्पीकर रमेश कुमार को लिखा है कि आज (गुरुवार) दिन के खत्म होने तक,

कुमारस्वामी सरकार को लेकर विश्वास मत की प्रक्रिया पूरी कर ली जाए।

गुरुवार को विधानसभा में सीएम कुमारस्वामी ने विश्वास प्रस्ताव पेश किया।

इस बीच सदन में बागी विधायकों समेत 19 एमएलए गैरहाजिर रहे, जिसको लेकर तमाम तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। 

 इससे पहले, आज कर्नाटक विधानसभा में विश्वास मत पर बहस चली l

जिसमे स्पीकर ने कहा यह सदन सर्वोच्च न्यायालय को सर्वोच्च सम्मान में रखता है।

मुझे कांग्रेस विधायक दल के नेता को स्पष्ट कर देना चाहिए कि यह कार्यालय आपके किसी भी अधिकारी को,

कुछ भी करने से नहीं रोक रहा है। मेरी इसमें कोई भूमिका नहीं है।

यदि आप इसे संशोधित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट के समक्ष उत्तरदाताओं में से एक के रूप में खुद को निहित करने का इरादा रखते हैं l 

तो आप ऐसा करने के लिए स्वतंत्र हैं।जब कोई सदस्य नहीं आना चुनता है,

तो हमारे परिचारक उन्हें उपस्थिति के रजिस्टर पर हस्ताक्षर करने की अनुमति नहीं देंगे।

Karnataka Sankat : JDS-Congress ki Nayi Chal

Tags

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन एक स्वतंत्र लेखक है और साथ ही समयधारा के को-फाउंडर व सीईओ है। लेखन के प्रति गहन रुचि ने धर्मेश जैन को बिजनेस के साथ-साथ लेख लिखने की ओर प्रोत्साहित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: